बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW
विज्ञापन
विज्ञापन
SBI भर्ती 2021: शुरू होने वाली है भारतीय स्टेट बैंक में क्लर्क भर्ती, ऐसे करें तैयारी
Safalta

SBI भर्ती 2021: शुरू होने वाली है भारतीय स्टेट बैंक में क्लर्क भर्ती, ऐसे करें तैयारी

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

गर्व : चंडीगढ़ की शूटर गौरी श्योराण बनीं ग्लोबल एंबेसडर, अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर मिला सम्मान

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर चंडीगढ़ की शूटर गौरी श्योराण को इंटरनेशनल वुमन क्लब ने 2021 का ग्लोबल एंबेसडर नियुक्त किया है। एक ऑनलाइन कार्यक्रम में चेक...

8 मार्च 2021

विज्ञापन
Digital Edition

शोक : रेजांगला युद्ध के हीरो कैप्टन रामचंद्र का निधन, 1300 चीनियों का धूल चटा जिंदा लौटा था अहीरवाल का वीर 

1962 में लद्दाख में चुशुल घाटी की 18 हजार फुट ऊंची रेजांगला पोस्ट पर चीनी सेना को धूल चटाने वाले वीर चक्र विजेता रेवाड़ी के गांव मंदौला निवासी कैप्टन रामचंद्र का निधन हो गया है। अपने पैतृक गांव मंदोला में 13 अप्रैल को उन्होंने 92 साल की उम्र में अंतिम सांस ली। कैप्टन रामचंद्र वे योद्धा थे जो चीन के हजारों सैनिकों से लड़कर जीवित लौटे थे। अहीरवाल के वीर के निधन पर अनेक सामाजिक संगठनों व राजनीति दलों के लोगों की ओर से श्रद्धांजलि दी गई। 1962 के भारत-चीन युद्ध में 13 कुमाऊं यूनिट का एक दस्ता रेजांगला पोस्ट पर तैनात था। अल सुबह भारी मात्रा में हथियारों के साथ चीनी सेना के 5-6 हजार जवानों ने लद्दाख पर हमला बोल दिया था। मेजर शैतान सिंह के नेतृत्व वाली 13 कुमाऊं की एक टुकड़ी चुशुल घाटी की हिफाजत के लिए रेजांगला पोस्ट पर तैनात थी। ... और पढ़ें
रेजांग ला युद्ध के हीरो कैप्टन रामचंद्र का निधन। रेजांग ला युद्ध के हीरो कैप्टन रामचंद्र का निधन।

आंदोलन: दुष्यंत चौटाला ने पीएम मोदी को लिखी चिट्ठी, कहा- किसानों से दोबारा शुरू करें बातचीत

हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला किसान आंदोलन के लंबा खिंचने से चिंतित हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी है। चौटाला ने प्रधानमंत्री को लिखी चिट्ठी में आंदोलनकारी किसानों से दोबारा बातचीत शुरू करने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा है कि इसके लिए 3-4 वरिष्ठ मंत्रियों की समिति बनाई जाए जो किसान नेताओं से दोबारा बातचीत शुरू करे।

दुष्यंत का मानना है कि किसान आंदोलन का लंबा चलना चिंता का विषय है। दिल्ली सीमा पर बैठा किसान हमारा अन्नदाता है। बातचीत से हर समस्या का हल संभव है। किसानों की मांगों का सौहार्दपूर्ण समाधान होना चाहिए।



डिप्टी सीएम ने चिट्ठी में प्रधानमंत्री को गेहूं खरीद के बारे में भी जानकारी दी है। उन्होंने बताया है कि रबी की 6 फसलों को हरियाणा में एमएसपी पर खरीदा जा रहा है। दुष्यंत से पहले किसानों से बातचीत करने के लिए गृह मंत्री अनिल विज भी केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर को पत्र लिख चुके हैं। उन्होंने कोरोना के मद्देनजर नए सिरे से आंदोलनकारी किसानों से बातचीत शुरू करने की मांग की थी। 

इससे पहले हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने भी रविवार को केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को पत्र लिखा था। उन्होंने लिखा था कि एक बार फिर से आंदोलन पर बैठे किसानों से बात की जाए। अनिल विज ने कहा कि कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच उन्हें किसानों के स्वास्थ्य की भी चिंता है, क्योंकि आंदोलन में कोरोना गाइडलाइंस का पालन नहीं हो रहा है। ... और पढ़ें

दुखद : सात साल से कोमा में पड़े भाई और मां को दिया जहर, फिर खुद भी खा लिया, गरीबी ने खत्म किया पूरा परिवार  

