विज्ञापन
विज्ञापन
गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें
Myjyotish

गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

बिहार: शिक्षक बहाली पर शिक्षा मंत्री के ट्वीट से बढ़ा विवाद, विपक्ष के तेवर के बाद हटा गया ट्वीट

बिहार के शिक्षा मंत्री के एक ट्वीट पर राजनीति तेज हो गई है। उनके ट्वीट पर विपक्ष ने ऐतराज जताते हुए कहा है कि यह विधानसभा उपचुनाव को प्रभावित करने की कोशिश है। विपक्षी नेताओं ने शिक्षा मंत्री को भी उन्हीं की भाषा में तीखे सवाल पूछे हैं। ट्रोलिंग के बाद आखिरकार शिक्षा मंत्री को अपना ट्वीट डिलीट करना पड़ा।

हुआ यूं कि शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने ट्वीट कर कहा था कि 'राज्य निर्वाचन आयोग से अनुमति मिलते ही छठे चरण की शिक्षक नियोजन प्रक्रिया को पूर्ण कर लिया जाएगा। अभ्यर्थी इन हालातों को संज्ञान में लें जिससे वे अनावश्यक किसी भ्रम का शिकार न हों।' शिक्षा मंत्री के इस ट्वीट के बाद विपक्ष ने तीखा हमला बोला। 

राजद नेता ने मंत्री पर कसा तंज 
राजद प्रवक्ता चित्तरंजन गगन ने कहा कि सरकार ने पहले तो कहा था कि 15 अगस्त तक शिक्षकों को नियुक्ति पत्र दे दिया जाएगा। उसके बाद यह कहा गया कि अक्तूबर तक नियुक्ति प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। अब सरकार कह रही है कि निर्वाचन आयोग से अनुमति ली जा रही है। चित्तरंजन गगन ने कहा कि विधानसभा उपचुनाव में सरकार का वोट बैंक प्रभावित नहीं हो इसलिए सरकार अभ्यर्थियों को गुमराह कर रही है। अब नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ही मुख्यमंत्री बनेंगे तो शिक्षकों को नियुक्ति पत्र मिलेगा। 

शिक्षक बहाली मोर्चा ने खड़े किए सवाल
शिक्षा मंत्री के ट्वीट हटाए जाने पर बिहार टीईटी- सीटीईटी- एसटीईटी उत्तीर्ण शिक्षक बहाली मोर्चा ने कहा कि शिक्षा मंत्री जी को इस ट्वीट को डिलीट करने के क्या कारण हो सकते हैं? लगता है इरादा नेक नहीं है। इधर टीईटी-एसटीईटी उत्तीर्ण नियोजित शिक्षक संघ ने आरोप लगाया कि सरकार जरूरी डॉक्यूमेंट निर्वाचन आयोग को उपलब्ध नहीं करा रही तो अनुमति कहां से मिलेगी।

शिक्षक बहाली को लेकर मंत्री ने किया था ट्वीट
शिक्षा मंत्री विजय चौधरी ने गुरुवार को ट्वीट किया कि राज्य में आने वाले दिनों में बड़ी संख्या में शिक्षकों की बहाली की जाएगी। सरकारी ने इसे लेकर जरूरी दिशानिर्देश जारी कर दिए हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में सरकार शिक्षा में सुधार के लिए कटिबद्ध है।
... और पढ़ें

लालू यादव का नया लुक: मीसा भारती ने पोस्ट किया कुल अंदाज वाला फोटो, तेजप्रताप बोले- मेरे पिता जी जैसा सीएम कोई नहीं..

