भाजपा महिला मोर्चा की बैठक: आगामी चुनावों के लिए तैयार किया प्लान, बढ़ेगा महिलाओं का प्रतिनिधित्व

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, देहरादून Published by: अलका त्यागी Updated Mon, 27 Sep 2021 11:30 PM IST

सार

Uttarakhand Election 2022:  भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष ने कार्यकर्ताओं से अपेक्षा कि वह संगठन में बिना किसी अपेक्षा के कार्य करें। हमें 33 प्रतिशत नहीं महिलाओं को 57% आरक्षण देना है।
भाजपा महिला मोर्चा की बैठक
भाजपा महिला मोर्चा की बैठक - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

आगामी विधानसभा चुनावों में महिलाओं का प्रतिनिधित्व बढ़ाने का प्रयास किया जाएगा। सोमवार को संपन्न हुई भाजपा महिला मोर्चा की राष्ट्रीय कार्यसमिति बैठक में यह आह्वान किया गया। साथ ही मोर्चा ने आगामी चुनाव में पार्टी की जीत सुनिश्चित करने के लिए जमीनी स्तर पर काम करने का संकल्प लिया।
विज्ञापन


सोमवार को कार्यसमिति के अंतिम दिन राजनीतिक प्रस्ताव पास किया गया। प्रेसवार्ता में राष्ट्रीय महामंत्री सुखप्रीत कौर ने बताया कि मोर्चा की कार्यकर्ता विधानसभा चुनाव-2022 में मोदी सरकार की उपलब्धियों से अपने पक्ष में माहौल बनाएंगी। मोर्चा ने राजनीतिक प्रस्तावों पर मुहर लगाते हुए सभी प्रदेशों के अध्यक्ष और महामंत्रियों को प्रत्येक महिला को केंद्र की योजनाओं का लाभ पहुंचाने का आह्वान किया। 


सोमवार को भाजपा महिला मोर्चा राष्ट्रीय कार्य समिति बैठक राष्ट्रीय अध्यक्ष वानीती श्रीनिवासन की अध्यक्षता में हुई। बैठक में मोर्चा के 37 संगठनात्मक प्रांतों के पदाधिकारियों ने हिस्सा लिया। राजनीतिक प्रस्ताव में केंद्र सरकार की महिलाओं के लिए शुरू की गई कल्याणकारी योजनाओं को गांव-गांव तक पहुंचाने और अधिकतम महिलाओं को इसका लाभ पहुंचाने की रणनीति पर जोर दिया गया। खासकर, ऐसे क्षेत्रों में मोर्चा की महिलाएं एक अभियान के स्तर पर इसे शुरू करेंगी, जहां अनभिज्ञता की वजह से महिलाएं योजनाओं का लाभ सही तरह से नहीं ले पा रही हैं।

कार्यसमिति ने कोरोना काल में असहाय लोगों की मदद में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेने सभी प्रदेश इकाइयों के अध्यक्षों की पीठ थपथपाई और सेवा ही समर्पण की भावना से चुनावी राज्यों में युद्धस्तर पर काम शुरू करने को कहा। मोर्चा की आगामी कार्यक्रमों की रणनीति भी तैयार की है, लेकिन इससे पहले इन फैसलों पर संगठन की सहमति ली जाएगी। महामंत्री सुखप्रीत कौर से जब विधानसभा चुनाव में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण देने का सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी महिलाओं का प्रतिनिधित्व बढ़ाने पर काम कर रही है। आने वाले समय में इसका असर भी नजर आएगा। 

इन योजनाओं पर मोर्चा करेगा काम
सबका साथ, सबका विकास, अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण, आयुष्मान भारत, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, मातृ गौरव और महिला सशक्तीकरण, उज्ज्वला योजना, पीएम आवास योजना, जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म करना, ट्रिपल तलाक उन्मूलन अधिनियम, कोरोना राहत, मुफ्त टीकाकरण, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना, सेवा ही संगठन, महिला सुरक्षा एवं अधिकार, आजादी का अमृत महोत्सव, पोषण अभियान, भारतीय सेना में महिलाओं को स्थायी कमीशन, कामकाजी महिलाओं को मातृत्व लाभ (संशोधन) विधेयक, टोक्यो ओलंपिक खेलों में महिलाओं का जलवा।

मोदी सरकार की नीतियों से सात साल में सशक्त हुई मातृशक्ति
भाजपा महिला मोर्चा कार्यसमिति की बैठक में केंद्रीय रेल राज्यमंत्री दर्शना जरदोष ने कहा कि हमें संयुक्त महिला टीम के रूप में कार्यों को करना होगा। भारतीय जनता पार्टी के पास सबसे बड़ा महिला मोर्चा का संगठन है, जो किसी दूसरे दल के पास नहीं है। महिला मोर्चा हर रसोई तक अपनी पहुंच रखती है और आकाश को पार करने की हिम्मत रखती है। सरकार की योजनाओं तक महिलाओं की आज पहुंच आसानी से बन रही है। आज भारतीय महिलाओं ने बड़ी संख्या में सेना, शासकीय कार्यों और राजनीति के क्षेत्र में अपना लोहा विश्व को मनवाया है।

उन्होंने कहा कि 21वीं सदी महिलाओं की सदी होगी और वह नेतृत्व करने में पूर्ण रूप से सक्षम होगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महिलाओं पर कई किताबें लिखी हैं, जो कि सभी भाषाओं में उपलब्ध हैं। जिससे कई महिलाओं के जीवन में सशक्तीकरण के लिए बदलाव आए। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड के मुख्यमंत्री की ओर से महालक्ष्मी योजना लाकर जिस प्रकार उनको आत्म बल देने का प्रयास किया है, वह आने वाले समय में एक उदाहरण के रूप में चर्चा का विषय बनेगा।

