लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Cricket ›   Cricket News ›   Indian Women's Cricketer Sushma Verma Exclusive Interview All You Need to Know Stats, Career and Biography

Sushma Verma Interview: सुषमा वर्मा बोलीं- मैं कोई युवा खिलाड़ी नहीं, मौका मिलते ही मैच जिताऊ पारी खेलूंगी

Shaktiraj Singh शक्तिराज सिंह
Updated Wed, 30 Nov 2022 07:33 PM IST
सार

सुषमा वर्मा ने बताया कि वह भारतीय टीम में वापसी के लिए तैयार हैं। टीम से अंदर बाहर होना हर खिलाड़ी के जीवन का हिस्सा है। उन्हें जब भी मौका मिलेगा वह भारतीय टीम के लिए मैच जिताऊ पारी खेलने के लिए तैयार हैं। 
 

सुषमा वर्मा
सुषमा वर्मा - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन

विस्तार

महिलाओं की टी20 चैलेंजर ट्रॉफी हाल ही में खत्म हुई है। भारत के इस घरेलू टूर्नामेंट का खिताब इंडिया डी की टीम ने अपने नाम किया। फाइनल में इंडिया डी का सामना इंडिया ए से था। 145 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए इंडिया डी ने तीन विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया। यास्तिका भाटिया ने नाबाद 80 रन की पारी खेल अपनी टीम की जीत में अहम योगदान दिया। उनके साथ दूसरे छोर पर सुषमा वर्मा 10 गेंद पर 13 रन बनाकर नाबाद रहीं। 


सुषमा लगभग डेढ़ साल से भारतीय टीम से बाहर चल रही हैं, लेकिन वापसी के लिए वह पूरी तरह से तैयार हैं। फाइनल मैच में अपनी टीम के लिए मैच खत्म करने वाली सुषमा को इस टूर्नामेंट में सिर्फ दो पारियों में ही बल्लेबाजी का मौका मिला। उन्होंने कुल 19 रन बनाए। इसमें फाइनल में खेली गई नाबाद 13 रन की पारी भी शामिल थी। इस टूर्नामेंट के बाद अमर उजाला से बातचीत में सुषमा ने कहा कि वह भारतीय टीम में वापसी के लिए तैयार हैं और मौका मिलने पर देश के लिए मैच जिताऊ पारी खेलेंगी। आइए जानते हैं उनके साथ बातचीत के कुछ खास अंश...

सुषमा वर्मा
सुषमा वर्मा - फोटो : सोशल मीडिया
सवालः अपने खेल में एक महिला होने के नाते आपके सामने क्या-क्या कठिनाइयां आईं?
जवाबः
आमतौर पर लड़कियों को ऐसा क्लब नहीं मिल पाता, जहां सिर्फ लड़कियों खेलती हों। उन्हें लड़कों के साथ खेलना पड़ता है, ड्रेसिंग रूम शेयर करना पड़ता है, लेकिन हिमाचल में यह सुविधा है। वहां लड़कियों के लिए अलग एकेडमी है और वहीं मुझे खेलने का मौका मिला। क्रिकेट के बैट से लेकर पैड और ग्लव्स तक सब कुछ मंहगा आता है। ऐसे में शुरुआत में अपने माता-पिता को यह समझाना मुश्किल होता है कि आप सही जगह पैसा खर्च कर रहे हैं, लेकिन मेरे माता-पिता ने काफी सपोर्ट किया। उन्होंने हर तरह से मेरी मदद की। 

सवालः समाज में लिंग के आधार पर जो भेदभाव होता है, उस पर आपके क्या विचार हैं?
जवाबः
घरवालों को काफी परेशानी होती है। पड़ोसियों के ताने सुनने पड़ते हैं। लड़की कहां जा रही है, क्या खेल रही है। हालांकि, जब आप अपने जीवन में कुछ हासिल कर लेते हैं तो ये चीजें मायने नहीं रखतीं। इसके बाद चीजें काफी आसान हो जाती हैं, लेकिन करियर की शुरुआत में ये चीजें ज्यादा परेशान करती हैं और जब आप इनका सामना कर रहे होते हैं तो चीजें काफी मुश्किल होती हैं।