लालू प्रसाद यादव दिल्ली में अपनी बड़ी बेटी मीसा भारती के आवास पर स्वास्थ्य लाभ कर रहे हैं। स्वास्थ्य लाभ के दौरान उनकी कई तस्वीरें भी वायरल हुई हैं। इसी कड़ी में लालू यादव का कूल अंदाज वाला एक फोटो भी सोशल मीडिया पर  वायरल हो रहा है। लालू की एक तस्वीर उनकी बेटी मीसा भारती ने सोशल मीडिया पर पोस्ट की है। मीसा भारती ने लिखा है - 'जब नाना और प्यारे नाती में मची ज्यादा कूल दिखने की होड़!' वायरल तस्वीर से लालू के प्रशंसक भी काफी खुश नजर आ रहे हैं। शुभचिंतक इस उम्मीद में हैं कि नेताजी जल्द ही अब पटना लौटेंगे और सक्रिय राजनीति में हिस्सा लेंगे।

वहीं, बहन की पोस्ट को शेयर करते हुए तेजप्रताप ने लिखा है- मेरे पिता जी जैसा मुख्यमंत्री और कोई नहीं हो सकता। पिछले दिनों तेजप्रताप यादव ने लालू यादव के दिल्ली में रहने को लेकर तंज कसा था। तेज प्रताप ने कहा था कि लालू यादव को बंधक बना लिया गया है। इन दिनों तेज प्रताप और तेजस्वी यादव के बीच अच्छे संबंध नहीं हैं।

बिहार उपचुनाव में राजद ने दो सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं।वहीं, कांग्रेस उम्मीदवार ने एक सीट पर नामांकन दाखिल किया है। बिहार राजद और कांग्रेस महागठबंधन का हिस्सा है, लेकिन उपचुनाव में जिस तरह से दोनों दलों ने प्रत्याशी उतारे हैं उससे गठबंधन कमजोर हुआ है। तेज प्रताप ने भी कांग्रेस के लिए प्रचार करने का एलान किया है।  

हाल के दिनों में कई बार दिखे लालू, पर इसमें दिखे अलग
लालू प्रसाद को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हाल के दिनों में लोगों ने कई बार देखा है। पार्टी के स्थापना दिवस हो या प्रशिक्षण शिविर या कोई अन्य कार्यक्रम सब में लालू यादव की उपस्थिति देखी गई है, लेकिन उनकी वह तस्वीर जिसे मीसा भारती ने सोशल मीडिया पर डाला है वह बहुत कुल मुद्रा में दिख रहे हैं। उनके बगल में नाती खड़ा है और उसका चश्मा पहनकर खुद फोटो खिंचवा रहे हैं। 

पटना आने की बढ़ी उम्मीद
इस फोटो को देखकर उनके शुभचिंतक अंदाज लगा रहे हैं कि नेताजी की सेहत धीरे-धीरे ठीक हो रही है और वह जल्द ही उपचुनाव में बिहार आएंगे। हालांकि, लालू प्रसाद हाई ब्लड प्रेशर, शूगर समेत कई बीमारियों से ग्रसित हैं। दिल्ली में उनका इलाज चल रहा है। डॉक्टरों की अनुमति के बाद ही वह कही जा सकते हैं। 
... और पढ़ें

बिहार: शराब पार्टी की सूचना पर पहुंची पुलिस पर हमला, आठ पुलिसकर्मी घायल, सात आरोपी गिरफ्तार

पटना: 'विराट रामायण मंदिर' को लेकर महावीर मंदिर ने राष्ट्रपति कोविंद को भेंट की कलाकृति

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शुक्रवार को पटना में प्रसिद्ध महावीर मंदिर का दौरा किया। यहां मंदिर की ओर से उन्हें आगामी 'विराट रामायण मंदिर' पर चेन्नई के कलाकारों द्वारा बनाई गई कलाकृति भेंट की गई। महावीर मंदिर ट्रस्ट सचिव किशोर कुणाल ने कहा कि राष्ट्रपति ने मंदिर में 15-20 मिनट गुजारे।