महिलाओं को सामर्थ्यवान और सबल बनाना चाहती है भाजपा

भारतीय जनता पार्टी देश की मातृशक्ति को सामर्थ्यवान और सबल बनाना चाहती है। भाजपा महिला मोर्चा की राष्ट्रीय कार्यसमिति के समापन पर राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने यह बात कही। दूसरी ओर राष्ट्रीय महामंत्री बीएल संतोष ने कहा कि सभी कार्यकर्ता निरपेक्ष भाव से संगठन के लिए काम करें।

राष्ट्रीय अध्यक्ष नड्डा ने कार्यसमिति को वर्चुअल माध्यम से संबोधित किया। उन्होंने कहा कि हमारा कार्यकर्ता इतना सामर्थ्यवान है कि उसे जो जिम्मेदारी सौंपी जाती है, उसको कर्मठता से निभाता है। मातृशक्ति ने जितनी राष्ट्र की सेवा की है, उतनी अन्य लोगों ने नहीं की होगी। कोरोना काल में मास्क बनाने का काम, भोजन व अन्य उपयोगी वस्तुओं की व्यवस्था मातृशक्ति ने की। मातृशक्ति का सम्मान सदैव आवश्यक है। 

इससे पूर्व राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष ने कार्यकर्ताओं से अपेक्षा कि वह संगठन में बिना किसी अपेक्षा के कार्य करें। हमें 33 प्रतिशत नहीं महिलाओं को 57% आरक्षण देना है। इसमें समय लगेगा। इस अवसर पर राष्ट्रीय महिला मोर्चा राष्ट्रीय अध्यक्ष वानीती श्रीनिवासन, राष्ट्रीय महिला मोर्चा महामंत्री इंदु बाला गोस्वामी, दीप्ति रावत, सुखप्रीत कौर, महिला मोर्चा के राष्ट्रीय प्रभारी दुष्यंत कुमार गौतम, राष्ट्रीय महामंत्री डी पुरंदेश्वरी, प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, महिला मोर्चा राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी नीतू दवास, महामंत्री (संगठन) अजेय, प्रदेश महामंत्री कुलदीप कुमार, सुरेश भट्ट, राजेंद्र भंडारी, रितु मित्रा आदि मौजूद रहे। 

मोदी सरकार में घट गए महिला अपराध
भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि मोदी सरकार ने लिंगानुपात से लेकर महिला अपराधों पर अंकुश लगाने में जोरदार काम किया है। जिससे भ्रूण हत्याएं कम हो गई हैं। उज्ज्वला योजना के दूसरे चरण में एक करोड़ नए गैस कनेक्शन दिए जाएंगे। 11 करोड़ शौचालय बनाकर सरकार ने महिलाओं को सम्मान और सुरक्षा देने का काम किया है। एक सर्वे के मुताबिक, शौचालय की वजह से 93 प्रतिशत महिलाएं यौन हमलों से सुरक्षित हैं। 91 प्रतिशत महिलाएं एक घंटे का समय बचा रही हैं, जो कि बाहर शौच के लिए जाने में लगता था। डायरिया के मामलों में कमी आई है। हमारी सरकार ने महिलाओं के उत्पीड़न के मामलों की फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई हुई और दोषियों को सजा मिली। 

हर भाजपा कार्यालय में 4-ई केंद्र खोलेगी भाजपा

महिलाओं के कदमों को मजबूत बनाने के लिए भारतीय जनता पार्टी अपने हर कार्यालय में 4-ई केंद्र खोलेगी। यह जानकारी भाजपा महिला मोर्चा की राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक में दी गई।  4-ई जीवन के सभी क्षेत्रों की महिलाओं के लिए उद्यमिता, रोजगार, शिक्षा और सशक्तीकरण में सहायता प्रदान करने के लिए एक महिला केंद्रित पहल है।

इससे देश के कोने-कोने तक मौजूद हर महिला तक पहुंचने का प्रयास किया जाएगा। 4-ई के तहत एजुकेशन (शिक्षा), एंटरप्रेन्योरशिप (उद्यमिता), इंप्लायमेंट (रोजगार) और इंपावरमेंट (सशक्तीकरण) में महिलाओं को सुविधा दी जाएगी। महिलाएं इन केंद्रों पर जाकर अपने सपनों को पंख लगा सकती हैं। जैसे-अगर कोई महिला अपना उद्यम स्थापित करना चाहती है तो 4-ई केंद्र के प्रतिनिधि उनकी प्रोजेक्ट रिपोर्ट से लेकर लोन तक की पूरी प्रक्रिया में मदद करेंगे।

राष्ट्रीय महिला मोर्चा सभी राज्य के स्वयंसेवकों के लिए कार्यशाला आयोजित करेगा। वेब आधारित और मोबाइल आधारित डिजिटल प्लेटफॉर्म का प्रबंधन करेगा। विभिन्न विभागों और मंत्रालयों से जुड़ेगा। इस मौके पर महिला मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष वानीती श्रीनिवासन, पूर्व राष्ट्रीय महिला मोर्चा अध्यक्ष कांता नरगाड़े, रेल राज्य मंत्री दर्शना जरदोष, प्रदेश राष्ट्रीय महिला मोर्चा महामंत्री सुप्रीत कौर, इंदु बाला गोस्वामी आदि पदाधिकारी मौजूद रहे। 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00