लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Education ›   chief monk Shakya Gasan lay the foundation stone of International Buddhist University in tripura

DDIBU: बौद्ध अंतरराष्ट्रीय विश्वविद्यालय की त्रिपुरा में रखी जाएगी नींव, 31 देशों के छात्र कर सकेंगे अध्ययन

एजुकेशन डेस्क, नई दिल्ली Published by: सौरभ पांडेय Updated Sun, 27 Nov 2022 03:30 PM IST
सार

DDIBU: त्रिपुरा में भारत के पहले अंतरराष्ट्रीय बौद्ध विश्वविद्यालय की आधारशिला रखी जाएगी। इस कार्यक्रम में कई बौद्ध भिक्षु शामिल होंगे। 
 

Buddhist monk
Buddhist monk - फोटो : सोशल मीडिया
विज्ञापन

विस्तार

DDIBU: त्रिपुरा के मनु बंकुल में 29 नवंबर को विश्व बुद्धिस्ट पोप एसोसिएशन ऑफ कोरिया के मुख्य भिक्षु शाक्य गैसन अंतरराष्ट्रीय बौद्ध विश्वविद्यालय की आधारशिला रखेंगे।  शिलान्यास कार्यक्रम में अरुणाचल प्रदेश के उपमुख्यमंत्री चाउना मीन, स्थानीय विधायक शंकर रॉय और थाईलैंड के वरिष्ठ बौद्ध भिक्षु डॉ पोर्नचाई पिन्यापोंग उपस्थित रहेंगे।

 

भारत का पहला बौद्ध विश्वविद्यालय होगा

धम्म दीपा अंतरराष्ट्रीय बौद्ध विश्वविद्यालय (DDIBU) भारत का पहला बौद्ध विश्वविद्यालय होगा, जिसका नेतृत्व बौद्ध भिक्षुओं द्वारा किया जाएगा और इसका संचालन और निगरानी बौद्धों द्वारा की जाएगी। बहुजन हिताय एजुकेशन ट्रस्ट (BHET) के संस्थापक अध्यक्ष धम्मपिया ने कहा, यह विश्वविद्यालय बौद्ध संस्कृति के प्रचार और पुनरुद्धार के लिए भारतीय बौद्ध धर्म के इतिहास में एक उदाहरण स्थापित करेगा।

 

बौद्ध धर्मगुरु दलाई लामा नहीं होंगे शामिल

बौद्ध धर्मगुरु दलाई लामा कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगे। लेकिन उन्होंने अपनी आध्यात्मिक भागीदारी के लिए अपना संदेश भेजा है। धम्मपिया को उम्मीद है कि डीडीआईबीयू बौद्ध धर्म को एक अंतर्दृष्टि और गहराई प्रदान करेगा। समकालीन दुनिया की बेहतर समझ और ज्ञान और कौशल के साथ छात्रों और युवाओं को भी तैयार करेगा, जिससे कि वे एक स्वस्थ शांतिपूर्ण और संतोषजनक जीवन का नेतृत्व कर सकें।  

 त्रिपुरा विधानसभा ने पास किया विधेयक

प्रस्तावित विश्वविद्यालय में 31 देशों के छात्रों को अध्ययन के साथ-साथ बौद्ध साहित्य, संस्कृति और परंपरा पर शोध करने का मौका मिलेगा। इसके अलावा, परिसर में चिकित्सा, तकनीकी और सामान्य डिग्री कॉलेज स्थापित करने की भी योजना है। 26 सितंबर को, त्रिपुरा विधानसभा ने राज्य की राजधानी से लगभग 135 किमी दूर मनु बंकुल में एक बौद्ध विश्वविद्यालय की स्थापना का मार्ग प्रशस्त करते हुए एक विधेयक पारित किया। जिसके बाद ही आगे का रास्ता खुल सका है। 
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें शिक्षा समाचार आदि से संबंधित ब्रेकिंग अपडेट।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00