बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
बुध का तुला राशि गोचर, जानें क्या होगा आपके जीवन पर प्रभाव
Myjyotish

बुध का तुला राशि गोचर, जानें क्या होगा आपके जीवन पर प्रभाव

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

दिल्लीः ऑनलाइन क्लास न कर पाने वाले बच्चों के लिए कांस्टेबल बने सहारा, मंदिर में ले रहे क्लास

दिल्ली पुलिस का एक कांस्टेबल कोरोना काल में जरूरतमंद बच्चों के लिए मदद का बड़ा हाथ बनकर सामने आया है। कांस्टेबल ने कोरोनाकाल के दौरान गरीब और जरूरतमंद...

20 अक्टूबर 2020

Digital Edition

दिल्ली: सोच समझ कर दिया गया था दंगे को अंजाम, हाईकोर्ट ने कहा- साजिश के तहत तोड़े गए सीसीटीवी कैमरे

उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा के मामले में दिल्ली उच्च न्यायालय ने तल्ख टिप्पणी की है। कोर्ट ने सोमवार को हिंसा से संबंधित जमानत के एक मामले में सुनवाई करते हुए कहा कि यह हिंसा एक सोची समझी साजिश का हिस्सा थी। यह अचानक ही नहीं भड़क गई, बल्कि इसे सुनियोजित ढंग से अंजाम दिया गया था। अदालत ने स्पष्ट कहा कि इस साजिश का मकसद दिल्ली की कानून व्यवस्था को बिगाड़ना था। मामले की सुनवाई करते हुए जज ने कहा कि दंगों के दौरान सीसीटीवी कैमरों की व्यवस्थित रूप से तोड़फोड़ भी शहर में कानून-व्यवस्था को बिगाड़ने के लिए पहले से की गई साजिश का हिस्सा थी।

हेड कांस्टेबल रतन लाल की हत्या मामले में हो रही थी सुनवाई
दरअसल जस्टिस सुब्रमण्यम प्रसाद दिल्ली पुलिस के हेड कांस्टेबल रतन लाल की कथित हत्या से संबंधित मामले में एक आरोपी मोहम्मद इब्राहिम द्वारा दाखिल जमानत अर्जी पर सुनवाई कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि जिस इलाके में हत्या की इस घटना को अंजाम दिया गया, वहां बेहद सुनियोजित ढंग से पहले सीसीटीवी कैमरों के कनेक्शन काटकर उन्हें क्षतिग्रस्त किया गया, उसके बाद भारी संख्या में दंगाईयों ने लाठी, डंडों और अन्य हथियारों से कांस्टेबल रतन लाल पर हमला बोल दिया।

इसके साथ ही उन्होंने इब्राहिम की जमानत अर्जी खारिज कर दी और कहा कि जिस वीडियो में याचिकाकर्ता तलवार चलाते हुए नजर आ रहा है, वह उसे हिरासत में रखने के लिए पर्याप्त है। अदालत के पास मौजूद सबूतों के आधार पर इब्राहिम को कई सीसीटीवी फुटेज में तलवार चलाते हुए चिन्हित किया गया है।

दिसंबर 2020 में गिरफ्तार किया गया था इब्राहिम
बता दें कि हेड कांस्टेबल रतन लाल की हत्या के मामले में इब्राहिम को दिसंबर 2020 में गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद से वह न्यायिक हिरासत में था। उसने अपनी जमानत अर्जी में कहा था कि वह कभी किसी प्रदर्शन या दंगे का हिस्सा नहीं रहा। इसके साथ ही उसपर लगे आरोपों के आधार पर वह घटना के वक्त घटनास्थल के आसपास भी नहीं था।
... और पढ़ें
दिल्ली दंगे की तस्वीर दिल्ली दंगे की तस्वीर

रोहिणी शूटआउट: जिला अदालतों की सुरक्षा की मांग वाली याचिका पर स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करे पुलिस, हाईकोर्ट ने भेजा नोटिस

रोहिणी कोर्ट शूटआउट के बाद से दिल्ली की जिला अदालतों की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े हो गए हैं। इसके मद्देनजर दिल्ली उच्च न्यायालय ने मंगलवार को पुलिस को उस याचिका पर स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करने को कहा जिसमें राजधानी की जिला अदालतों में पर्याप्त सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की गई है।