मोहाली : नाइट कर्फ्यू में कार लेकर निकले थे घर से, वाहन हुए जब्त, पैदल आना पड़ा घर

मोहाली में नाइट कर्फ्यू तोड़कर घर से निकलने वालों और कोरोना गाइड लाइन का पालन न करने वाले लोगों पर प्रशासन सख्त हो गया है। शुक्रवार-शनिवार को एक तरफ जहां मास्क न पहने वाले 366 लोगों के चालान किए गए। वहीं नाइट कर्फ्यू में बिना किसी वजह घर से निकले 66 लोगों के वाहनों को पुलिस ने जब्त किया है। वाहन जब्त होने के बाद लोगों को पैदल घर जाना पड़ा।

इसके साथ ही 15 लोगों पर केस दर्ज किया गया है। यह जानकारी खुद डीसी मोहाली गिरीश दियालन ने दी। उन्होंने इस बारे में एक ट्वीट भी किया है। साथ ही इस जानकारी को सरकार और पुलिस के साथ भी शेयर किया है। डीसी ने साफ किया है कि किसी को भी नियम तोड़ने की अनुमति नहीं दी जाएगी।


मोहाली में कोरोना संक्रमण का ग्राफ बढ़ रहा है। कोरोना से मौत मामलों में मोहाली ट्राइसिटी में टॉप पर बना हुआ है। इतना ही नहीं केंद्र से आई टीम ने भी जिला प्रशासन द्वारा कोविड संबंधी किए गए इंतजामों को नाकाफी बताया था। इसके बाद से जिला प्रशासन एक्टिव मोड में आ गया है। 

शुक्रवार को डीसी गिरीश दियालन और एसएसपी सतिंदर सिंह इकट्ठे पूरे शहर में निकले थे। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए थे कि कोरोना गाइडलाइन का पालन न करने वालों को माफ न किया जाए। ऐसे लोगों के सीधे चालान किए जाएं। साथ ही कर्फ्यू के दौरान जो वाहन सड़कों पर बिना किसी वजह से घूमते हैं, उन्हें जब्त किया जाए। साथ ही मार्केटों के पास स्पेशल नाके लगाए जाए।  

इसके बाद से जिले के सभी थानों की टीमें पूरी तरह से सक्रिय थी। सभी थानों की पुलिस ने अपने एरिया में कार्रवाई की है। इस दौरान कुछ इलाकों में नौ बजे के बाद दुकाने भी खुली मिली हैं, उनके मालिकों पर केस दर्ज किया है। डीसी ने कहा कि हमारा उद्देश्य किसी को तंग या परेशान करना नहीं है। इस बीमारी को मात देने के लिए सख्ती करनी पड़ रही है। उन्होंने कहा कि अगर लोग इस स्थिति में सहयोग देंगे तो हम जल्दी ही इस महामारी पर फतेह हासिल कर लेंगे।
... और पढ़ें

चंडीगढ़ : हरियाणा के चीफ सेक्रेटरी के घर में जबरन घुस रही थी महिला, रोकने पर हंगामा, गिरफ्तार

नाइट कर्फ्यू का उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई की जानकारी देते डीसी गिरीश दियालन।
हरियाणा के चीफ सेक्रेटरी विजय वर्धन के कोठी में एक महिला ने जबरन घुसने का प्रयास किया। मामला चंडीगढ़ के सेक्टर 7 का है। महिला को कोठी में जबरदस्ती घुसते देख सुरक्षाकर्मियों ने उसे रोकना चाहा, लेकिन महिला ने हंगामा शुरू कर दिया। इसके बाद मामले की सूचना पुलिस को दी गई। सेक्टर 26 थाना पुलिस ने महिला को गिरफ्तार कर लिया है।  

जानकारी के अनुसार, हरियाणा के चीफ सेक्रेटरी विजय वर्धन को चंडीगढ़ के सेक्टर 7 में कोठी नंबर 20 अलॉट की गई है। शनिवार सुबह करीब साढ़े सात बजे एक महिला उनके कोठी के बाहर आकर खड़ी हो गई। इसके बाद वह अंदर जाने का प्रयास करने लगी। इस दौरान सुरक्षाकर्मियों ने उसे रोकने की काफी कोशिश की लेकिन महिला कोठी में जाने को लेकर अड़ी रही। सुरक्षाकर्मी को धक्का देकर महिला मुख्य गेट पार कर अंदर भी घुस गई जिसके बाद सुरक्षाकर्मियों ने उसे कोठी के बाहर निकाला। 

