लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Business ›   Business Diary ›   Bank of Baroda Report : States Capital Expenditure for FY23 Slower in percentage, Uttarpradesh left behind

BOB : बड़े राज्यों में उत्तर प्रदेश ने सबसे कम खर्च किया बजट, केरल अव्वल, जानें किस प्रदेश का कौन सा स्थान रहा

अमर उजाला ब्यूरो, नई दिल्ली। Published by: योगेश साहू Updated Thu, 06 Oct 2022 05:12 AM IST
सार

Bank of Baroda Report : राज्यों से मिले रुझानों से पता चलता है कि ज्यादा खर्च वित्त वर्ष के आखिरी महीनों में होता है। उदाहरण के तौर पर पिछले वित्त वर्ष में महाराष्ट्र ने अपने तय बजट से ज्यादा खर्च किया।

money
money - फोटो : iStock
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

Bank of Baroda Report : चालू वित्त वर्ष के पहले चार महीने में देश के बड़े राज्यों में सबसे कम खर्च उत्तर प्रदेश ने किया है। बैंक ऑफ बड़ौदा की रिपोर्ट में कहा गया है कि यूपी ने तय बजट 1,23,919 करोड़ रुपये में से केवल 12,764 करोड़ खर्च किया है जो 10.3% है। 2021-22 में यूपी ने 96,481 करोड़ खर्च किया था जबकि बजट का लक्ष्य 1.14 लाख करोड़  था।



देश के 26 राज्यों पर तैयार रिपोर्ट में कहा गया है कि इस वित्त वर्ष में राज्यों को 6.92 लाख करोड़ रुपये खर्च करने थे, लेकिन अभी तक केवल 1.01 लाख करोड़ रुपये ही खर्च हुआ है। यह लक्ष्य का 14.7 फीसदी है। केंद्र सरकार ने 7.5 लाख करोड़ रुपये के लक्ष्य की तुलना में पहले 4 महीने में 2.08 लाख करोड़ खर्च किया है, जो कि कुल रकम का 27.8 फीसदी है। 


हालांकि, 7.5 लाख करोड़ में राज्यों को दिए गए 1.40 लाख करोड़ का कर्ज भी शामिल है। 9 राज्यों का हिस्सा कुल खर्च में 65% है। इस दौरान सरकारी कंपनियों ने बजट का केवल 28% ही खर्च किया है। इनका खर्च का बजट 6.62 लाख करोड़ रुपये है। इसमें से 1.84 लाख करोड़ खर्च हुए हैं। देश की विकास दर करीब 7% की है।  

खर्च में गुजरात दूसरे और मध्य प्रदेश तीसरे स्थान पर
बजट में सबसे ज्यादा खर्च करने वालों में केरल 27.6 फीसदी के साथ पहले स्थान पर है। 25.1 फीसदी के साथ गुजरात दूसरे और 24.7 फीसदी के साथ मध्य प्रदेश तीसरे स्थान पर है। तमिलनाडु ने 20 फीसदी और कर्नाटक ने 18.5 फीसदी खर्च किया है। 10 फीसदी से कम खर्च करनेवालों में मणिपुर ने 9.5 फीसदी, आंध्र प्रदेश ने 6.6 फीसदी, त्रिपुरा ने 3.4 फीसदी, मिजोरम ने 1.1 फीसदी और सिक्किम ने अपने तय बजट का एक भी फीसदी खर्च नहीं किया।

वित्त वर्ष के आखिरी महीनों में ज्यादा खर्च
राज्यों के रुझान से पता चलता है कि ज्यादा खर्च वित्त वर्ष के आखिरी महीनों में होता है। उदाहरण के तौर पर पिछले वित्त वर्ष में महाराष्ट्र ने अपने तय बजट से ज्यादा खर्च किया। वित्त वर्ष 2021-22 में 22 राज्यों में से 13 राज्य अपने पूंजीगत खर्च का बजट पूरा नहीं कर पाए थे। 9   राज्यों ने तय बजट से ज्यादा खर्च किया था।

बजट और खर्च का हिसाब (आंकड़े करोड़ रु. में )
राज्य बजट खर्च फीसदी में
हिमाचल 5,647 1,169 20.70
छत्तीसगढ़ 15,076 3,015 20.00
राजस्थान 34,658 5,545 16.00
बिहार 30,943 4,239 13.70
महाराष्ट्र 64,065 7,560 11.80
उत्तराखंड 10,840 1,171 10.80
हरियाणा 21,319 2,238 10.50
पंजाब 10,930 1,137 10.40
झारखंड 16,530 1,653 10.00

खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और Budget 2022 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00