विज्ञापन

यूजीसी ने कुलपतियों को लिखा पत्र, कहा- विश्वविद्यालयों में 29 सितंबर को मनेगा सर्जिकल स्ट्राइक डे

ब्यूरो, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Fri, 21 Sep 2018 06:38 PM IST
JNU VC
JNU VC
ख़बर सुनें
देशभर के विश्वविद्यालयों और उच्च शिक्षण संस्थानों में 29 सितंबर को हर साल सर्जिकल स्ट्राइक डे मनाया जाएगा। इस दौरान उच्च शिक्षण संस्थान और एनसीसी कैडेट विशेष परेड का आयोजन भी करेंगे। इस दौरान कैडेट भारतीय सीमा की सुरक्षा के संबंध में छात्रों को जागरूक किया जाएगा। विश्वविद्यालयों को इस दौरान की गतिविधियां यूजीसी के निगरानी पोर्टल पर अपलोड करनी अनिवार्य है। 
विज्ञापन
यूजीसी के सचिव प्रो. रजनीश जैन की ओर से विश्वविद्यालयों के कुलपति को इस संबंध में पत्र लिखा गया है। पत्र में सर्जिकल स्ट्राइक देश की सुरक्षा से जुड़ा मामला है। इसलिए छात्रों को सर्जिकल स्ट्राइक की जानकारी होनी आवश्यक है। इस खास दिन विश्वविद्यालय प्रबंधन अपने आसपास के इलाकों पूर्व सैनिकों से छात्रों को मिलाने के लिए कार्यक्रम आयोजित करें।

इस दौरान पूर्व सैनिक बताएंगे कि देश की सुरक्षा की जिम्मेदारी के चलते किस प्रकार परिवार, त्योहार व अपनी खुशियों का त्याग करते रहें है। इन्हीं बहादुर सैनिकों के चलते आम नागरिक घरों में आराम से सोता है। इसके अलावा पूर्व सैनिक छात्रों को बताएंगे कि वे सर्दी, गर्मी, बरसात में किस प्रकार देश की सरहदों की किस प्रकार से सुरक्षा करते हैं।  
विज्ञापन
आगे पढ़ें

सेना की छावनी में कैंपस आने का दें न्योता  

विज्ञापन

Recommended

कुंभ मेले में अतुल धन, वैभव, समृधि प्राप्ति हेतु विशेष पूजा करवायें मात्र ₹1100 में
त्रिवेणी संगम पूजा

कुंभ मेले में अतुल धन, वैभव, समृधि प्राप्ति हेतु विशेष पूजा करवायें मात्र ₹1100 में

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Dehradun

समूह 'ग' के 267 पदों की लिखित परीक्षा का परिणाम जारी, यहां चेक करें अपना रिजल्ट

अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने समूह ‘ग’ के 267 रिक्त पदों की लिखित परीक्षा का परिणाम घोषित कर दिया है।

17 जनवरी 2019

विज्ञापन

आखिर कुंभ के बाद कहां गायब हो जाते हैं नागा साधु...

नागा साधुओं की दुनिया भी बड़ी ही रहस्यमयी होती है। कुंभ के शुरू होते ही वो अचानक से प्रकट हो जाते हैं और खत्म होते ही फिर न जाने कहां गायब हो जाते हैं। इसके बाद फिर वो अगले कुंभ या अर्धकुंभ में ही नजर आते हैं।

17 जनवरी 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree