IPL 2022 Retention Analysis: मुंबई ने ईशान को छोड़ा तो हैदराबाद ने सबसे ज्यादा गलतियां कीं, जानिए किस टीम से कहां हुई चूक

स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: शक्तिराज सिंह Updated Wed, 01 Dec 2021 07:24 PM IST

सार

आईपीएल 2022 में सभी आठ टीमों ने रीटेन किए गए खिलाड़ियों की लिस्ट जारी कर दी है। इसमें कुछ टीमों से गलतियां भी हुई हैं और उन्होंने अपने अहम खिलाड़ियों को टीम में शामिल नहीं किया है। यहां हम बता रहे हैं कि किस टीम से क्या गलती हुई है।
राशिद खान, ईशान किशन और बेन स्टोक्स को टीम में शामिल न करना आईपीएल टीमों को महंगा पड़ सकता है
राशिद खान, ईशान किशन और बेन स्टोक्स को टीम में शामिल न करना आईपीएल टीमों को महंगा पड़ सकता है - फोटो : सोशल मीडिया
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

आईपीएल 2022 में दो नई टीमें शामिल हो चुकी हैं और अब यह टूर्नामेंट 10 टीमों के साथ खेला जाएगा। जनवरी में मेगा ऑक्शन होगा और सभी फ्रेंचाइजी खिलाड़ियों को खरीदकर अपनी नई टीम तैयार करेंगी। इससे पहले पुरानी आठ टीमों को अपनी पुरानी टीम से अधिकतम चार खिलाड़ियों को रीटेन करने की छूट दी गई थी और सभी टीमों ने अपने रीटेन खिलाड़ियों की लिस्ट जारी कर दी है। सभी आठ टीमें अधिकतम 32 खिलाड़ियों को रीटेन कर सकती थीं, लेकिन 27 खिलाड़ियों की ही रीटेन किया गया है। 
विज्ञापन


पंजाब ने लोकेश राहुल और हैदराबाद ने वार्नर, राशिद खान जैसे खिलाड़ियों को रीटेन नहीं किया है। यह इन टीमों की बड़ी गलती हो सकती है। इसके अलावा, बेन स्टोक्स, श्रेयस अय्यर और चहल को छोड़ना भी गलत फैसला हो सकता है। 


पंजाब ने दो खिलाड़ी रीटेन किए, राहुल और शमी को छोड़ा
पंजाब किंग्स के कप्तान केएल राहुल पिछले चार सालों से शानदार फॉर्म में हैं और अपनी टीम की बल्लेबाजी को अपने दम पर चला रहे थे। उन्होंने इस साल भी खूब रन बनाए थे। इसके बावजूद पंजाब की टीम उनके साथ सही करार नहीं कर पाई और उन्हें रिलीज कर दिया गया। मयंक और अर्शदीप को टीम के साथ बनाए रखना तो ठीक था, लेकिन बाकी दो जगहों पर पूरन, गेल, मोहम्मद शमी और रवि बिश्नोई जैसे खिलाड़ियों को रखा जा सकता था। सिर्फ दो खिलाड़ियों को रीटेन करने का फैसला पंजाब की टीम पर भारी पड़ सकता है। 

बैंगलोर ने चहल, हर्षल पटेल और भरत को छोड़ा
बेंगलोर की टीम ने मेगा ऑक्शन से पहले विराट, मैक्सवेल और मोहम्मद सिराज को रीटेन कर लिया है, लेकिन चौथे खिलाड़ी को रीटेन नहीं किया। वहीं चहल, हर्षल पटेल और श्रीकर भरत जैसे खिलाड़ियों को इस टीम ने छोड़ दिया। चहल मौजूदा समय में भारत के सबसे बेहतरीन लेग स्पिनर हैं और हर्षल पटेल आईपीएल 2021 में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज थे। वहीं भरत ने उभरते हुए खिलाड़ी हैं और इस आईपीएल में उन्होंने अपनी क्षमता दिखाई थी। इसके बावजूद पंजाब ने इन तीन में से किसी भी खिलाड़ी को अपनी टीम में नहीं रखा। यह फैसला चौकाने वाला था। काइन जेमीसन और वनिन्दु हसरंगा भी ऐसे खिलाड़ी थे, जिन्हें रीटेन किया जा सकता था। 

