विज्ञापन
विज्ञापन
लाभ पंचमी - सौभाग्य वर्धन का दिन,घर बैठे कराएं लक्ष्मी गणेश पूजन एवं लक्ष्मी सहस्रनाम पाठ,मात्र 101/- में,अभी बुक करें
Myjyotish

लाभ पंचमी - सौभाग्य वर्धन का दिन,घर बैठे कराएं लक्ष्मी गणेश पूजन एवं लक्ष्मी सहस्रनाम पाठ,मात्र 101/- में,अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

डीएपी की किल्लत: कृषि मंत्री बोले- प्रदेश के लोग राजस्थान के अपने रिश्तेदारों को दे रहे खाद, हरियाणा में संकट नहीं

हरियाणा से राजस्थान में खाद की तस्करी ग्रामीण क्षेत्रों से हो रही है। भिवानी और आसपास के जिले 70 किलोमीटर दूरी तक पड़ोसी राज्य के साथ लगते हैं। यहां के बेटे-बेटियों की शादी दोनों राज्यों में हुई है। राजस्थान में डीएपी खाद नहीं है, इसलिए प्रदेश के लोग अपने राजस्थान के रिश्तेदारों को खाद दे रहे हैं। खाद के कट्टे-दो कट्टों की आपूर्ति मोटरसाइकिल के जरिये हो रही है।

कृषि मंत्री जेपी दलाल ने बुधवार को यहां पत्रकारवार्ता में खाद तस्करी की बात स्वीकार की, जबकि खाद संकट को पूरी तरह से नकार दिया। उन्होंने कहा कि ट्रैक्टर-ट्राली में खाद की तस्करी को रोका है। नाकेबंदी सीमा पर की गई है, लेकिन रिश्तेदारों में खाद का थोड़ा बहुत आदान-प्रदान हो रहा है। किसान डीएपी की जगह स्वदेशी खाद अपनाएं। प्रदेश में दोनों खाद के एक करोड़ बैग की जरूरत होती है। इसे गाय के गोबर से भी पूरा कर सकते हैं। पिंजौर में दो टन जैविक खाद का उत्पादन शुरू हो चुका है। केंद्र से इसमें सहयोग का आग्रह करेंगे।

दलाल ने कहा, प्रदेश में खाद की कोई कमी नहीं है और न निकट भविष्य में रहेगी। केंद्र सरकार से डीएपी खाद के 6 रैक जल्द ही प्रदेश को मिलेंगे। किसान अपनी अगली फसल की तैयारी करें, उन्हें किसी भी प्रकार की चिंता करने की जरूरत नहीं है। जैविक खाद का उपयोग करने वाले किसानों को बाजार में फसलों, सब्जियों के अच्छे रेट मिल रहे हैं।

किसानों को 6200 करोड़ की अदायगी
कृषि मंत्री ने कहा कि प्रदेश की मंडियों में अब तक 44.40 लाख एमटी धान आ चुका है, जिसमें से 43.61 लाख एमटी खरीदा है। 36.85 लाख एमटी धान मंडियों से उठाया जा चुका है। किसानों को 6200 करोड़ रुपये की अदायगी कर दी है। बासमती धान 25 अक्तूबर तक 4.68 लाख एमटी मंडियों में आया, जिसमें से 4.56 लाख एमटी खरीदा गया।

यह भी पढ़ें : 
ऐलनाबाद उपचुनाव: इशारे में राकेश टिकैत ने कही बड़ी बात, 6 महीने पहले जो झोला रखकर गया था, अब उसे वापस दे दो

कुल 11 लाख एमटी यूरिया की जरूरत
  • 2021-22 रबी फसलों के लिए कुल 11 लाख एमटी यूरिया की जरूरत। 
  • सरकार के पास आज तक कुल 2 लाख 60 हजार 056 एमटी यूरिया खाद उपलब्ध।
  • अब तक 90 हजार एमटी से अधिक खाद किसानों को दी।
  • पिछले वर्ष एक अक्तूबर से 27 अक्तूूबर 2020 तक 66 हजार 345 एमटी यूरिया खाद किसानों को दी गई।
... और पढ़ें
कृषि मंत्री जेपी दलाल कृषि मंत्री जेपी दलाल

ऐलनाबाद उपचुनाव: दुष्यंत चौटाला बोले– चाचा जुबान के धनी नहीं, बयान के धनी हैं, सीएम ने भी साधा अभय पर निशाना

