लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Entertainment ›   Bollywood ›   Javed Akhtar talks about Muslim personal law and women Rights in his recent Interview

Javed Akhtar: '...तब महिलाओं को भी मिलना चाहिए कई पति रखने का अधिकार', जानें जावेद अख्तर ने क्यों कही यह बात?

एंटरटेनमेंट डेस्क, अमर उजाला Published by: मोहम्मद फायक अंसारी Updated Mon, 05 Dec 2022 06:46 PM IST
सार

जावेद अख्तर ने कहा कि एक समय पर कई शादियां करना देश के कानून और संविधान के सख्त खिलाफ है। इस बातचीत में उन्होंने कॉमन सिविल कोड पर भी अपनी राय रखी।

जावेद अख्तर
जावेद अख्तर - फोटो : सोशल मीडिया
विज्ञापन

विस्तार

बॉलीवुड के मशहूर गीतकार और पटकथा लेखक जावेद अख्तर अक्सर बेबाकी से अपनी बात रखने के लिए जाने जाते हैं। अपने कई बयानों की वजह से वह विवादों में भी घिर जाते हैं। जावेद एक बार फिर अपने ताजा इंटरव्यू की वजह से सुर्खियों में आ गए हैं। हाल ही में एक साक्षात्कार के दौरान जावेद ने कॉमन सिविल कोड समेत कई चीजों पर खुलकर अपनी राय रखी। इस दौरान वह मुस्लिम पर्सनल लॉ से भी असहमत नजर आए। उन्होंने कहा, ''अगर मुसलमान पतियों के चार पत्नी रखने का हक जायज है तो मुस्लिम महिलाओं को भी कई पति रखने का अधिकार मिलना चाहिए।''


Bollywood: फिल्मों में कदम रखने की तैयारी में महिमा चौधरी की बेटी अर्याना? करियर पर कही यह बड़ी बात

उन्होंने कहा कि एक समय पर कई शादियां करना देश के कानून और संविधान के सख्त खिलाफ है। इस बातचीत में उन्होंने कॉमन सिविल कोड पर भी अपनी राय रखी। जावेद ने कहा, 'कॉमन सिविल कोड का मतलब केवल समुदायों के लिए एक कानून नहीं होता है बल्कि इसका अर्थ मर्दों और औरतों को समान अधिकार देना भी होता है।' उन्होंने आगे कहा कि वह ऐसे शख्स हैं जो पहले सी कॉमन सिविल कोड का पालन कर रहे हैं। जावेद ने आगे कहा कि वह अपनी संपत्ति में बेटे और बेटी को समान अधिकार देंगे।
Ayushmann Khurrana: आयुष्मान की 'डॉक्टर जी' सिनेमाघरों में नहीं कर पाई थी कमाल, क्या ओटीटी पर दिखाएगी धमाल?

इंटरव्यू के दौरान जावेद अख्तर ने आगे कहा कि मौजूदा समय में देश को सरकार और सरकार को देश माना जाने लगा है। सरकारें तो आती जाती रहेंगी, यह देश हमेशा रहेगा। सरकार का विरोध करने पर किसी को भी देशद्रोही कह दिया जाता है। जबकि यह बिलकुल भी ठीक नहीं है। देश की जनता का व्यवहार हजारों वर्षों से उदार रहा है, वह कभी कट्टरवादी नहीं रहा।...लेकिन आज जैसे कट्टरता को बढ़ावा दिया जा रहा है वो देश का मिजाज बिलकुल भी नहीं है।
Top Music Videos 2022: ‘श्रीवल्ली’ बना साल का नंबर वन म्यूजिक वीडियो, भोजपुरी के ये दो गाने भी टॉप 10 में
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें मनोरंजन समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। मनोरंजन जगत की अन्य खबरें जैसे बॉलीवुड न्यूज़, लाइव टीवी न्यूज़, लेटेस्ट हॉलीवुड न्यूज़ और मूवी रिव्यु आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00