इस संबंध में जस्टिस रेखा पल्ली ने दिल्ली पुलिस और दिल्ली बार काउंसिल को नोटिस जारी करते हुए पांच दिनों के अंदर रिपोर्ट दाखिल करने को कहा। इस मामले में अगली सुनवाई के लिए कोर्ट ने 11 अक्तूबर की तारीख निर्धारित की है।

हालांकि पुलिस ने अदालत में कहा है कि जिला अदालतों की सुरक्षा के लिए जल्द से जल्द आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं।

 
... और पढ़ें

साजिश: बाप-बेटे का गला रेता, फिर दफनाईं लाशें, बचने के लिए आरोपी की हर तकरीब सुन उड़े पुलिस के होश

गाजियाबाद के लोनी के ट्रॉनिका सिटी की कासिम विहार कॉलोनी में 16 सितंबर को हुई फर्नीचर कारोबारी और उसके पुत्र हत्या के आरोप पुलिस ने नौकर महरोज को गिरफ्तार किया है। उसके कब्जे से 12 हजार रुपये, कारोबारी का मोबाइल व खून से सने कपड़े बरामद हुए हैं। अमर उजाला ने एक दिन पहले ही नौकर पर शक होने की खबर प्रकाशित की थी। पुलिस के मुताबिक नौकर को पता चला था कि घर में पौने पांच लाख रुपये रखे हैं। उन्हें लूटने के लिए ही उसने दोहरे हत्याकांड को अंजाम दिया। हालांकि, वारदात के बाद घर खंगालने पर उसे 15 हजार रुपये ही मिले। एसपी ग्रामीण डॉ. ईरज राजा ने बताया कि बदायूं के गांव मिर्जापुर निवासी आरोपी नौकर महरोज रिश्ते में नईमुल हसन का भतीजा है। कुछ वर्षों से वह नईमुल के रामपार्क स्थित फर्नीचर गोदाम पर नौकरी करता था। 15 दिन पहले नईमुल के पास करीब पौने पांच लाख रुपये आए थे। इनमें से 50-50 हजार रुपये नईमुल के दोनों भाइयों के थे, जबकि बाकी रकम उसी की थी।  ... और पढ़ें

दनकौर: अमरपुर गांव के मुख्य मार्ग पर लगाया गया सम्राट मिहिर भोज का बोर्ड, भाजपा नेताओं के प्रवेश पर ग्रामीणों ने लगाई रोक

सम्राट मिहिर भोज के आगे गुर्जर शब्द नहीं लिखने का विवाद क्षेत्र के गांवों तक पहुंच गया है। सोमवार को अमरपुर गांव में गुर्जर समाज के लोगों ने गांव के मुख्य मार्ग पर सम्राट मिहिर भोज का बोर्ड लगाकर चौराहे का नामकरण कर दिया। वहीं, ग्रामीणों ने गांव में भाजपा नेताओं के प्रवेश पर पाबंदी लगाने का भी एलान किया।

ग्रामीण शीशराम नागर और गौरव नागर ने कहा कि अब गुर्जरों के प्रत्येक गांव के मार्ग और चौराहे बोर्ड लगाए जाएंगे। इससे पहले कनारसी गांव के ग्रामीणों ने भी इसी तरह बोर्ड लगाकर भाजपा नेताओं के प्रवेश पर रोक लगाई थी। ग्रामीणों ने कहा कि भाजपा नेताओं के कारण समाज का अपमान हुआ है। 

इसलिए वह अब गांव में नेताओं को घुसने नहीं देंगे। इस मौके पर रविंद्र प्रधान, ओमवीर बीडीसी, सतवीर नागर, प्रेमचंद, ओमकार नागर, संदीप नागर, सुमित नागर, ज्ञानचंद नागर, लीले सिंह, भगवत सिंह, महावीर हवलदार, पिंटू और ओमेंद्र नागर समेत अन्य ग्रामीण मौजूद रहे। 

दो अक्तूबर को होगी बैठक, 151 सदस्यों की बनी समिति 
राष्ट्रीय गुर्जर स्वाभिमान समिति के राजकुमार भाटी ने बताया कि दो अक्तूबर को सुबह 10 बजे परी चौक के पास स्थित गुर्जर शोध संस्थान में समिति के 151 सदस्यीय समिति की बैठक होगी। समिति के अध्यक्ष चौ. अंतराम तंवर बनाए गए हैं। पहले 51 सदस्यों की समिति बनाई गई थी लेकिन राजस्थान, हरियाणा आदि अन्य राज्यों के लोग भी शामिल होने के कारण अब समिति के सदस्यों की संख्या 151 हो गई है। बैठक में आगामी रणनीति तैयार की जाएगी।