चाचा जुबान के धनी नहीं, बयान के धनी हैं। उन्होंने तीन कृषि कानूनों के वापस न होने तक हरियाणा विधानसभा में न आने की बात कही थी, मगर वह अब लालच के चलते चुनाव लड़ रहे हैं। ये बातें हरियाणा के सिरसा में ऐलनाबाद विधानसभा उपचुनाव को लेकर उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने बुधवार को अपने आवास पर मीडिया कर्मियों से कही। उस दौरान वह नाम लिए बगैर संभवत: इनेलो प्रत्याशी अभय सिंह चौटाला पर निशाना साध रहे थे। डिप्टी सीएम ने गठबंधन सरकार के दो सालों के कार्यकाल को बहुत शानदार बताया। उन्होंने दावा कि इन दो सालों के दौरान गठबंधन सरकार द्वारा हरियाणा वासियों से किए गए वादों को निभाया है और आने वाले तीन सालों के कार्यकाल के दौरान कॉमन मिनिमम प्रोग्राम के तहत शेष बचे कार्यों को भी प्राथमिकता से करवाया जाएगा।

जिन्होंने विधानसभा में न जाने का संकल्प लिया था उसे पूरा करवा ही दो : सीएम
मैं बनी बनाई सरकार में आपकी साझेदारी मांगने आया हूं, ताकि विकास की गाड़ी और रफ्तार पकड़ सके। अब आपको नेताजी का मूड देखकर बात करने की जरूरत नहीं होगी। इन अहंकारी लोगों ने 17 सालों में सिर्फ और सिर्फ लूट खसोट की राजनीति की है। जनता की भावनाओं को समझा ही नहीं। आज जनता के सामने ये उपचुनाव एक अवसर बनकर आया है। फिर से उसी भूल को मत दोहराना। जिन लोगों ने संकल्प लिया था कि विधानसभा में नहीं जाएंगे, उनका संकल्प पूरा करवा ही दो ताकि ऐसे लोग विधानसभा जैसे पवित्र स्थान पर न जा सकें। यह बातें मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने ऐलनाबाद विधानसभा क्षेत्र में विभिन्न जगहों पर आयोजित चुनावी जनसभाओं को संबोधित करते हुए कही। 

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बुधवार को गांव धौलपालिया में, ऐलनाबाद के लढ़ा रिसोर्ट, ऊधम सिंह चौक और टिब्बी अड्डा चौक पर जनसभाओं को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि अब निर्णय आपने करना है, फैसला आपके हाथ में है। आप बिना किसी भय व निडरता के साथ मतदान करने जाएं। उन्होंने कहा कि आपको ऐसा विधायक मिलने जा रहा है, जिसका धर्म ही समाजसेवा और मानव मात्र का सम्मान है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की सरकार के सात सालों के दौरान सरकार ने जिन घरों में पानी नहीं था, उन घरों में योजना के तहत हर घर तक नल पहुंचाने का काम किया। प्रदेश के 5600 ऐसे गांव हैं। जहां आज 24 घंटे बिजली सप्लाई जारी है।

रोजगार की बात हो या अन्य किसी प्रकार के विकास की बात हो, सरकार ने प्रदेश के किसी भी कोने में कसर नहीं छोड़ी। भाजपा का विधायक न होने के बावजूद सरकार ने 700 करोड़ रुपये के रिकॉर्ड विकास कार्य करवाए। सीएम ने कहा कि अगर आपके विधायक ने यहां की जनता की समस्याओं को लेकर सरकार को अवगत करवाया होता तो यहां की जनता के हालात आज ये नहीं होते। 

यह भी पढ़ें : 
करनाल लाठीचार्ज मामला: आयोग ने पांच किसानों के दर्ज किए बयान, खून लगे कपड़े साथ लेकर पहुंचा लाठीचार्ज में घायल किसान

इस मौके पर लोकसभा सांसद सुनीता दुग्गल, कैबिनेट मंत्री चौ. रणजीत सिंह, कुरुक्षेत्र से सांसद नायब सिंह सैनी, डिप्टी स्पीकर विधानसभा रणवीर गंगवा, पूर्व में मंत्री व ओबीसी मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष कर्णदेव कंबोज, सिरसा प्रभारी अमरपाल राणा, जिलाध्यक्ष आदित्य देवीलाल चौटाला, फतेहाबाद से विधायक दुड़ाराम आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

रेवाड़ी: शराब पीते हुए तीन दोस्तों में हुआ झगड़ा, दो ने मिलकर एक को पीट-पीटकर मार डाला

हरियाणा के रेवाड़ी शहर के मोहल्ला सरस्वती विहार में मंगलवार रात को शराब पीने के दौरान तीन दोस्तों में झगड़ा हो गया। दो युवकों ने अपने एक दोस्त की पीट पीटकर हत्या कर दी और मौके से फरार हो गए। मरने वाला युवक बिहार से था। वहीं हत्यारोपी भी बिहार के रहने वाले हैं और सरस्वती विहार में रहते थे। पुलिस दोनों आरोपियों की तलाश कर रही है।

पुलिस के अनुसार बिहार के जिला खगडिया के गांव इस्लामपुर निवासी 28 वर्षीय उजाला कुमार उर्फ संतोष रेवाड़ी के मोहल्ला सरस्वती विहार में किराए के कमरे में रहता था और मजदूरी करता था। इसी जगह पर उजाला कुमार के साथ बिहार के जिला वैशाली के गांव समस्तीपुर पिडोता निवासी राकेश और जिला जहानाबाद के युगल विहार निवासी जीतू कुमार भी किराए पर रहते है।

मंगलवार की रात तीनों कमरे में बैठ कर शराब पी रहे थे। शराब पीने के दौरान जीतू और राकेश का उजाला कुमार के साथ विवाद हो गया था। विवाद के बाद दोनों ने उजाला के साथ जम कर मारपीट की। उजाला को गंभीर रूप से घायल करने के बाद दोनों आरोपी मौके से फरार हो गए। आसपास के लोगों ने उजाला कुमार को घायल देख कर भिवाड़ी में रह रहे उसके भाई मुकेश कुमार और पुलिस को सूचना दी।

यह भी पढ़ें: 
ऐलनाबाद उपचुनाव: इशारे में राकेश टिकैत ने कही बड़ी बात, 6 महीने पहले जो झोला रखकर गया था, अब उसे वापस दे दो

लोगों ने उजाला को उपचार के लिए ट्रामा सेंटर में पहुंचाया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना के बाद माडल टाउन थाना पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने बुधवार को पोस्टमार्टम कराने के बाद शव स्वजन को सौंप दिया। मुकेश कुमार की शिकायत पर दोनों आरोपित राकेश और जीतू के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। ... और पढ़ें

करनाल लाठीचार्ज मामला: आयोग ने पांच किसानों के दर्ज किए बयान, खून लगे कपड़े साथ लेकर पहुंचा लाठीचार्ज में घायल किसान

हरियाणा के करनाल में बसताड़ा टोल पर 28 अगस्त को किसानों पर हुए लाठीचार्ज के मामले में आयोग के चेयरमैन सेवानिवृत्त न्यायाधीश एसएन अग्रवाल ने बुधवार को किसानों के बयान दर्ज किए। न्यायाधीश की ओर से सात किसानों को बुलाया गया था। इनमें लाठीचार्ज में घायल होने वाले दो किसान और भाकियू प्रदेश अध्यक्ष रतनमान भी शामिल हैं। लेकिन पांच किसान ही बयान दर्ज कराने पहुंचे। प्रदेश अध्यक्ष रतनमान व किसान गुरजंट बयान दर्ज कराने नहीं पहुंच पाए। किसान महेंद्र पूनिया अपने साथ खून लगे कपड़े भी साथ लेकर आए थे, क्योंकि लाठीचार्ज में वह घायल हो गए थे।

आयोग के चेयरमैन ने दोपहर करीब दो बजे तक पांच किसानों के बयान दर्ज किए। गुरुवार व शुक्रवार को भी 6-7 किसानों के बयान दर्ज किए जाएंगे। इसके बाद दो नवंबर को गुरनाम सिंह चढूनी के बयान दर्ज होंगे। चेयरमैन ने बताया कि इसके बाद प्रशासनिक अधिकारियों के बयान दर्ज होंगे।

जिनमें डीसी निशांत कुमार यादव, एसपी गंगाराम पूनिया, एसडीएम आयुष सिन्हा सहित पुलिस कर्मचारी शामिल होंगे। मामले की जांच में करीब चार महीने का समय लगेगा। इसके लिए उन्होंने सरकार को पत्र भी भेजा है। 25 अक्टूबर को 6 किसानों के बयान दर्ज किए जा चुके हैं। 

