लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Chandigarh ›   Youth commits suicide by jumping from the roof of ESI Hospital in Ludhiana

Punjab: लुधियाना में ESI अस्पताल की छत से कूदकर युवक ने दी जान, पठानकोट में व्यक्ति ने लगाया फंदा

संवाद न्यूज एजेंसी, लुधियाना/पठानकोट (पंजाब) Published by: ajay kumar Updated Sat, 03 Dec 2022 09:54 PM IST
सार

पंजाब के पठानकोट और लुधियाना में दो लोगों ने आत्महत्या कर ली। लुधियाना में ईएसआई अस्पताल में भर्ती युवक ने दूसरी मंजिल से छलांग लगा जान दे दी। वहीं पठानकोट में व्यक्ति ने फंदा लगा खुदकुशी की है।

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर - फोटो : सोशल मीडिया
विज्ञापन

विस्तार

पंजाब के लुधियाना में पिछले दो तीन दिन से ईएसआई अस्पताल में दाखिल कुंदनपुरी इलाके के रहने वाले कुलदीप सिंह  (32) ने शनिवार सुबह अस्पताल की छत से कूद कर जान दे दी। कुलदीप सिंह अस्पताल की दूसरी मंजिल से नीचे कूद गया। उसके कूदने के बाद वहां लोगों ने उसे अंदर पहुंचाया लेकिन उसकी मौत हो चुकी थी। प्रबंधकों ने तुरंत इसकी जानकारी पुलिस को दी। सूचना मिलने के बाद थाना डिविजन पांच की पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने जांच के बाद शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया है। 



थाना डिविजन पांच में तैनात सब इंस्पेक्टर भीषम देव ने बताया कि कुलदीप सिंह शराब पीने का आदी था। परिवार वाले उसे शराब पीने से रोकते थे। उसकी पिछले कुछ दिनों से तबीयत ठीक नहीं थी। उसे कोई भी खाने की चीज हजम नहीं हो पा रही थी। इस कारण उसकी हालत ज्यादा खराब थी। परिवार वालों ने दो तीन दिन पहले उसे अस्पताल में दाखिल करवा दिया। 


शुक्रवार को वह अस्पताल से भागने की कोशिश में था। अस्पताल प्रबंधकों ने इस बारे में उसके परिवार वालों को बता दिया। किसी तरह से परिवार वाले उसे रोके थे। शनिवार की सुबह वह नींद से जागा और कुछ देर बाद बाथरूम जाने के बहाने बाहर चला गया। बाहर जाकर वह दूसरी मंजिल से नीचे कूद गया और उसकी मौके पर ही मौत हो गई। एसआई भीषम देव ने बताया कि परिवार के बयान के बाद पुलिस ने 174 की कार्रवाई कर दी है और पोस्टमार्टम करवाकर शव परिवार को सौंप दिया जाएगा। 

पठानकोट: नाजोचक्क में व्यक्ति ने फंदा लगाकर दी जान
उधर, पठानकोट के गांव नाजोचक्क में एक व्यक्ति ने घर में पंखे से फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतक की पहचान गांव नाजोचक्क निवासी रफीक मोहम्मद के तौर पर हुई है। पुलिस ने मृतक की पत्नी के बयान पर मामला दर्जकर शव का सिविल अस्पताल में पोस्टमार्टम करवाया। गांव नाजोचक्क निवासी निशा बीबी ने पुलिस को बताया कि उसका पति रफीक मोहम्मद पिछले कुछ समय से दिमागी तौर पर परेशान चल रहा था और इससे पहले भी उसने दो बार फंदा लगाने की कोशिश की थी। दो दिसंबर की रात को वह घर के बरामदे में रोटी बना रही थी। वह अंदर गई तो देखा कि उसके पति रफीक मोहम्मद ने पंखे से फंदा लगाया था। उसने शोर मचाया तो सारा परिवार वहां पहुंचा। उन्होंने रफीक को फंदे से उतारा और निजी अस्पताल लेकर पहुंचे। वहां रफीक की उपचार के दौरान मौत हो गई। 

विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00