सियासत: राघव चड्ढा का सीएम चन्नी पर कटाक्ष, कहा- मुख्यमंत्री नहीं कैंपेन मंत्री, मूल मंत्र है लाइट-कैमरा बट नो एक्शन

अमर उजाला ब्यूरो, चंडीगढ़ Published by: भूपेंद्र सिंह Updated Fri, 22 Oct 2021 10:12 PM IST

सार

पंजाब में 2022 विधानसभा चुनाव को लेकर आम आदमी पार्टी सक्रिय नजर आ रही है। जहां एक ओर मुख्यमंत्री चन्नी के जनता के बीच जाकर काम करने के फोटो वायरल हो रहे हैं, तो दूसरी ओर अन्य पार्टियां इसे दिखावा बता रही हैं।
चंडीगढ़ पार्टी मुख्यालय में मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी की पीड़ित किसानों के साथ फोटो दिखाते पंजाब में पार्टी के सह प्रभारी राघव चड्ढा।
चंडीगढ़ पार्टी मुख्यालय में मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी की पीड़ित किसानों के साथ फोटो दिखाते पंजाब में पार्टी के सह प्रभारी राघव चड्ढा। - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय नेता एवं पंजाब मामलों के सह-प्रभारी व दिल्ली से विधायक राघव चड्ढा ने कहा कि मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी को लाइट और कैमरा तो पसंद है, लेकिन वह नो एक्शन वाले सीएम हैं। मुख्यमंत्री चन्नी ने गुलाबी सुंडी से प्रभावित क्षेत्र का दौरा कर बठिंडा के दो किसानों के साथ फोटो खिंचवाई और उन तस्वीरों को पंजाब भर में दीवारों पर, बसों के पीछे व बस स्टैंड और रेलवे स्टेशन समेत अन्य जगहों पर लगे होर्डिंग पर लगवा प्रचार-प्रसार तो खूब किया, लेकिन उन किसानों को मुआवजा अब तक नहीं मिला।
विज्ञापन


चंडीगढ़ पार्टी मुख्यालय में शुक्रवार को राघव चड्ढा ने रोपड़ से विधायक अमरजीत सिंह संदोआ, पार्टी के जनरल सेक्रेटरी हरचंद सिंह बरसट, प्रवक्ता जगतार सिंह संघेड़ा व दत्तसन्नी अहलूवालिया के साथ प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि कैमरे के शौकीन व विज्ञापन के दीवाने ड्रामेबाज मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने किसानों को जबरदस्ती झप्पी डाली लेकिन मुआवजे के नाम पर उन्हें धोखा दिया।


बताया कि गुलाबी सुंडी से प्रभावित किसान सरदार बलविंदर सिंह खालसा को झप्पी तो डाली, लेकिन मुआवजे के नाम पर उन्हें एक फूटी कौड़ी तक नहीं दी। बलविंदर सिंह खालसा भी अब कहने लगे हैं कि तुझे तो मुख्यमंत्री ने झप्पी डाली थी, अब तू ही हमें मुआवजा दिलवा।

राघव चड्ढा ने कहा कि मुख्यमंत्री चन्नी ने दूसरे किसान हरप्रीत सिंह की फोटो को भी हर बस के पीछे लगाकर चुनाव के लिए खूब प्रचार-प्रसार किया, लेकिन सरकार ने उनकी भी कोई मदद नहीं की। चन्नी मुख्यमंत्री नहीं बल्कि कैंपेन मंत्री हैं। मुख्यमंत्री चन्नी को फिल्म की शूटिंग की तरह लाइट और कैमरा तो पसंद है, लेकिन एक्शन पसंद नहीं है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री चन्नी भी कैप्टन अमरिंदर सिंह की राह पर निकल पड़े हैं। क्योंकि कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी मुख्यमंत्री रहते समय किसानों का कर्ज माफी का अभियान चलाकर किसान बुद्ध सिंह के साथ फोटो खिंचवाई थी, जिस पर करीब ढाई लाख रुपये का कर्ज था, लेकिन उस कर्ज को भी माफ नहीं किया गया था।

यह भी पढ़ें : अमृतसर: गैंगस्टर जग्गू का करीबी बता डॉक्टर से मांगी एक करोड़ की रंगदारी, पुलिस को बताने पर नतीजे भुगतने की धमकी

आम आदमी पार्टी ने मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी से मांग की है कि गुलाबी सुंडी से प्रभावित हर किसान को 75 हजार रुपये प्रति एकड़ के हिसाब से मुआवजा दिया जाए और भूमिहीन किसान-मजदूर को 25 हजार रुपये प्रति एकड़ के हिसाब से मुआवजा राशि प्रदान की जाए। राघव चड्ढा ने कहा कि मालवा क्षेत्र में मानसा से मोड़ तक और सरदूलगढ़ से तलवंडी तक एक लाख हेक्टेयर से अधिक जमीन पर कपास की फसल खराब हुई है।

राघव चड्ढा ने कहा कि किसानों की फोटो की नुमाइश करके वोट नहीं मिलती, मुआवजा देकर और काम करके वोट मिलती है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री चन्नी ने किसानों का इस्तेमाल यूज एंड थ्रो की नीति से किया, जो बड़ा दुखदायी है। राघव चड्ढा ने मुख्यमंत्री चन्नी से कहा कि वह अपनी ड्रामेबाज की छवि से उबरकर काम पर ध्यान दें, नहीं तो जैसे कैप्टन का पतन हुआ, पंजाब का किसान चन्नी को भी कुर्सी से हटा देगा।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00