सुषमा वर्मा
सुषमा वर्मा - फोटो : सोशल मीडिया
सवालः अगले साल से महिला आईपीएल की शुरुआत हो रही है, इससे भारतीय महिला क्रिकेट कितना बदलने वाला है?
जवाबः
पुरुषों के क्रिकेट में आप देख सकते हैं कि एक साथ दो टीमें खेल रही हैं। सभी खिलाड़ी बहुत प्रतिभाशाली हैं, एक साथ तीन टीमें खेल सकती हैं। इसके लिए आईपीएल ही जिम्मेदार है। आईपीएल आपको वह मंच देता है, जिससे आप अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों के साथ खेलते हैं और ड्रेसिंग रूम साझा करते हैं। इससे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अच्छा प्रदर्शन करने का आत्मविश्वास मिलता है। 

सवालः महिला खिलाड़ियों को विदेशी लीग में खेलने से भारत के बाहर जाकर अच्छा प्रदर्शन करने में कितनी मदद मिलती है?
जवाबः
हमारे देश की छह से सात खिलाड़ी विदेशी लीग में खेल रही हैं। वहां खेलने से वहां के हालात के साथ सामंजस्य बैठाने में मदद मिलती है। वहां की पिच के अनुसार अपने खेल को ढालने में मदद मिलती है। इसी वजह से हमारी टीम ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड जैसी टीमों को उनके घर में जाकर हराने में सफल हो रही है।

सुषमा वर्मा
सुषमा वर्मा - फोटो : सोशल मीडिया
सवालः आपने देश के लिए एक टेस्ट मैच खेला है। पहले महिला क्रिकेट में ज्यादा टेस्ट मैच नहीं होते थे, अब उनकी संख्या बढ़ी है। टेस्ट टीम में जगह बनाने के लिए आप क्या तैयारी कर रही हैं?
जवाबः
यह आईसीसी का फैसला होगा कि टेस्ट क्रिकेट की संख्या बढ़े या नहीं। हमारा भी सपना है कि पुरुषों की तरह टेस्ट क्रिकेट को बढ़ावा मिले और वहां हम अच्छा प्रदर्शन करें। उम्मीद है कि आगे ज्यादा टेस्ट मैच खेलने का मौका मिलेगा और वहां अच्छा प्रदर्शन करेंगे।

सवालः आपने भारत के लिए आखिरी मैच लगभग 1.5 साल पहले खेला था। अब भारतीय टीम में वापसी करने के लिए आप क्या खास तैयारी कर रही हैं? 
जवाबः
मैं लंबे समय तक भारतीय टीम का हिस्सा रही। इसके बाद टीम से बाहर हुई और वापसी की। अब फिर से वापसी के लिए तैयार हूं। मैं कोई युवा खिलाड़ी नहीं हूं। मेरे पास अनुभव है, लोगों ने मुझे खेलते देखा है। मेरे साथ ऐसा नहीं है कि मैं पहले मैच में दबाव में रहूंगी। जब भी मौका मिलता है मैं देश के लिए मैच जिताऊ पारी खेलने की कोशिश करूंगी। 

पिछले चार-पांच साल से आईओएस स्पोर्ट्स तैयारी में और करियर को आगे बढ़ाने में काफी मदद कर रहा है। इनके होने से आपको कोई चिंता नहीं होती है। आपको पता है कि ये लोग हर चीज को सही कर लेंगे। आप सिर्फ अपनी तैयारी और खेल पर ध्यान देते हैं इससे चीजें बेहतर होती हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें क्रिकेट समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। क्रिकेट जगत की अन्य खबरें जैसे क्रिकेट मैच लाइव स्कोरकार्ड, टीम और प्लेयर्स की आईसीसी रैंकिंग आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00