उन्होंने कहा, राष्ट्रपति कोविंद पूर्व में बिहार के राज्यपाल रहते हुए महावीर मंदिर जा चुके हैं, लेकिन राष्ट्रपति के रूप में यह उनकी पहली मंदिर यात्रा थी। हम बहुत प्रसन्न हैं। पटना जंक्शन से सटे ऐतिहासिक मंदिर में राष्ट्रपति कोविंद ने अपनी पत्नी और बेटी के साथ, सुबह-सुबह दर्शन किए और पूजा-अर्चना की।
... और पढ़ें
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद

राष्ट्रपति का बिहार दौरा: तीसरे दिन महामहिम ने हरमंदिर साहिब गुरुद्वारा में टेका मत्था, खादी मॉल में की जमकर खरीदारी

बिहार दौरे पर गए महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद तीसरे दिन राजधानी पटना स्थित हरमंदिर साहिब गुरुद्वारा पहुंचे, जहां उन्होंने मत्था टेका। इसके बाद वह अपनी धर्मपत्नी सविता कोविंद के साथ पटना जंक्शन स्थित महावीर मंदिर पहुंचे। यहां उन्होंने भारत की प्रथम महिला के साथ भगवान हनुमान की पूजा अर्चना की। नैवेद्यम का भोग लगाया, इसके बाद गर्भ गृह की परिक्रमा की। राष्ट्रपति कोविन्द ने मानवता के कल्याण तथा कोरोना से मुक्ति के लिए प्रार्थना की।



राष्ट्रपति ने खादी मॉल का भी दौरा किया, जहां उन्होंने काफी संख्या में खरीदारी भी की। खादी मॉल में बिहार के उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन ने राष्ट्रपति का स्वागत किया। राष्ट्रपति ने मॉल में महात्मा गांधी की प्रतिमा को खादी का माला पहनाया। इसके बाद उन्होंने चरखा चलाया। साथ ही खादी व सिल्क के कपड़ों की खरीदारी भी की। उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन ने राष्ट्रपति को भगवान बुद्ध और मिथिला पेंटिंग भेंट की।

 
... और पढ़ें

विवादित बयान: जीतन राम मांझी बोले- राम से कई गुणा बड़े संत थे वाल्मीकि, मर्यादा पुरुषोत्तम काल्पनिक चरित्र

बिहार में एनडीए सरकार के सहयोगी और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने एक बार फिर से विवादित बयान दिया है। उन्होंने बुधवार को दिल्ली में पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की मीटिंग में भगवान वाल्मीकि को श्रद्धांजलि देने के बाद एक बार फिर दोहराया कि भगवान राम एक काल्पनिक चरित्र थे।

हिन्दुस्तान अवाम मोर्चा (HAM) के  प्रमुख मांझी ने कहा कि महाकाव्य रामायण के लेखक महर्षि वाल्मीकि राम से हजारों गुना बड़े थे।' हालांकि, उन्होंने आगे कहा कि यह मेरा निजी विचार है और मैं किसी की भावनाओं को ठेस नहीं पहुंचाना चाहत हूं। 

रामायण को बताया काल्पनिक ग्रंथ
दिल्ली में बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने 'हम' की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में विवादित बयान दिया। इससे पहले पिछले माह सितंबर में मांझी रामायण को लेकर विवादित बयान दे चुके हैं। पटना में मीडिया ने उनसे मध्य प्रदेश की तर्ज पर बिहार के स्कूली पाठ्यक्रम में रामायण को शामिल करने को लेकर सवाल पूछा था। तब हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा के अध्यक्ष ने पाठ्यक्रम में रामायण को शामिल करने की जरूरत तो बताई थी, लेकिन साथ ही कहा था- 'रामायण की कहानी सत्य पर आधारित नहीं है।' श्रीराम महापुरुष थे, वह इस बात को भी नहीं मानते। उन्होंने रामायण को काल्पनिक ग्रंथ बताया था।

कश्मीर में सरकार के प्रयासों के परिणाम नहीं दिख रहे
दिल्ली में अपनी पार्टी हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (सेक्युलर) की राष्ट्रीय कार्यकारिणी को संबोधित करने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए मांझी ने यह भी कहा कि केंद्र सरकार कश्मीर में शांति स्थापित करने के प्रयास कर रही है, लेकिन परिणाम दिखाई नहीं दे रहे हैं।  

