Hindi News ›   Uttarakhand ›   Dehradun ›   dussehra 2021: effigies of Ravana, Kumbhakaran and Meghnath do not burn here in Uttarakhand

दशहरा 2021: उत्तराखंड में यहां नहीं जलता रावण, कुंभकरण व मेघनाथ का पुतला, श्राप मुक्ति के लिए करते हैं ऐसा

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, साहिया Published by: Nirmala Suyal Nirmala Suyal Updated Wed, 13 Oct 2021 04:09 PM IST

सार

Dusshera 2021: देहरादून के जौनसार बावर जनजातीय क्षेत्र में अष्टमी के दिन रानी और मुन्नी दोनों बहनों की प्रतिमाओं को बनाकर पूजा जाता है और दशहरे के दिन जल में विसर्जित किया जाता है।
रावण दहन
रावण दहन - फोटो : पीटीआई
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

देश के कोने-कोने में भले ही दशहरे के दिन रावण, कुंभकरण, मेघनाथ के पुतल जलाने की परंपरा हो। लेकिन देहरादून के जौनसार बावर जनजातीय क्षेत्र के उदपाल्टा गांव में श्राप से मुक्ति के लिए दो बहनों की दूब की घास की प्रतिमाओं को बनाकर जल में विसर्जित करने की पंरपरा है।

विज्ञापन


होता है गागली युद्ध
अष्टमी के दिन रानी और मुन्नी दोनों बहनों की प्रतिमाओं को बनाकर पूजा जाता है और दशहरे के दिन जल में विसर्जित किया जाता है। उदपाल्टा गांव में दशहरे के दिन पांइथा पर्व मनाने की परंपरा है। श्राप से मुक्ति पाने के लिए आज भी उदपाल्टा व कुरोली गांव में गागली युद्ध होता है। जिसे देखने आसपास के गांवों से हजारों की संख्या में लोग आते हैं। 


बताया जाता है कि सदियों पहले उदपाल्टा गांव में एक परिवार में दो सगी बहनें रानी व मुन्नी थीं। जो रोज कुएं से पानी भरने जाती थी। पर एक दिन मुन्नी पैर फिसलने से कुएं में गिर गई। जिससे उसकी मौत हो गई। इसके लिए परिजनों ने रानी को जिम्मेदार ठहराया। ताने सुन रानी ने भी उसी कुएं में छलांग लगाकर अपनी जान दे दी।

दुर्गा अष्टमी पर विशेष: तीर्थनगरी हरिद्वार में यह नवदुर्गा कर रही अपराध रूपी दैत्य का संहार, तस्वीरें

कुछ दिन बाद दोनों बहनों का श्राप परिजनों पर लगने लगा। तब से श्राप से मुक्ति पाने के लिए उदपाल्टा व कुरोली गांव के लोगों द्वारा दोनों बहनों की दूब की घास की प्रतिमाएं बनाकर उसी कुएं में विसर्जित की जाती हैं। उनकी याद में दशहरे के दिन पाइंथा पर्व मनाते हैं। जिसमें दोनों गांवों के लोग गागली युद्ध करते हैं।

उदपाल्टा गांव के स्याणा राजेंद्र सिंह राय, पूरण सिंह राय, जालम सिंह, अमर सिंह, गुलाब सिंह आदि लोगों का कहना है कि की सदियां गुजर जाने के बाद भी दोनों गांवों के लोग श्रापमुक्ति के लिए इस पर्व को मनाते हैं। उन्होंने बताया कि आज सदियां बीतने के बाद दोनों बहनों के वंशज दोनों गांवों में विभाजित हो गए हैं। जो हर साल इस कार्य को करते हैं। उनका कहना है कि यह श्रापमुक्ति तब होगी जब दोनों गांवों में एक ही दिन एक ही समय पर बेटियां पैदा होंगी।

दशहरे पर होगा अहंकारी रावण का दहन 

वहीं विजयदशमी पर कांवली दशहरा कमेटी की ओर से देहरादून के साधुराम जूनियर हाई स्कूल जीएमएस रोड कांवली में दशहरा मेला आयोजित किया जाएगा। शहर के विभिन्न स्थानों पर रावण दहन होगा। इसके लिए पुतले तैयार किए जा रहे हैं। हालांकि इस बार कोरोना के चलते आयोजन भव्य नहीं होंगे। 

कांवली दशहरा कमेटी की ओर से शुक्रवार को छठा रावण दहन व दशहरा मेला साधुराम जूनियर हाई स्कूल जीएमएस रोड कांवली में आयोजित होगा। इस अवसर पर मुख्य अतिथि विधायक हरबंस कपूर मौजूद रहेंगे। बैठक में हुए कमेटी के चुनाव में ठाकुर शक्ति सिंह पुंडीर अध्यक्ष और विजेंदर थपलियाल, बबलू बंसल और मोनू राठौड़ उपाध्यक्ष चुने गए। आयोजन को लेकर संरक्षक अमित कपूर ने बताया कि दशहरा मेले के दौरान रावण दहन किया जाएगा।

प्रेमनगर में होगा 30 फिट ऊंचे पुतलों का दहन
धर्मशाला समिति प्रेमनगर एवं दशहरा कमेटी की ओर से 30 फिट ऊंचे रावण, मेघनाथ, कुंभकरण के पुतलों का दहन किया जाएगा। दशहरा कमेटी के मीडिया प्रभारी रवि भाटिया ने बताया कि कोरोना को देखते हुए इस वर्ष पुतलों की ऊंचाई कम रखी गई है। लंका 12 फिट रखी गई है। रावण दहन की परिक्रमा के लिए सिर्फ एक झांकी बनाई जाएगी। विजयदशमी पर प्रेमनगर दशहरा ग्राउंड में शाम 5:45 बजे लंका दहन और 6:05 रावण दहन होगा । 

13 साल के अमन ने तैयार किया रावण का पुतला 
धर्मपुर निवासी 13 साल के अमन चौहान ने आठ दिनों की मेहनत के बाद साढ़े छह फिट के रावण का पुतला तैयार किया है। अमन विगत चार वर्षों से विजयदशमी के लिए रावण का पुतला तैयार करते हैं। इसमें उन्हें अपने छोटी बहन और माता-पिता का सहयोग भी मिलता है। अमन ने बताया कि हमारे मोहल्ले में विजयदशमी पर कोई आयोजन नहीं होता था। ऐसे में दोस्तों की प्रेरणा से पुतला बनाना शुरू किया। पिता ऑटो चलाते हैं, लेकिन पुतला बनाने में आने वाले खर्च देते हैं।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00