सम्राट की प्रतिमा के आगे रातों-रात लिखा गुर्जर
इधर इस प्रकरण में एक नया मोड़ भी आ गया है। खबर है कि कुछ भाजपाइयों ने सोमवार रात को चुपचाप प्रतिमा पर लगे शिलापट पर सम्राट मिहिर भोज के आगे गुर्जर शब्द लिखवा दिया, लेकिन गुर्जर समाज के लोग इससे संतुष्ट नही हैं। 

उनका कहना है कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस कृत्य के लिए सार्वजनिक रूप से माफी मांगें और बयान दें कि सम्राट मिहिर भोज गुर्जर ही थे। आंदोलन का संचालन करने के लिए बनाई गई 151 सदस्यीय राष्ट्रीय गुर्जर स्वाभिमान समिति के सदस्य राजकुमार भाटी ने कहा कि दो अक्तूबर को ग्रेटर नोएडा में होने वाली बैठक में तय किया जायेगा कि समाज आगे क्या रणनीति बनाएगा।

समाज के लोगों से एकता बनाए रखने की अपील
राजकुमार भाटी ने मीडिया को बयान जारी कर समाज के लोगों से अपील की है कि वे अलग अलग बयान जारी न करें। इससे समाज की एकता को क्षति होती है। सभी साथी समिति के निर्णय का इंतजार करें और समिति द्वारा लिये गये निर्णय का पालन करें। इस समिति में राजस्थान, हरियाणा, दिल्ली, उत्तराखंड व यूपी समेत पांच प्रदेशों के 151 लोग शामिल हैं।
 
... और पढ़ें

फरीदाबाद: 600 की पैंट को 400 रुपये में खरीदना चाहता था ग्राहक, नहीं मानने पर कर दी दुकानदार की पिटाई

सम्राट मिहिर भोज
फरीदाबाद के एसजीएम थाना क्षेत्र में कम दाम में पैंट नहीं देने पर एक युवक ने दुकानदार को पीट डाला। आरोपी काफी देर से मोल भाव में लगा हुआ था, लेकिन बात नहीं बन पाने पर उसने दुकानदार पर हमला कर दिया। पुलिस ने उसके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। 

एसजीएम नगर निवासी किशोर कुमार जैन ने बताया कि 22 फुट रोड पर कपड़ों की दुकान है। शनिवार को जमाई कॉलोनी निवासी इमरान नामक युवक कपड़े लेने आया। उसे कपड़े दिखाने शुरू किए। आरोपी ने एक पैंट को पसंद किया और उसका दाम पूछा। दुकानदार ने पैंट की कीमत 600 रुपये बताई। इमरान पैंट को 400 रुपये में देने की जिद करने लगा। 

काफी मोलभाव के बाद भी बात नहीं बनी। इस पर इमरान नाराज हो गया और चला गया। थोड़ी देर बाद वह वापस आया और गला पकड़ कर उससे हाथापाई करने लगा। झगड़े की आवाज सुनकर आसपास के दुकानदार आ गए। उन्हें देखकर आरोपी दुकानदार को जान से मारने की धमकी देकर फरार हो गया।
... और पढ़ें

दिल्ली: मां के दोस्त के बेटे की हत्या के बाद 'बाबा' बन गया आरोपी, पहाड़ों पर कराने लगा पूजा पाठ, गिरफ्तार

मां के दोस्त के बेटे की हत्या कर फरार आरोपी को अमन विहार थाना पुलिस ने मध्य प्रदेश के रीवा से गिरफ्तार किया है। आरोपी पुलिस से बचने के लिए साधु के भेष में एक पहाड़ पर बने मंदिर में नाम बदलकर पूजा पाठ कर रहा था। पुलिस उसके इस्तेमाल किए गए मोबाइल से उस तक पहुंची और दबोच लिया। आरोपी ने खुलासा किया कि मृतक उसकी मां पर बुरी नियत रखता था। इस वजह से उसने चाकू मारकर उसकी हत्या कर दी। 

रोहिणी जिला पुलिस उपायुक्त प्रणव तायल ने बताया कि आरोपी की पहचान किराड़ी निवासी राहुल (28) के रूप में हुई है। गत तीन मई को किराड़ी में रहने वाली सुरेश ने पुलिस को बताया कि उसके बेटे राहुल ने एक युवक को चाकू मार दिया है। युवक को घायल अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान अगस्त 2021 में उसकी मौत हो गई। 