इसके बाद महिला कोठी की दीवार फांद कर अंदर घुसने की कोशिश करने लगी। इस पर पुलिस को सूचना दी गई। सूचना पर पहुंची सेक्टर 26 थाना पुलिस ने महिला को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उसने बताया कि वह हरियाणा के झज्जर की रहने वाली है। पुलिस ने चीफ सेक्रेटरी विजय वर्धन के कोठी की सुरक्षा में तैनात हरियाणा पुलिस के कांस्टेबल पंकज कुमार की शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया है। दूसरी तरफ, पुलिस महिला से कोठी में घुसने के बारे में पूछताछ कर रही है।
... और पढ़ें

गुमनामी : आखिरी वक्त में अपने सितारे को भूले पंजाबी, अभिनेता सतीश कौल के भोग में भी दिखे चंद ही लोग 

पॉलीवुड में 300 से ज्यादा फिल्मों में किरदार निभाने वाले अभिनेता सतीश कौल का भोग समागम शुक्रवार लुधियाना के मॉडल टाउन गुरुद्वारा साहिब में रखा गया था। समागम में परिवार की ओर से उनकी केयर टेकर सत्या देवी, उनके बेटे और दो-चार करीबी लोग ही पहुंचे।

अंतिम समय में गुमनामी के दौर से गुजरने वाले कौल के अंतिम संस्कार में भी तीन से चार लोग ही पहुंचे थे। हालांकि उस समय मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की ओर से पीएमआईडीबी के चेयरमैन केके बाबा उन्हें श्रद्धांजलि देने पहुंचे थे, लेकिन शुक्रवार को भोग समागम में कोई बड़ा नाम नहीं पहुंचा। 


अभिनेता सतीश कौल को पॉलीवुड का अमिताभ बच्चन कहा जाता था। उन्होंने पंजाबी सहित कई हिन्दी फिल्मों में अभिनय किया था। इसके अलावा बॉलीवुड के कई दिग्गज सितारों के साथ भी वे अभिनय कर चुके हैं। बीते कुछ समय वे बीमार चल रहे थे और गुमनामी के दौर में लुधियाना में रह रहे थे। कुछ समय वे वृद्धाश्रम में भी रहे। इस बीच उन्होंने आर्थिक हालत खराब होने के चलते लोगों से मदद की गुहार लगाई, तो वे एकाएक चर्चा में आए। 

पिछले कुछ सालों से वे दुगरी स्थित किराये के घर में अपनी फैन सत्या देवी के साथ रह रहे थे। वही उनकी केयर टेकर थीं। बीमारी के चलते उन्हें लुधियाना के एक चैरिटेबल अस्पताल में भर्ती कराया गया तो वहां उन्हें कोरोना संक्रमित पाया गया। इसके बाद 10 अप्रैल को उन्होंने अंतिम सांस ली। अगले दिन कोरोना गाइड लाइन के अनुसार उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया। उनकी आत्मिक शांति के लिए 16 अप्रैल को भोग समागम रखा गया था, जिसमें चंद लोग ही पहुंचे।
... और पढ़ें

चंडीगढ़ में वीकेंड लॉकडाउन शुरू : पहले दिन सख्ती रही कम, कहीं पसरा सन्नाटा, कहीं उड़ी नियमों की धज्जियां 

कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण शुक्रवार शाम को प्रशासन ने वीकेंड लॉकडाउन की घोषणा की थी। शुक्रवार रात 10 बजे से लगा लॉकडाउन सोमवार सुबह पांच बजे तक रहेगा। शनिवार को वीकेंड लॉकडाउन के पहले दिन सिटी ब्यूटीफुल में कहीं सन्नाटा पसरा रहा तो कहीं नियमों की सरेआम धज्जियां उड़ी। हमेशा गुलजार रहने वाला सेक्टर 17 सुनसान दिखा वहीं सेक्टर 26 की अनाज मंडी में लोगों की भीड़ उमड़ आई। 
पहले दिन सड़कों पर पुलिस का पहरा कम दिखाई दिया, लेकिन चंडीगढ़ के मुख्य स्थान जैसे सुखना लेक, विभिन्न पार्क और बाजार में लॉकडाउन का असर बखूबी देखने को मिला। सुखना लेक पर शनिवार को कोई भी सैर करने नहीं पहुंचा। इस दौरान जो कुछ लोग पहुंचे थे, उन्हें समझा-बुझाकर वापस भेज दिया गया। 

