लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttarakhand ›   Dehradun News ›   Uttarakhand Assembly winter session 2022 First day House adjourned thrice

उत्तराखंड विधानसभा सत्र: आखिर 30 मिनट के लिए कहां गायब हो गया था विपक्ष, तीन बार स्थगित हुआ सदन

अमर उजाला ब्यूरो, देहरादून Published by: अलका त्यागी Updated Tue, 29 Nov 2022 10:00 PM IST
सार

सदन की कार्यवाही 30 मिनट के लिए स्थगित करनी पड़ी। तब ये सवाल उठा कि आखिर 30 मिनट तक विपक्ष के अधिकांश विधायक कहां गायब हो गए? बाद में खुलासा हुआ कि वे सभी मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के पास पहुंचे थे।

विधानसभा सत्र
विधानसभा सत्र - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन

विस्तार

विधानसभा सत्र के दौरान सदन में उस समय अजीब स्थिति बन गई जब अध्यक्ष ऋतु खंडूड़ी भूषण सदन में पहुंचीं और वहां सत्ता पक्ष और विपक्ष के अधिकांश विधायक मौजूद नहीं थे। उनकी गैरमौजूदगी में उन्हें सदन की कार्यवाही 30 मिनट के लिए स्थगित करनी पड़ी। 



Uttarakhand Assembly Session:  पहले दिन सदन में पेश हुए 10 विधेयक और 5440 करोड़ का अनुपूरक बजट


तब ये सवाल उठा कि आखिर 30 मिनट तक विपक्ष के अधिकांश विधायक कहां गायब हो गए? बाद में खुलासा हुआ कि वे सभी मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के पास पहुंचे थे। नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य के नेतृत्व में विपक्षी विधायकों ने मुख्यमंत्री से विधायक विकास निधि के संबंध में दो अनुरोध किए।

उत्तराखंड विधानसभा सत्र: सीएम की घोषणाओं को वापस लेने के मुद्दे में गरमाया सदन, पढ़ें पहले दिन क्या रहा खास

उन्होंने विधायक विकास निधि को बढ़ाकर पांच करोड़ रुपये करने की मांग की। वर्तमान में यह 3.75 करोड़ रुपये है लेकिन सदस्यों को ये नाकाफी लग रही है। विधायकों ने दूसरा दर्द विधायक निधि के कार्यों को जीएसटी के दायरे से बाहर रखने का अनुरोध किया। मुख्यमंत्री ने विपक्षी सदस्यों की दोनों ही मांगों पर विचार करने का आश्वासन दिया। 

विधायक निधि पर सरकार करेगी विचार
विधायकों के अनुरोध पर मुख्यमंत्री विधायक विकास निधि से धार्मिक स्थलों के लिए दी जाने वाली 25 लाख की सीमा को बढ़ाकर 50 लाख करने का आश्वासन दिया। उन्होंने महिला व युवा मंगल दलों को दी जाने वाली विधायक निधि की सीमा को बढ़ाए की मांग पर भी विचार करने का भरोसा दिया।  
विज्ञापन

तीन बार सदन हुआ स्थगित 
भोजनावकाश के बाद तीन बजे सदन की कार्यवाही शुरू होनी थी लेकिन किन्हीं कारणों से सदन की कार्यवाही 3.15 तक स्थगित कर दी गई। फिर 3.30 बजे तक सदन स्थगित हुआ। 3.30 बजे स्पीकर सदन में पहुंची लेकिन सदन में सत्ता पक्ष और विपक्ष के अधिकांश विधायक उपस्थित नहीं थे। स्पीकर ने नियम 310 से नियम 58 में परिवर्तित कानून व्यवस्था की सूचना देने वाले विपक्षी सदस्यों के नाम पुकारे लेकिन उनमें से कोई मौजूद नहीं थे। सदन में मौजूद कांग्रेस विधायक हरीश धामी ने कहा कि उन्हें सुन लिया जाए लेकिन स्पीकर ने सदन की कार्यवाही चार बजे तक के लिए स्थगित कर दी।

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00