यह भी पढ़ें : 
ऐलनाबाद उपचुनाव: इशारे में राकेश टिकैत ने कही बड़ी बात, 6 महीने पहले जो झोला रखकर गया था, अब उसे वापस दे दो

बयान में जिसका नाम आएगा उसे जांच में किया जाएगा शामिल

आयोग के चेयरमैन ने बताया कि किसानों के बयान दर्ज किए जा रहे हैं फिर प्रशासनिक अधिकारियों के दर्ज किए जाएंगे। इन बयानों में जो भी व्यक्ति सामने आएगा उसे जांच में शामिल किया जाएगा। लाठीचार्ज के जो भी फोटो और वीडियो हैं वह बयान दर्ज कराने वाले किसान व प्रशासनिक अधिकारी आयोग को दे सकते हैं। उन्होंने बताया कि घटनास्थल का उन्होंने 18 अक्तूबर को ही निरीक्षण कर लिया था। उन्होंने बताया कि जो किसान किसी कारण से बयान दर्ज नहीं करा पाएं हैं उन्हें आयोग की ओर से दोबारा मौका दिया जाएगा। 

यह बोले किसान
आयोग की ओर से गांव बड़ौता निवासी महेश पूनिया, महेंद्र पूनिया, सत्यवान पूनिया, गांव हसनपुर निवासी सुनील, गांव बादशाहपुर निवासी हैप्पी ओलख, भाकियू प्रदेशाध्यक्ष रतनमान व गुरजंट को बुलाया गया था। इनमें बड़ौता निवासी महेश पूनिया, महेंद्र पूनिया, सत्यवान पूनिया, गांव हसनपुर निवासी सुनील, गांव बादशाहपुर निवासी हैप्पी ओलख ही बयान दर्ज कराने काछवा रोड स्थित पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस पहुंचे। हैप्पी ओलख ने करीब डेढ़ घंटे तक बयान दर्ज कराए। ओलख का कहना है कि उसने पूरे घटनाक्रम की जानकारी दी है। महेंद्र पूनिया अपने साथ खून लगे कपड़े भी साथ लेकर आए थे, क्योंकि लाठीचार्ज में वह घायल हो गए थे। किसानों का कहना है कि उन्होंने आयोग को जो उनके साथ हुआ और जो कुछ प्रशासन ने किया वह सब बताया है।
... और पढ़ें

सोनीपत: पहली बार जिले के छह खिलाड़ी राष्ट्रीय खेल पुरस्कार के लिए नामित

प्रतीकात्मक तस्वीर
राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों के लिए जिले के छह खिलाड़ियों को नामित किए जाने से उनके परिजनों में खुशी का माहौल है। यह पहला मौका है, जब एक ही जिले के छह खिलाड़ियों को राष्ट्रीय खेल पुरस्कार के लिए नामित किया गया है। इनमें तीन खिलाड़ियों को खेल का सर्वोच्च पुरस्कार मेजर ध्यान चंद अवॉर्ड व तीन को अर्जुन अवॉर्ड के लिए नामित किया गया है। जिले में एक साथ छह खिलाड़ियों को राष्ट्रीय खेल पुरस्कार के लिए नामित किए जाने से खेल प्रेमियों में भी खुशी का माहौल है। खेल प्रेमियों का कहना है कि यह गौरवान्वित करने वाला पल है।

खेल मंत्रालय द्वारा जारी की गई लिस्ट में टोक्यो ओलंपिक में कुश्ती में रजत पदक जीतने वाले नाहरी निवासी पहलवान रवि दहिया, पैरालंपिक में एथलेटिक्स में स्वर्ण पदक जीतने वाले खेवड़ा निवासी सुमित आंतिल व पैरालंपिक के निशानेबाजी में स्वर्ण पदक जीतने वाले गांव कथूरा, गोहाना के मनीष नरवाल को खेल के सर्वोच्च अवॉर्ड मेजर ध्यानचंद खेल रत्न अवॉर्ड के लिए नामित किया गया है। वहीं हॉकी में देश को कांस्य पदक दिलाने वाली भारतीय टीम के खिलाड़ी गांव कुराड़ निवासी सुमित कुमार, महिला हॉकी खिलाड़ी मोनिका मलिक व कबड्डी खिलाड़ी गांव कथूरा निवासी संदीप नरवाल को अर्जुन अवॉर्ड के लिए नामित किया गया है।