शहर के एंट्री पॉइंट पर भी पुलिस की तरफ से कोई सख्ती नहीं दिखाई दी। सड़कों पर गाड़ियों की संख्या कम रही। शहर की विभिन्न अंदरूनी बाजार बंद रहे लेकिन गांव और कॉलोनियों में दुकानें खुली रहीं। पुलिस की पेट्रोलिंग भी पिछली बार के मुकाबले बेहद कम है। सूचना मिलती रही कि शहर के विभिन्न इलाकों में कई निजी दफ्तर भी खोले गए हैं। इसके अलावा इंडस्ट्रियल एरिया फेस वन और 2 में कई फैक्ट्रियां, जिन्हें बंद करने का आदेश जारी किया गया है, भी खुली नजर आई। 

यूटी प्रशासक के सलाहकार मनोज परिदा की तरफ से जारी आदेश में लोगों को घर में रहने की सलाह दी गई है। अप्रैल के महीने में कई शादियां हैं, इसलिए प्रशासन ने लॉकडाउन के दौरान भी शादियों की मंजूरी दी है। हालांकि शादी समारोह में शामिल होने वाले लोगों की संख्या को कम कर दिया गया है। पहले खुले एरिया में 200 लोगों की मंजूरी थी, जिसे अब 100 कर दिया गया है जबकि हॉल में पहले अधिकतम 100 लोगों की मंजूरी थी, जिसे घटाकर 50 कर दिया है। 
... और पढ़ें

बेरहमी : घर में सो रहे बुजुर्ग की हत्या कर सिर काट कर ले गए हत्यारे, घरवालों को भनक तक नहीं लगी

पंजाब के फरीदकोट में शनिवार को दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई। फरीदकोट के थाना सादिक गांव दीप सिंह वाला में घर में सो रहे एक बुजुर्ग की हत्या कर दी गई। इसके बाद आरोपी उसका सिर काटकर अपने साथ ले गए। मृतक की पहचान हरपाल सिंह संधू उर्फ भाला के रूप में हुई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। 

जानकारी के अनुसार, गांव दीप सिंह वाला में 65 वर्षीय हरपाल संधू शुक्रवार रात अपने घर में सोया था। शनिवार सुबह हरपाल के घरवाले जागे तो देखा कि वह जमीन पर पड़ा था और उसके पास खून फैला था। पास जाकर देखा तो हरपाल के शरीर से उसका सिर गायब था। 

मामले की सूचना पुलिस को दी गई। आरोपियों ने पहले तेजधार हथियार से हरपाल का सिर कलम किया और बाद में वह सिर को अपने साथ ले गए। घटना की जानकारी मिलते ही गांव में सनसनी फैल गई। थाना सादिक पुलिस समेत फरीदकोट जिले के आला अधिकारी मौके पर पहुंच चुके हैं और पूरे मामले की पड़ताल की जा रही है। 

पुलिस के अनुसार हरपाल सिंह संधू शुक्रवार रात भी रोज की तरह अपने घर में सो गया था। शनिवार सुबह जब परिवार के सदस्य उठे तो उन्हें मामले की जानकारी हुई। फिलहाल घटना के कारणों का कुछ पता नहीं चल पाया है और पुलिस की तरफ से परिवार के सदस्यों समेत गांववासियों से पूछताछ की जा रही है। 
... और पढ़ें

योजना पर विवाद : गेहूं खरीद पर पड़ रहा डीबीटी मुद्दे का असर, एफसीआई नहीं दिखा रही खरीद में रुचि

डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (डीबीटी) योजना को लेकर केंद्र और राज्य सरकार की लड़ाई का असर अब पंजाब में गेहूं खरीद पर दिखने लगा है। गेहूं खरीद का काम करने वाली केंद्रीय एजेंसी एफसीआई गेहूं खरीद में रुचि नहीं दिखा रही है। एजेंसी एक सप्ताह में सिर्फ 47514 मीट्रिक टन गेहूं की खरीद कर पाई है, जबकि इसके मुकाबले राज्य की क्रय एजेंसियां पांच गुना तक खरीद कर चुकी हैं।

पंजाब में गेहूं की खरीद 10 अप्रैल को शुरू हुई थी, जबकि दूसरे राज्यों में यह 1 अप्रैल को शुरू हुई थी। हालांकि खरीद के दौरान आढ़तियों ने अपने पुराने बकाए लगभग 150 करोड़ रुपये दिए जाने और अन्य मांगों को लेकर हड़ताल शुरू कर दी थी, लेकिन मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर के आश्वासन पर आढ़तियों ने अपनी हड़ताल को वापस ले लिया था। इसके बाद डीबीटी मुद्दे को लेकर केंद्र और पंजाब सरकार आमने-सामने आ गईं थीं।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X