इन पांच सांसदों का लिया नाम
मांझी ने आरोप लगाया कि केंद्रीय मंत्री एसपी सिंह बघेल, जय सिद्धेश्वर शिवाचार्य महास्वामी (भाजपा), कांग्रेस सांसद मोहम्मद सादिक, टीएमसी सांसद अपरूपा पोद्दार और निर्दलीय सांसद नवनीत रवि राणा चुनाव लड़ने के बाद एससी के लिए आरक्षित सीटों का प्रतिनिधित्व करते हैं। मांझी ने इस मामले की जांच की मांग की है। 

मांझी ने दावा किया कि अनुसूचित जाति के लोगों को नौकरियों और यहां तक कि स्थानीय निकाय चुनावों में भी 15 से 20 प्रतिशत कोटा लाभ जाली जाति प्रमाण पत्र के आधार पर दूसरों द्वारा हड़प लिया जाता है। ऐसे मामले रुकने चाहिए। 
... और पढ़ें

बिहार पंचायत चुनाव: चौथे चरण का मतदान जारी, 75808 उम्मीदवार आजमा रहे किस्मत, समस्तीपुर में ईवीएम मशीन खराब

बिहार पंचायत चुनाव के चौथे चरण के लिए मतदान जारी है। 36 जिलों के 53 प्रखंडों में वोटिंग हो रही है। सुबह सात बजे से शाम पांच बजे तक वोट डाले जाएंगे। इस चरण में 11 हजार 318 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। पंचायत चुनाव में आज चौथे चरण के 799 ग्राम पंचायतों के लिए मतदान का दिन है। इस चरण में 75808 उम्मीदवार मैदान में हैं। इसमें 35,525 पुरुष और 40283 महिला उम्मीदवार शामिल हैं।

कई जगह ईवीएम खराब 
समस्तीपुर के विभूतिपुर पतैलिया में बूथ संख्या 3, 5, 15 में ईवीएम मशीन खराब होने की जानकारी आ रही है, वहीं खगड़िया में ईवीएम में खराबी के कारण बन्नी पंचायत के बूथ संख्या 11 पर 50 मिनट देरी से शुरू हुआ मतदान।अररिया के नरपतगंज प्रखंड में मतदान केन्द्र संख्या 172 हाजी जाकिर टोला में ईवीएम खराब के कारण मतदान बाधित। वहीं कई शहरों में भारी बारिश के कारण मतदाता बूथ पर नहीं पहुंच पा रहे हैं।

सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद
मतदान के दौरान बूथ पर सुरक्षा के लिए होमगार्ड, बिहार पुलिस और बिहार सशस्त्र पुलिस के जवान तैनात किए गए हैं। चौथे चरण की सीटों पर 22 और 23 अक्तूबर को मतगणना होनी है।

799 ग्राम पंचायतों के मुखिया और सरपंच के लिए चुनाव
चौथे चरण में 799 ग्राम पंचायतों के मुखिया और सरपंच के लिए चुनाव होंगे। 10888 वार्डों में ग्राम पंचायत सदस्य और ग्राम कचहरी के पंच पर चुनाव हो रहा है। जिला परिषद की 119 सीटों पर, जबकि पंचायत समिति की 1093 पदों पर चुनाव के लिए चुनाव कराया जा रहा है।
... और पढ़ें

बिहार: कुलगाम में टारगेट किलिंग के शिकार दो युवकों के शव पटना लाए गए, भाजपा नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

बिहार पंचायत चुनाव 2021 चरण 4
जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में 17 अक्तूबर को टारगेट किलिंग के शिकार हुए बिहार के दो युवकों के शव मंगलवार को पटना लाए गए। पटना एयरपोर्ट पर बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम व सांसद सुशील मोदी और मौजूदा डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की।

