Hindi News ›   Cricket ›   Cricket News ›   Pick up the phone and talk to each other says Kapil dev to virat kohli and BCCI

विराट-बीसीसीआई को नसीहत: कपिल देव ने कहा- देश पहले, फोन उठाओ और आपस में बात करो

स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: Rajeev Rai Updated Wed, 26 Jan 2022 01:20 AM IST

सार

भारतीय क्रिकेट में पिछले कुछ समय से सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। विराट कोहली के टी-20 और टेस्ट की कप्तानी छोड़ने और उन्हें वनडे की कप्तानी से हटाए जाने के प्रकरण से सभी हैरान हैं। टी-20 फॉर्मेट की कप्तानी छोड़ने को लेकर भी विराट कोहली और बीसीसीआई प्रमुख सौरव गांगुली के बयानों में विरोधाभास देखा गया।
विराट कोहली और सौरव गांगुली
विराट कोहली और सौरव गांगुली - फोटो : सोशल मीडिया
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

भारतीय क्रिकेट में पिछले कुछ समय से सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। विराट कोहली के टी-20 और टेस्ट की कप्तानी छोड़ने और उन्हें वनडे की कप्तानी से हटाए जाने के प्रकरण से सभी हैरान हैं। टी-20 फॉर्मेट की कप्तानी छोड़ने को लेकर भी विराट कोहली और बीसीसीआई प्रमुख सौरव गांगुली के बयानों में विरोधाभास देखा गया। दोनों के आपसी संबंध के बीच खटास की भी अटकलें हैं। इस पूरे मामले लगातार बयानबाजी हो रही है, लेकिन स्थिति पूरी तरह से साफ नहीं हो पाई है। इस बीच पूर्व भारतीय कप्तान कपिल देव ने भी तीखी प्रतिक्रिया दी है। 

विज्ञापन


उन्होंने कहा, "भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड और विराट कोहली को साथ बैठकर बात करनी चाहिए। इन दोनों को बीती बातें भुलाकर भारतीय क्रिकेट की बेहतरी के लिए काम करना चाहिए।"


कपिल देव का मानना है कि कोहली ने भले ही किसी भी वजह से कप्तानी से इस्तीफा दिया हो लेकिन यह देखते हुए कि उन्होंने भारतीय क्रिकेट में काफी योगदान दिया है और उनके फैसले का सम्मान किया जाना चाहिए। जब कोहली ने भारतीय टीम की कमान संभाली तो भारत आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में सातवें पायदान पर था। और यहां से अगले पांच साल में टीम को दुनिया की नंबर वन टीम बनाना और ऑस्ट्रेलिया, वेस्टइंडीज, श्रीलंका और इंग्लैंड में लगभग टेस्ट सीरीज जीतना, वे पैमाने हैं जो कोहली ने तय कर दिए हैं। और उनके उत्तराधिकारी  के लिए इन्हें लेकर चलना वाकई एक बड़ी चुनौती है।

कपिल ने द वीक मैगजीन को दिए साक्षात्कार में कहा, "आजकल आप बहुत ज्यादा चीजों से हैरान नहीं होते। जब उन्होंने टी-20 की कप्तानी छोड़ी, लगा कि शायद उनके दिमाग पर काफी जोर है। फिर हमने पढ़ा और सुना कि कोई नहीं चाहता था कि वह कप्तानी छोड़ें (तब भी और अब भी)। वह एक शानदार खिलाड़ी हैं, हमें उनके फैसले का सम्मान करना चाहिए।"

कपिल हालांकि नहीं जानते कि कोहली ने आखिर यह फैसला क्यों किया। देश के लिए पहला वर्ल्ड कप जीतने वाले कप्तान को लगता है कि विराट को बीसीसीआई के साथ थोड़ा अधिक संयमता से पेश आना चाहिए। इसके साथ ही, बाकी लोगों की तरह कपिल भी बल्लेबाज विराट को अपनी बेस्ट फॉर्म में लौटते देखना चाहते हैं।

कपिल ने कहा, 'यह मुद्दा उन्हें अपने बीच में ही सुलझा लेना चाहिए था। फोन उठाओ, एक-दूसरे से बात करो, देश और टीम को अपने से पहले रखो। शुरुआत में मुझे भी वह सब मिला, जो मुझे चाहिए था। लेकिन कई बार आपको कुछ भी नहीं मिलता। इसका मतलब यह नहीं कि आप कप्तानी छोड़ दो। अगर उन्होंने इस वजह से कप्तानी छोड़ी है तो मुझे नहीं पता कि क्या कहा जाए। वह एक लाजवाब खिलाड़ी है। मैं उन्हें बल्लेबाजी करते हुए और रन बनाते हुए देखना चाहता हूं। और वह भी खास तौर पर टेस्ट क्रिकेट में।"

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें क्रिकेट समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। क्रिकेट जगत की अन्य खबरें जैसे क्रिकेट मैच लाइव स्कोरकार्ड, टीम और प्लेयर्स की आईसीसी रैंकिंग आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00