Hindi News ›   Bihar ›   Gaya ›   Bihar Student Protest, Fire in Train in gaya for RRB NTPC Exam scam protest, indian railway

बिहार में छात्रों का बवाल: गया में पैसेंजर ट्रेन में लगाई आग, रेल मंत्री बोले- रेलवे आपकी संपत्ति, इसे क्यों जला रहे हैं?

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, गया Published by: संजीव कुमार झा Updated Wed, 26 Jan 2022 01:51 PM IST

सार

बिहार के गया में रेल भर्ती (RRB-NTPC) में अनियमितताएं को लेकर प्रदर्शनकारी कुछ छात्रों ने ट्रेन के डिब्बों में आग लगा दी।
 
बिहार में छात्रों ने ट्रेन में लगाई आग
बिहार में छात्रों ने ट्रेन में लगाई आग - फोटो : ANI
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

बिहार में रेलवे भर्ती बोर्ड की एनटीपीसी परीक्षा में धांधली के विरोध में छात्र बहुत ज्यादा उग्र हो गए। तीसरे दिन के विरोध प्रदर्शन के दौरान छात्रों ने गया में आज ट्रेन में आग लगा दी। इस घटना पर गया के SSP आदित्य कुमार ने कहा छात्र किसी के बहकावे में न आएं।  सरकारी संपत्ति को नुकसान न पहुंचाएं। रेलवे ने एक कमेटी का गठन किया है जो जांच करेगी। कुछ छात्रों की पहचान हुई है। कार्रवाई जारी है। एसएसपी आदित्य कुमार ने दावा करते हुए कहा कि स्थिति अब नियंत्रण में है।

विज्ञापन




वहीं, छात्रों के बढ़ते प्रदर्शन को देखते हुए रेलवे बोर्ड ने प्रेस कांफ्रेंस की। इसमें केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि हमने छात्रों की मांग की जांच के लिए कमेटी बनाई है। हमने छात्रों को उनकी चिंताएं जाहिर करने के लिए 16 फरवरी यानी तीन हफ्तों का समय दिया है। मुद्दों के हल के लिए सभी कमेटियों को अपने प्रस्ताव देने के लिए 4 मार्च तक का समय दिया है। उससे पहले भी हो सकता है।



रेल मंत्री ने कहा कि शुरू में इसके लिए जो परीक्षा को कंडक्ट करने के लिए एप्लीकेशन आईं, दोनों में एक करोड़ से ज्यादा आवेदन आए। जो हमने एग्जाम के लिए एजेंसी ली, उसे हायर करने के लिए हमें छह महीने लगे। करोड़ो लोगों की परीक्षा कराना बड़ा टास्क है। कोरोना के फेज में देरी हुई, लेकिन परीक्षा की प्रक्रिया चालू रही। 

उन्होंने कहा कि जो दूसरा वाला ग्रुप-डी का एग्जाम है। पांच लाख के करीब आवेदन ऐसे थे, जिनमें फोटो मैच नहीं हो रहे थे। जब फोटो नहीं मैच हो रहे थे, तो एग्जाम कैसे लिए जा सकते थे। जैसे ही इस पर आगे फैसला हुआ, हमने तुरंत एग्जाम लिए। पीएम मोदी सरकार का इंटेंट रोजगार बढ़ाने का है। एक लाख 40 हजार वैकेंसी लाना कोई छोटी बात नहीं है।

उन्होंने कहा कि प्रिलिमनरी एग्जाम इतना बड़ा फेज है कि इसमें कई लोगों की परीक्षा छूट गई। इसलिए हमने उन्हें दोबारा मौका देने का फैसला किया। इसलिए सरकार को एग्जाम कराने और फिर उनके नतीजे जारी करने में समय लग रहा है। हमारी नीति प्रो-स्टूडेंट रही हैं। हम सिर्फ छात्र के हितों के बारे में सोच रहे हैं। आज जो मुद्दा है वो शॉर्टलिस्ट कैंडिडेट कौन हैं? इस मुद्दे को भी हम जल्दी सुलझाएंगे।