आतंकियों ने कुलगाम में बिहार के राजा ऋषि देव और जोगिंदर ऋषि देव की गोली मार कर हत्या कर दी थी। दोनों के शव 19 अक्तूबर को विमान से पटना लाए गए। उपमुख्यमंत्री प्रसाद ने इस मौके पर कहा, 'यह हिंदू या मुस्लिम का मामला नहीं है। आतंकवादियों का मकसद क्षेत्र में भय पैदा करना है।' राज्यसभा सदस्य सुशील मोदी ने कहा कि जम्मू कश्मीर प्रशासन ने मृतकों के आश्रितों को 11-11 लाख रुपये और बिहार सरकार तीन-तीन लाख रुपये की सहायता प्रदान करेगी।

पटना से अररिया ले जाए गए शव
एयरपोर्ट से दोनों के शव एंबुलेंस से अररिया ले जाए गए। बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने कहा कि आतंकी बिहारी नहीं बल्कि मजदूरों, हिंदुओं, सिखों और गैर-कश्मीरी लोगों को टारगेट कर रहे हैं। एनआईए ने पूरे मामले को अपने हाथ में ले लिया है। अभी तक ऑपरेशन में 13 आतंकियों को मार गिराया गया है और आगे भी सुरक्षा एजेंसी अपने काम में सफलता हासिल करेगी।

विधायक की मांग, मुफ्त में दी जाए एके-47  
वहीं, बिहार के लोगों की कश्मीर में हत्या पर भाजपा विधायक ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू ने इसे कायराना हरकत बताते हुए कहा कि पाकिस्तान गरीबों को मार रहा है। विधायक ने केंद्र सरकार से कार्रवाई करने की मांग की और सुरक्षा देने की मांग की, ताकि वहां से बिहार के लोगों का पलायन न हो।

साथ ही विधायक ने कहा कि एक जगह रोजगार की व्यवस्था की जाए जहां सुरक्षा भी हो। विधायक ने यह भी कहा कि बाहर से आए लोगों को संविधान में संसोधन कर सरकार हथियार का लाइसेंस दे जिससे वो आतंकियों से अपनी रक्षा कर सकें। विधायक ज्ञानू ने यहां तक कह दिया कि बिहारियों को मुफ्त में एके-47 दें जिससे वो वो खुद अपनी सुरक्षा कर सकें। 
 
... और पढ़ें

बिहार: राजद विधायक का गुस्से वाला ऑडियो वायरल, गैंगरेप की जानकारी मांगने पर युवक पर निकाली भड़ास, बोले-मैं आपका एमएलए नहीं

औरंगाबाद जिले के मदनपुर गैंगरेप मामले में रफीगंज विधानसभा के विधायक मोहम्मद नेहालुद्दीन का गुस्से वाला आॉडियो सामने आया है। गैंगरेप मामले की जानकारी देने को लेकर एक शख्स ने विधायक को कॉल किया। इस पर विधायक मोहम्मद नेहालुद्दीन भड़क गए। उन्होंने कहा कि गैंगरेप मामले से उन्हें कोई लेना-देना नहीं है। साथ ही फोन करने वाले को कहा कि आपके विधायक भी हम नहीं हैं।

उपचुनाव में व्यस्त हैं विधायक
ऑडियो में रफीगंज के विधायक कह रहे हैं कि गैंगरेप मामले से कुछ लेना-देना नहीं है। उन्होंने फोन करने वाले को कहा कि ऐसा हुआ है तो एसपी-डीएम पास जाओ। हमें फोन करने की जरूरत नहीं है। हम आपके विधायक नहीं हैं। उन्होंने यह भी धमकी दी कि आप पूछने वाले कौन होते हैं। जब, फोन करने वाले शख्स ने कहा कि आप हमारे विधायक हैं। लेकिन, घूम रहे हैं तारापुर में। तारापुर उपचुनाव में प्रचार में जा रहे हैं। इस पर भी विधायक भड़क गए।