मृतक की शिनाख्त विकास के रूप में हुई, जो सुरेश के पुरुष मित्र का बेटा था और एक साल से महिला के साथ ही रहता था। पुलिस ने आरोपी के रिश्तेदारों, परिजन व दोस्त से पूछताछ की और उनके मोबाइल के सीडीआर को खंगाला। जांच के दौरान पता चला कि राहुल दो मोबाइल नंबर का इस्तेमाल कर रहा था, जिसे बाद में बंद कर दिया। 

इन मोबाइल नंबरों की लोकेशन हरियाणा, यूपी और एमपी में आ रही थी। पुलिस की एक टीम प्रयागराज गई, जहां पता चला कि मोबाइल का इस्तेमाल एक साधु कर रहा था। पुलिस ने साधु का फोटो लिया, जिसका हुलिया राहुल से मिल रहा था। प्रयागराज में उसकी तलाश के दौरान कई लोगों से पूछताछ में पता चला कि वह रीवा में किसी मंदिर में रहता है। पुलिस वहां पहुंची और उसे गिरफ्तार कर लिया। वह करण गिरी महाराज के नाम से हुलिया बदलकर रह रहा था। 
... और पढ़ें

दो दिन बाद बरसेंगे बदरा: दिल्ली में 30 सितंबर को बारिश की संभावना, तब तक जारी रहेगा धूप-छांव का खेल

दिल्ली में बीते तीन दिन से बारिश पर ब्रेक लगा हुआ है। आसमान में बादलों व धूप की लुकाछिपी चलती रहेगी है। कभी बादल कभी धूप का यह खेल अभी चलता रहेगा। दो दिन के बाद मौसम में बदलाव होगा। इस बदलाव के कारण 30 सितंबर से फिर से हल्की बारिश का दौर शुरू होगा, यह दो अक्तूबर तक जारी रहने की संभावना है। हालांकि यह बारिश कुछ स्थानों पर ही होगी। इस कारण तापमान में भी गिरावट होगी।

मौसम में बदलाव के कारण अब तापमान भी कम होने लगा है। सोमवार को अधिकतम तापमान 34.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हालांकि न्यूनतम तापमान में सामान्य से दो डिग्री की बढ़ोतरी रही। इस कारण से तापमान 26.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। सबसे कम अधिकतम तापमान मुंगेशपुर में 30.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जबकि जाफरपुर केंद्र पर 32.5 डिग्री सेल्सियस व मयूर विहार में 32.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। 

मौसम विभाग ने बृहस्पतिवार से फिर से कहीं-कहीं हल्की बारिश की संभावना जताई है। यह बारिश रुक-रुक के दो अक्तूबर तक होगी। बीच-बीच में धूप व बादल आसमान में आते-जाते रहेंगे। उसके बाद आसमान साफ रहने लगेगा। इस दौरान तापमान 33 डिग्री से 35 डिग्री के बीच बने रहने की संभावना है। 

पूर्वानुमान:
आसमान में बादल छाए रहने की संभावना है।
अधिकतम तापमान: 34.3 डिग्री सेल्सियस
न्यूनतम तापमान: 26.0 डिग्री सेल्सियस
28 सितंबर को सूर्यास्त: शाम 6 बजकर 11 मिनट
29 सितंबर को सूर्योदय: सुबह 6 बजकर 13 मिनट
... और पढ़ें

खौफनाक इरादा: बहाना बनाकर घर में रुका था नौकर, अजान से उठा और रेत दिया बाप-बेटे का गला

गाजियाबाद के लोनी के ट्रॉनिका सिटी की कासिम विहार कॉलोनी में नौकर ने ही फर्नीचर कारोबारी नईमुल हसन व उनके बेटे उवैस की हत्या की थी। 16 सितंबर की तड़केहुई घटना का खुलासा करते हुए पुलिस ने थाना बिल्सी, बदायूं के गांव मिर्जापुर निवासी नौकर महरोज को गिरफ्तार कर लिया। उसके कब्जे से 12 हजार रुपये, कारोबारी का मोबाइल व खून से सने कपड़े बरामद हुए। पुलिस के मुताबिक नौकर को पता चला था कि घर में पौने 5 लाख रुपये रखे हैं। उन्हें लूटने के लिए ही उसने दोहरे हत्याकांड को अंजाम दिया। हालांकि, वारदात के बाद घर खंगालने पर उसे 15 हजार रुपये ही मिले। एसपी ग्रामीण डॉ. ईरज राजा ने बताया कि आरोपी नौकर महरोज रिश्ते में नईमुल हसन का भतीजा है। कुछ वर्षों से वह नईमुल के रामपार्क स्थित फर्नीचर गोदाम पर नौकरी करता था। 15 दिन पहले नईमुल के पास करीब पौने 5 लाख रुपये आए थे। इनमें से 50-50 हजार रुपये नईमुल के दोनों भाइयों के थे, जबकि बाकी रकम उसी की थी। 
 
