लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Chandigarh ›   Three arrested including Chandigarh Police Constable in SI recruitment exam fraud case

Chandigarh News: एसआई भर्ती परीक्षा में फर्जीवाड़ा, चंडीगढ़ पुलिस का कांस्टेबल समेत तीन गिरफ्तार

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, चंडीगढ़ Published by: ajay kumar Updated Tue, 06 Dec 2022 10:43 PM IST
सार

एसएसपी मनोज मीणा ने बताया कि लगातार सूचना दी जा रही है कि एसआई की परीक्षा रद्द होगी लेकिन यह स्पष्ट किया जा रहा है कि परीक्षा रद्द नहीं होगी। 18 दिसंबर को लिखित परीक्षा होगी। इसमें सुरक्षा के सभी इंतजाम होंगे।

पुलिस की गिरफ्त में आरोपी।
पुलिस की गिरफ्त में आरोपी। - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन

विस्तार

चंडीगढ़ पुलिस की एसआई भर्ती में फर्जीवाड़े के मामले में क्राइम ब्रांच ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इनकी पहचान हरियाणा के जींद के रहने वाले सेक्टर-36 थाने में कांस्टेबल के पद पर पदस्थ नरेश, पंजाब एजी ऑफिस का सीनियर अकाउंटेंट हरदीप और साइबर कैफे संचालक मनीमाजरा निवासी चंद्रकांत के रूप में हुई है। कांस्टेबल नरेश ने सीट आसपास करने के चक्कर में दो फॉर्म भरे थे। एक फॉर्म में उसने अपनी जानकारी भरी थी, वहीं दूसरे फॉर्म में साइबर कैफे का पता व मोबाइल नंबर के साथ फोटो हरदीप की लगाई है। यह फॉर्म चंद्रकांत के साइबर कैफे पर बैठकर भरा गया था। पुलिस ने तीनों को अदालत में पेश किया। 



अदालत ने नरेश और हरदीप का तीन-तीन दिन और चंद्रकांत का दो दिन का पुलिस रिमांड दिया है। एसएसपी मनोज मीणा ने बताया कि आवेदनों की जांच में पाया एक अभ्यर्थी के दो-तीन फॉर्म मिले। जांच करने पर ऐसे 122 फॉर्म मिले। सेक्टर-11 थाना पुलिस ने इनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कर इसे जांच का आधार बनाया। 


जांच में आगे पता चला कि वर्ष 2009 बैच के कांस्टेबल नरेश ने दो फॉर्म भरे थे। नरेश ने अपने दोस्त हरदीप को जानकारी देकर पता और मोबाइल नंबर साइबर कैफे संचालक का भर दिया और फोटो उसकी लगा दी। नरेश सेक्टर-36 में पदस्थ था, इसलिए साइबर कैफे वाले को अच्छे से जानता था इसलिए उसने भी फर्जीवाड़े का विरोध नहीं किया। इसी आधार पर तीनों को गिरफ्तार किया है। 

एक फॉर्म में एमए, दो में बीकॉम, हरदीप पर पहले भी हुई है एफआईआर 
नरेश ने फॉर्म में शिक्षा के कॉलम में दो अलग-अलग बातें लिखी हैं। एक फॉर्म में एमए इकॉनोमिक्स लिखा है, जबकि दूसरे फॉर्म में बीकॉम लिखा है। पुलिस के अनुसार नरेश को लग रहा था कि नाम के पहले अक्षर, पिता के नाम या अन्य पर्सनल जानकारी के आधार पर सेंटर बने तो उसकी और हरदीप की सीट आगे-पीछे हो सकती है। यह हुआ तो वह आसानी से हरदीप की मदद से एसआई की परीक्षा पास कर लेगा। जांच में पुलिस को पता चला है कि हरदीप के खिलाफ पहले भी केस दर्ज हुआ है। अब जांच का विषय है कि यह केस भर्ती संबंधी फर्जीवाडे़ में हुआ है या अन्य मामले में। वहीं इसमें रुपयों का लेनदेन हुआ है कि नहीं इसकी भी जांच कर रहे हैं।

नहीं रद्द होगी परीक्षा, 18 दिसंबर तय की गई 
एसएसपी मनोज मीणा ने बताया कि लगातार सूचना दी जा रही है कि एसआई की परीक्षा रद्द होगी लेकिन यह स्पष्ट किया जा रहा है कि परीक्षा रद्द नहीं होगी। 18 दिसंबर को लिखित परीक्षा होगी। इसमें सुरक्षा के सभी इंतजाम होंगे। बायोमीट्रिक उपस्थिति होगी, इलेक्ट्रॉनिक आइटम बैन होंगे, औचक जांच होगी, परीक्षा केंद्र में जैमर लगेगा। विस्तृत जानकारी अभ्यर्थियों को दे दी जाएगी।

सभी फॉर्म गलत नहीं, जांच में दोषी मिलने पर होगी कार्रवाई 
एसएसपी मनोज मीणा ने बताया कि एसआई भर्ती परीक्षा के लिए लगभग 17 हजार आवेदन आए हैं। ये सभी फॉर्म फर्जी नहीं हैं। जांच में मिला कि एक फॉर्म में एक अभ्यर्थी ने हस्ताक्षर की जगह फोटो लगा दिया और फोटो की जगह हस्ताक्षर कर दिए। गलती का अहसास होने पर उसने दूसरा फॉर्म भर दिया लेकिन जानकारी दोनों फॉर्म पर एक ही है, इसलिए सभी 122 लोगों को फर्जी कहना गलत होगा। जांच में दोषी पाए जाने पर कार्रवाई होगी।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00