युवक के सवाल पर भड़क गए मोहम्मद नेहालुद्दीन
आॉडियो की पुष्टि करने के लिए दैनिक भास्कर की टीम ने रफीगंज विधायक मोहम्मद नेहालुद्दीन से बातचीत की। उन्होंने फोन आने की बात स्वीकार की। कहा कि कुछ लड़के उनके साथ बदतमीजी कर रहे थे। उन्होंने यह भी कहा कि तारापुर विधानसभा उपचुनाव मे व्यस्त होने की वजह से मुझे इसकी जानकारी नहीं थी। लड़कों की ओर से बदतमीजी करने पर गुस्सा आ गया। वहीं, रफीगंज में आकर पीड़िता से मिलने के सवाल पर विधायक मो. नेहालुद्दीन ने कहा कि तारापुर विधानसभा उपचुनाव खत्म होने के बाद ही आ पाएंगे, अभी किसी भी हालत में नही आ सकते।

क्या है मामला
 16 अक्तूबर को 20 साल की छात्रा (बीए फाइनल) पास ही रहने वाली सहेली के घर जा रही थी, तभी राहुल कुमार नाम के युवक ने उसे अगवा कर लिया। वह उसे कार से सुनसान जगह पर ले जाकर तीन दोस्तों के साथ मिलकर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। जहां उसने और उसके दो साथियों अविनाश कुमार राम और पंकज राम ने गैंगरेप किया। इसके बाद छात्रा को झाड़ी में फेंककर फरार हो गए। पेट्रोलिंग पर निकली पुलिस ने लड़की के कराहने की आवाज सुनी तो उसे सदर अस्पताल ले गई थी।

... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर में टारगेट किलिंग: सीएम नीतीश के मनोज सिन्हा से चर्चा के बाद अब डीजीपी ने की मुख्य सचिव से बात

कश्मीर में बिहार के लोगों की आतंकियों द्वारा हत्या के मामले में सोमवार को डीजीपी ने जम्मू-कश्मीर के मुख्य सचिव से बात की। आतंकी हमले में अब तक बिहार के चार लोगों की जान जा चुकी है और एक घायल हुआ है। बिहार पुलिस ने बताया कि अधिकारियों से कश्मीर में उन सभी स्थानों की सुरक्षा करने का अनुरोध किया गया है, जहां बिहार के लोग काम करते व रहते हैं। साथ ही जम्मू-कश्मीर प्रशासन से ये भी आग्रह किया गया है कि एक विशेष टीम का गठन कर हत्या के जिम्मेदार आतंकियों को गिरफ्तार किया जाए। 

नीतीश ने की राज्यपाल से बात 
इससे पहले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा को फोन किया और हाल ही में हुए आतंकवादी हमलों में पूर्वी राज्य के लोगों के मारे जाने पर चिंता व्यक्त की। आतंकियों ने जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में रविवार को दो और लोगों की हत्या कर दी। चौबीस घंटे के अंदर राज्य में तीन लोगों की हत्या हो गई है। इस मामले पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा को फोन कर अपनी चिंता व्यक्त की।

श्रीनगर में अरविंद कुमार साह जो बांका के रहने वाले थे, उनकी हत्या के चौबीस घंटे के अंदर ही अनंतनाग में बिहार के राजा ऋषिदेव और योगेंद्र ऋषिदेव की हत्या कर दी गई। कुछ ही दिनों में अब तक बिहार के तीन लोगों की हत्या जम्मू-कश्मीर में हो चुकी है। 

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दो-दो लाख रुपये देने की घोषणा
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने तीनों मृतकों के परिजन को दो-दो लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है और श्रम एवं समाज कल्याण विभागों को यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं कि संबंधित योजनाओं का लाभ शोकाकुल परिवारों तक पहुंचे।

