लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Ford Average: फोर्ड की कार से नहीं मिला 32 किलोमीटर प्रति लीटर का एवरेज, अब कंपनी देगी लाखों का हर्जाना

ऑटो डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: समीर गोयल Updated Tue, 06 Dec 2022 02:57 PM IST
For Reference Only
1 of 7
विज्ञापन

भारत में जब भी कोई नई कार खरीदता है तो उसके पहले कार के बारे में पूरी जानकारी लेता है। लेकिन अब अमेरिकी वाहन निर्माता फोर्ड की ओर से प्रचार के लिए की गई एक गलती कंपनी पर भारी पड़ रही है। इस गलती के कारण भारत में कारोबार बंद करने के बाद भी फोर्ड कंपनी को एक ग्राहक को तीन लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा। क्या है पूरा मामला आइए जानते हैं।

क्या है मामला

For Reference Only
2 of 7

भारत के केरल में एक महिला ग्राहक ने कंपनी की फिएस्टा क्लासिक सेडान कार पांच नवंबर 2014 को खरीदी थी। कार को खरीदने से पहले ग्राहक कंपनी की ओर से किए गए दावे से प्रभावित थी। कंपनी ने प्रचार के लिए किए गए दावे में बताया था कि फोर्ड की यह कार 32 किलोमीटर प्रति लीटर का एवरेज देती है। लेकिन कंपनी का यही दावा उसपर भारी पड़ गया। केरल की एक महिला ने कंपनी के दावे के खिलाफ कंज्यूमर प्रोटेक्शन एक्ट 1986 के तहत कंज्यूमर कोर्ट में अपील की। जिसके बाद कोर्ट ने कंपनी को तीन लाख रुपये का मुआवजा देने को कहा है।

यह भी पढ़ें -  Faulty Spark Plug: अगर कार में स्पार्क प्लग हो जाए खराब, होने लगते हैं ये चार बदलाव, कभी ना करें नजरअंदाज

विज्ञापन

क्या था दावा

For Reference Only
3 of 7

रिपोर्ट्स के मुताबिक कंपनी ने फिएस्टा कार पर दावा किया था कि यह कार एक लीटर में 32.38 किलोमीटर का एवरेज देती है। किसी सेडान कार में इतनी ज्यादा एवरेज देखकर केरल की एक महिला ने कार को खरीद लिया। लेकिन बाद में उन्हें पता चला कि कार कंपनी के दावे के मुताबिक एवरेज नहीं दे रही।

यह भी पढ़ें -  Budget Cars: इन नौ सस्ती कारों में मिलता है बेहतरीन ग्राउंड क्लियरेंस, जानें इससे क्या होता है फायदा?

कंपनी ने दिया जवाब

For Reference Only
4 of 7

कंपनी की ओर से कोर्ट में जवाब दिया गया। कंपनी ने कहा कि कार का एवरेज ड्राइविंग के तरीके पर निर्भर करता है। इसके अलावा सड़क और ट्रैफिक के साथ कई अन्य परिस्थितियां भी इसके लिए जिम्मेदार होती हैं। इसके अलावा कंपनी ने एक और शिकायत पर जवाब दिया कि टायर बनाने वाली कंपनी ने टायर की जांच की थी जिसके बाद यह पाया गया था कि टायर में खराबी एक मैन्यूफेक्चरिंग डिफेक्ट नहीं है, बल्कि रोड पर कार चलाने के दौरान टायर में खराबी हुई है।

विज्ञापन
विज्ञापन

कितना था एवरेज

For Reference Only
5 of 7
महिला ग्राहक ने कार तो खरीद ली। लेकिन जब उसका उपयोग किया तो कार का एवरेज 32.38 की जगह सिर्फ 16 किलोमीटर का था। जिसके बाद महिला ग्राहक कंज्यूमर कोर्ट गई और यहां पर एक्सपेरिमेंट कमिश्नर ने भी इसका टेस्ट किया। टेस्ट के दौरान कार ने 19.6 किलोमीटर का एवरेज दिया जो कंपनी के दावे से काफी कम था।

यह भी पढ़ें -  Tata Nexon Battery Cost: वारंटी के बाद आपकी इलेक्ट्रिक कार की बैटरी हो जाए खराब, तो जानें कितना होगा खर्च
विज्ञापन
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें ऑटोमोबाइल समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। ऑटोमोबाइल जगत की अन्य खबरें जैसे लेटेस्ट कार न्यूज़, लेटेस्ट बाइक न्यूज़, सभी कार रिव्यू और बाइक रिव्यू आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00