... और पढ़ें

रोहिणी शूटआउट: कई महीने पहले ही रची जा चुकी थी गोगी की हत्या की कहानी, पुलिस को है 'नेपाली' की तलाश

रोहिणी शूटआउट के हमलावरों को पहना देने वाले व गैंगस्टर टिल्लू ताजपुरिया का गुर्गे उमंग यादव इलाके में आपसी रंजिश के चलते टिल्लू ताजपुरिया की शरण में गया था। उमंग की इलाके में कई लोगों से रंजिश थी। इस कारण वह किसी बड़े गैंगस्टर की शरण में जाना चहाता था। ऐसे में उसे ताजपुर के बदमाश उमेश काला ने उसकी जान-पहचान टिल्लू ताजपुरिया से करवाई थी। 

जांच में ये बात सामने आई है कि उमंग ने कोर्ट के एक वकील के नाम पर जुगाड़ करके कोर्ट का कार का स्टीकर ले लिया था। जितेंद्र गोगी की हत्या की वारदात को अंजाम देने के लिए इस स्टीकर का इंतजाम किया गया था, ताकि स्टीकर से कार रोहिणी कोर्ट के अंदर प्रवेश कर जाए। जितेंद्र की हत्या की साजिश कई महीने से रची जा रही थी। 

कुछ ही समय में वह टिल्लू ताजपुरिया का खास हो गया। वह टिल्लू ताजपुरिया के जेल से बाहर के सारे काम वहीं संभालता था। टिल्लू को जेल में कपड़े-जूते पहुंचाने, किसी से मिलवाने व उसके गिरोह के दूसरे गुर्गों को पैसे देने आदि का काम उमंग करता था। उमंग अपने टिल्लू ताजपुरिया के अलीपुर स्थित घर जाता था। वह टिल्लू के बड़े भाई रविन्द्र से पेसे लेता था। बताया जा रहा है कि उमंग टिल्लू के कहने पर रंगदारी वसूलने भी जाता था। अपराध की दुनिया में जब ये पता लग गया कि उमंग टिल्लू का गुर्गा बन गया है तो टिल्लू को उसकी चिंता सताने लगी थी। टिल्लू के कहने पर उमंग हथियार रखने लगा था। टिल्लू के किसी गुर्गे ने बुराड़ी में उमंग को हथियार दिया था। स्पेशल सेल ने उमंग की निशानदेही पर वह हथियार बरामद कर लिया है। 

उमंग से पूछताछ में बताया कि जितेंद्र गोगी की हत्या की साजिश कई महीने पहले रच ली गई थी। इसके लिए उसने रोहिणी कोर्ट का वकील के नाम पर स्टीकर कई महीने पहले जुगाड़ कर लिया था। उमंग ने बताया कि उसने कोर्ट के वकील के नाम पर ही कार का स्टीकर ले लिया था। उमंग जब हमलावरों को कार में रोहिणी कोर्ट लेकर आया तो उसने आई-10 कार पर स्टीकर लगा दिया था। वारदात के बाद जब उसने कार मालिक जिम ट्रेनर जगदीप को गाड़ी वापस की तो उसने कार से स्टीकर उतार लिया था। स्पेशल सेल ने इस स्टीकर को जब्त कर लिया है। 

उमंग को अपराध शाखा को सौंपा गया
रोहिणी शूटआउट मामले की जांच दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा कर रही है। हमलावरों को पनाह देने वाले उमंग व विनय को स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया था। स्पेशल सेल ने कोर्ट में पेश कर दोनों को अपराध शाखा को सौंप दिया है। दिल्ली पुलिस शूटआउट के लिए रोहिणी कोर्ट में आए नेपाली युवक की तलाश कर रही है। बताया जा रहा है कि स्पेशल सेल को नेपाली युवक के बारे में सुराग हाथ लगे हैं। बताया जा रहा है कि ये युवक नेपाल का रहने वाला नहीं है। इसकी शक्ल नेपाल के लोगों से मिलती-जुलती है इस कारण उसे नेपाली कहा जाता है। 
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X