भाजपा ने मुआवजा राशि बढ़ाने का किया अनुरोध
इस बीच, भाजपा ने अनुग्रह राशि में वृद्धि का अनुरोध करते हुए कहा कि यह राशि राज्य में दुर्घटनाओं और प्राकृतिक आपदाओं के पीड़ितों को दी जाने वाली राशि से भी कम है, राशि को बढ़ाया जाए। भाजपा के ओबीसी मोर्चा के राष्ट्रीय महासचिव और राज्य प्रवक्ता निखिल आनंद ने एक बयान में कहा, जिहादी अपनी आखिरी लड़ाई लड़ रहे हैं और हताशा में नृशंस हमले कर रहे हैं। उन्हें हमारे सशस्त्र बलों और केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा सबक सिखाया जाएगा।

उन्होंने अनुरोध किया कि बिहार सरकार अनुग्रह राशि बढ़ाने पर विचार करे, दो लाख रुपये की राशि दुर्घटनाओं और प्राकृतिक आपदाओं के शिकार लोगों को दिए गए चार लाख रुपये के आधे के बराबर है। उन्होंने कहा कि हमें शोकाकुल परिवारों के सदस्यों की मदद करनी चाहिए, जो पिछड़े वर्ग के हैं और जिन्होंने अपने कमाने वालों को खो दिया है।
... और पढ़ें

बिहार: मुंगेर में किराना कारोबारी के कर्मचारी से 59 लाख रुपये की लूट, पीछा नहीं करने के लिए बदमाशों ने की फायरिंग

बिहार में लूटपाट, डकैती और हत्या की वारदात फिर से तेज होने लगी है। अपराधी दिनदहाड़े घटना को अंजाम देकर फरार हो जा रहे हैं। ताजा मामला मुंगेर का है। शहर के मकससपुर के रहने वाले किराना कारोबारी लक्ष्मी साह के पुत्र गोपाल साह के 49 लाख रुपये अपराधियों ने लूट लिए। सोमवार की शाम 5:00 बजे बाइक सवार अज्ञात बदमाशों ने हथियार के बल पर कारोबारी के कर्माचीर से 49 लाख रुपये लूट लिए। पीछा नहीं करने और आसपास में भय पैदा करने के लिए अपराधियों ने घटना को अंजाम दिया है। पैसे लेकर भागने के दौरान लुटेरों ने गोली भी चलाई। पुलिस सीसीटीवी कैमरे की मदद से बदमाशों तक पहुंचने की कोशिश कर रही है। वहीं इस मामले में व्यवसायी कुछ भी बोलने से इनकार कर रहे हैं। 

शहर के सबसे बड़े किराना व्यवसायी गोपाल साह के दो कर्मचारी सौरभ और धर्मेंद्र कुमार अलग-अलग बाइक से  मकसपुर से मुख्य ब्रांच एसबीआई बैंक में पैसा जमा करने जा रहे थे। अपने कर्मचारी के साथ साथ व्यवसायी भी बेटी को लेकर बाइक से पीछे पीछे चल रहे थे। आगे की बाइक पर दोनों कर्मचारी एक बैग में पैसे लेकर चल रहे थे।

हवाई फायर कर दहशत फैलाया
तभी कोतवाली थाना क्षेत्र के शादीपुर मछली आढ़त के मस्जिद अहमदिया के पास पीछे से आ रहे बाइक सवार दो बदमाशों ने कर्मचारी की गाड़ी में टक्कर मार दी। कर्मचारी कुछ समझ पाता पिस्टल दिखाकर बाइक सवार ने पैसे से भरा बैग को छीन लिया। वहीं, कर्मचारी से पैसे छीनता देख व्यवसायी गोपाल साह बदमाशों के पीछे दौड़कर शोर मचाने लगे, जिसपर बदमाशों ने दहशत फैलाने के लिए दो राउंड फायरिंग कर भय का माहौल पैदा कर दिया और बैग लेकर फरार हो गए।
... और पढ़ें

मांझी की पीएम मोदी से अपील: बिहारियों को सौंपें कश्मीर, 15 दिनों में सुधार नहीं दिए तो कहिएगा