खेल मंत्रालय द्वारा हर साल 29 अगस्त को देश के राष्ट्रपति द्वारा खिलाड़ियों को राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों से सम्मानित किया जाता है। इस साल इसमें केंद्र सरकार की तरफ से टोक्यो ओलंपिक व पैरालंपिक में खिलाड़ियों के प्रदर्शन को भी शामिल करने के चलते देरी की गई। पैरालंपिक खेलों का आयोजन इस साल 24 अगस्त से 5 सितंबर तक टोक्यो में हुआ। 

राष्ट्रीय खेल अवॉर्ड के लिए ये खिलाड़ी नामित
खिलाड़ी                 खेल                    पुरस्कार

रवि दहिया              कुश्ती             मेजर ध्यान चंद खेल रत्न अवॉर्ड
सुमित आंतिल          एथलेटिक्स      मेजर ध्यानचंद खेल रत्न अवॉर्ड
मनीष नरवाल          निशानेबाज      मेजर ध्यानचंद खेल रत्न अवॉर्ड
सुमित कुमार            हॉकी             अर्जुन अवॉर्ड
मोनिका मलिक         हॉकी             अर्जुन अवॉर्ड
संदीप नरवाल          कबड्डी           अर्जुन अवॉर्ड

यह भी पढ़ें : 
ऐलनाबाद उपचुनाव: इशारे में राकेश टिकैत ने कही बड़ी बात, 6 महीने पहले जो झोला रखकर गया था, अब उसे वापस दे दो

यह बोले खिलाड़ियों के परिजन
... और पढ़ें

ऐलनाबाद उपचुनाव: इशारे में राकेश टिकैत ने कही बड़ी बात, 6 महीने पहले जो झोला रखकर गया था, अब उसे वापस दे दो

ऐलनाबाद विधानसभा उपचुनाव का प्रचार खत्म होने से ठीक पहले संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से नाथूसरी चौपटा और ऐलनाबाद क्षेत्र में किसान महापंचायतें की गईं। जिनमें संयुक्त किसान मोर्चा के नेता राकेश टिकैत पहुंचे और उन्होंने मंच से मतदान का आह्वान किया।

उन्होंने नाथूसरी चौपटा और ऐलनाबाद में आयोजित कार्यक्रमों में बिना किसी का नाम लिए कहा कि जिसने छह महीने पहले आपको जो चीज सौंपी है। वह उस व्यक्ति को कुछ बढ़ाकर वापस देनी चाहिए। उन्होंने किसी उम्मीदवार का नाम लिए बगैर कहा कि किसी की भी अमानत को संभाल कर रखना चाहिए और वापस मांगने पर उसे ही देनी चाहिए। पूरे भाषण के दौरान राकेश टिकैत ने तीन बार अपनी बात दोहराते हुए मतदान का आह्वान किया।  

पंच-सरपंच कभी बिकने का काम नहीं करते 
राकेश टिकैत ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी सरकार ठगने वाली पार्टी है और यह बीजेपी सरकार न होकर मोदी सरकार है जो कि पूंजीपतियों द्वारा चलाई जा रही है। ऐलनाबाद का ये इलाका पंचायती है। पंच-सरपंच कभी बिकने का काम नहीं करते। जो लोग खरीद-फरोख्त की बात करते हैं तो उनको करारा जवाब दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि छह महीने पहले एक आदमी यहां पंचायत में झोला रखकर गया था, अब उसका झोला वापस कर दो। उसका जो सामान था, उसे वापस दे दो। 

टिकैत बोले- यूपी चुनाव में भी दी जाएगी दवाई
राकेश टिकैत ने अपने संगठन की रणनीति स्पष्ट करते हुए कहा कि तीनों कृषि कानूनों की समस्या का समाधान होने से पहले किसान उठने वाले नहीं है। इस सरकार को कुछ दवाई तो पश्चिम बंगाल चुनाव में दी जा चुकी है और आगे यूपी चुनाव में भी दवाई दी जाएगी। ऐलनाबाद की जनता भी दवाई देकर सरकार को ठीक कर देगी। इनके लिए दवाई तैयार कर रखी है वो यूपी में भी देंगे। इस दौरान जोगिंदर सिंह, कुलवंत सिंह, बलदेव सिंह निहालगढ़, प्रह्लाद सिंह भैरू खेड़ा, सुरेश ढाका आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

यमुनानगर: प्रशासन ने की अनेदेखी,ग्रामीणों ने खुद बना दी सड़क

  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00