छात्रों पर लाठीचार्ज पर बोले- पुलिस तो अपना काम करेगी ही, पर यह संपत्ति आपकी
उन्होंने कहा कि जो लोग अगर अपनी खुद को जलाते हैं, उसे नुकसान पहुंचाने की कोशिश करते हैं, तो उसमें जो पुलिस की प्रक्रिया होती है, वो तो होगी ही। मैं छात्रों से कह रहा हूं कि यह आपकी संपत्ति है तो इसे जलाने की कोशिश क्यों कर रहे हैं। हम हर दिन आपकी सुन रहे हैं। हर एक स्तर पर हमने भर्तियों की संख्या बढ़ाई। करीब 20 गुने तक। जो नोटिस के तहत प्रक्रिया है, हमने सब उसी तरह किया है। मुद्दा यह नहीं, मुद्दा इसलिए उठा है कि जिन लोगों ने तैयारी कर ली है, उन्हें लगता है हमें एक बार फिर मौका मिले।

उन्होंने कहा कि कुछ लोग इसका गलत फायदा उठा रहे हैं कि वे छात्रों को भ्रमित न करें। इस मामले को हमें संवेदनशीलता से संभालना चाहिए। यह देश का मामला है। रेलवे का मामला है। पुलिस का मामला अलग है। हम रेलवे की तरफ से मामला कैसे सुलझेगा, इस पर बात करने के लिए तैयार हैं। कानून को लेकर पुलिस की जो भूमिका होती है, उस पर हम राज्य के मुख्यमंत्रियों से लगातार संपर्क में हैं। मैं अभ्यर्थियों से अपील करुंगा कि आप अपने मुद्दों को फॉर्मल तरीके से रखें, हम उस पर विचार करेंगे।

प्रियंका ने भी की अपील
कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने बुधवार को आरआरबी एनटीपीसी और स्तर 1 परीक्षाओं के उम्मीदवारों पर पुलिस की कार्रवाई की निंदा की। उन्होंने सरकार से बातचीत के माध्यम से उनकी समस्याओं का समाधान खोजने का आग्रह किया। उन्होंने नौकरी के इच्छुक उम्मीदवारों से शांतिपूर्ण तरीके से 'सत्याग्रह' के रास्ते पर चलने की अपील करते हुए कहा कि इसमें बहुत शक्ति है।

कल भी किया था उग्र प्रदर्शन
मंगलवार को भी छात्रों ने दिल्ली-हावड़ा मेन लाइन पर बक्सर और बिहार शरीफ में छात्रों के हुजूम ने रेलवे ट्रैक जाम कर हंगामा किया तो मुजफ्फरपुर में गोंदिया एक्सप्रेस को रोक दिया। इसके बाद पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागने के साथ लाठीचार्ज कर उन्हें खदेड़ दिया।

मंगलवार सुबह छात्रों ने बक्सर रेलवे स्टेशन पर ट्रैक जाम कर केंद्र के खिलाफ नारेबाजी की। इससे पटना-वाराणसी रेल खंड पर ट्रेनों की आवाजाही ठप हो गई। दो ट्रेनें स्टेशन पर खड़ी रहीं। इटाढ़ी गुमटी पर भी एक ट्रेन खड़ी थी। बिहार शरीफ स्टेशन पर छात्रों का हुजूम ट्रैक पर खड़ा हो गया। इससे दिल्ली जाने वाली श्रमजीवी एक्सप्रेस डेढ़ घंटे तक आउटर सिग्नल पर खड़ी रही।

पुलिस ने किया लाठीचार्ज, आंसू गैस के गोले दागे
दिल्ली-हावड़ा मेन लाइन पर सफर कर रहे यात्रियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। ट्रैक पर जगह-जगह ट्रेनें खड़ी हो गईं। कई ट्रेनों का रूट बदला गया तो कई का परिचालन घंटों बाद हुआ। बिहार और रेलवे पुलिस ने छात्रों को समझाने की कोशिश की, लेकिन नाकाम रही। इसके बाद हंगामा कर रहे छात्रों पर पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे और लाठियां भांजीं।
 
आरा में आक्रोशित छात्रों ने ट्रेन को लगा दी आग
मंगलवार को उग्र छात्रों ने आरा में एक पैसेंजर ट्रेन को आग लगा दी और पुलिस पर पथराव किया। एक अधिकारी ने बताया कि वीडियो रिकॉर्ड किए गए हैं और आरोपी प्रदर्शनकारियों को जांच के बाद गिरफ्तार किया जाएगा।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00