जम्मू कश्मीर में हुए आतंकी हमले में बिहारी मजदूर की मौत के बाद से सियासत गरमा गई है। राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव ने जहां इस घटना के लिए नीतीश सरकार को दोषी ठहराया है तो वहीं बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने कश्मीर  से आतंक के खात्मा के लिए पीएम मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से एक अलग ही मांग रख दी है। 

जीतन राम मांझी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि कश्मीर में लगातार हमारे निहत्थे बिहारी भाईयों की हत्या की जा रहीं है जिससे मन व्यथित है। अगर हालात में बदलाव नहीं हो पा रहें तो प्रधानमंत्री मोदी और गृह मंत्री अमित शाह से आग्रह है कि कश्मीर को सुधारने की जिम्मेदारी हम बिहारियों पर छोड़ दीजिए, 15 दिनों में सुधार नहीं दिया तो कहिएगा।





जम्मू-कश्मीर में बिहारियों की हत्या
बता दें कि जम्मू-कश्मीर में अपने साथी के मारे जाने से बौखलाए आतंकी एक के बाद एक गैर-कश्मीरियों को निशाना बनाते जा रहे हैं। रविवार को दक्षिणी कश्मीर  के कुलगाम जिले में आतंकियों ने बिहार के रहने वाले दो मजदूरों की हत्या कर दी। मृतकों की पहचान बिहार के निवासी राजा और जोगिंदर के रूप में हुई है। इससे पहले शनिवार को भी आतंकियों ने पुलवामा और श्रीनगर में दो लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी थी। श्रीनगर में बिहार के रहने वाले अरविंद कुमार को निशाना  बनाया गया था। वहीं, पुलवामा में यूपी निवासी सगीर अहमद की हत्या की गई थी।
... और पढ़ें

बिहार: पटना की जानी मानी मॉडल मोना राय की इलाज के दौरान मौत, शूटर्स ने बेटी के सामने ही मारी थी गोली

बिहार की राजधानी पटना की जानी मानी मॉडल मोना राय की रविवार को इलाज के दौरान मौत हो गई है।  मोना राय को पिछले दिनों नवरात्र में अपराधियों ने उनके घर के सामने ही गोली मार दी थी। घटना के बाद से वह इंदिरा गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस (IGIMS) में भर्ती थी। इस मामले में अब तक पुलिस को कोई सुराग हाथ नहीं लगा है।

बेटी के सामने बदमाशों ने मारी थी गोली
राजीव नगर थाना क्षेत्र के रामनगरी बसंत कॉलोनी की रहने वाली 36 साल की मोना राय पेशे से मॉडल थीं और शहर में उनका अच्छा खासा नाम था। बदमाशों ने अनीता को उनकी 12 साल की बेटी के सामने उनके दरवाजे पर ही गोली मारी थी। घटना उस वक्त हुई जब वे मंदिर से स्कूटी से घर पहुंची थीं। मॉडल 2020 में मिसेज बिहार की प्रतिभागी रही हैं। वहीं उनके पति सुमन फोटो कॉपी की दुकान चलाते हैं।

आज सुबह में हुई मौत
राजीव नगर थानेदार सरोज ने मोना राय की मौत की पुष्टि की है। उनका कहना है कि इलाज के लिए मोना को IGIMS में भर्ती कराया गया था। उनकी रविवार की सुबह चार बजे मौत हो गई। पुलिस के अनुसार इस मामले में जांच तेज कर दी गई है।

प्रेम संबंध के एंगल से भी हो रही जांच
पुलिस के अनुसार प्रेम संबंध भी घटना के कारणों में से एक हो सकता है। वहीं मोना राय की मौत के बाद उनके बच्चों का रो-रोकर बुरा हाल है। जिस वक्त अपराधियो ने मोना को गोली मारी थी उस वक्त उसकी बेटी भी उसके साथ थी और वो बाल-बाल बच गई थीं।
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00