राजस्थान ने तीन खिलाड़ी रीटेन किए पर स्टोक्स को छोड़ा
राजस्थान की टीम ने कप्तान संजू सैमसन, विकेटकीपर जोश बटलर और ओपनर यशस्वी जायसवाल को रीटेन किया है। वहीं चौथे स्थान पर किसी खिलाड़ी को रीटेन नहीं किया गया है। इस टीम के पास बेन स्टोक्स और जोफ्रा आर्चर जैसे खिलाड़ियों को अपने साथ बनाए रखने का मौका था, लेकिन इन्होंने ऐसा नहीं किया। स्टोक्स और आर्चर नीलामी में काफी महंगे साबित हो सकते हैं और बाद में राजस्थान की टीम को इस पर पछतावा भी हो सकता है। 

मुंबई में किशन की जगह सूर्यकुमार क्यों
मुंबई इंडियंस की टीम ने मेगा ऑक्शन से पहले रोहित, बुमराह, पोलार्ड और सूर्यकुमार यादव को रीटेन किया है। वहीं हार्दिक और ईशान किशन जैसे खिलाड़ियों को छोड़ दिया है। हर टीम अधिकतम चार खिलाड़ी ही रीटेन कर सकती थी। इस लिहाज से रोहित, बुमराह और एक विदेशी खिलाड़ी पोलार्ड को टीम से जोड़े रखने का फैसला तो सटीक था, लेकिन ईशान किशन को टीम में न लेना चौकाने वाला निर्णय है। ईशान भारत के उभरते हुए खिलाड़ी हैं और विकेटकींपिंग भी करते हैं। वो ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करने में माहिर हैं। वहीं सूर्यकुमार मध्यक्रम के बल्लेबाज हैं। मुंबई को अब अधिकतर मैच वानखेडे़ के मैदान में खेलने होंगे, जो किशन को रास आता है। इसलिए उन्हें छोड़ने का फैसला इस टीम को परेशान कर सकता है। 

हैदराबाद का मैंनेजमेंट सबसे खराब
आईपीएल 2022 की नीलामी से पहले हैदराबाद ने केन विलियमसन, अब्दुल समद और उमरान मलिक को रीटेन किया है। वहीं डेविड वार्नर, राशिद खान, खलील अहमद, मोहम्मद नबी, जेसन होल्डर, मुजीब उर रहमान और जेसन रॉय जैसे खिलाड़ियों को छोड़ दिया गया है। हालांकि वार्नर और हैदराबाद के मैंनेजमेंट की बात पहले ही बिगड़ चुकी थी, पर टी-20 में दुनिया के सबसे बेहतरीन गेंदबाजों में से एक राशिद को यह टीम मना सकती थी। ऐसा नहीं किया गया। वहीं राशिद के न मानने पर मोहम्मद नबी, जेसन रॉय, जेसन होल्डर और मुजीब उर रहमान में से किसी एक खिलाड़ी को टीम में शामिल किया जा सकता था। वहीं अब्दुल समद और उमरान मलिक को रीटेन करना भी समझ से परे हैं, क्योंकि इन दोनों खिलाड़ियों के आंकड़े कुछ खास नहीं हैं। उमरान मलिक के पास गति जरूर है, लेकिन उनकी लाइन लेंथ बेहतर होने पर ही वो प्रभावी होंगे। सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में बल्लेबाजों ने आसानी से उनके खिलाफ रन बटोरे थे।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें क्रिकेट समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। क्रिकेट जगत की अन्य खबरें जैसे क्रिकेट मैच लाइव स्कोरकार्ड, टीम और प्लेयर्स की आईसीसी रैंकिंग आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00