लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   ED attached immovable property worth rupees more than 7 crore of Andasu Ravinder

ED: अंदासू रविंदर की 7.33 करोड़ रुपये की अचल संपत्ति ईडी ने की कुर्क, आय से अधिक धन मामले में हुई कार्रवाई

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: शिव शरण शुक्ला Updated Mon, 03 Oct 2022 06:01 PM IST
प्रवर्तन निदेशालय।
प्रवर्तन निदेशालय। - फोटो : amar ujala
ख़बर सुनें

ईडी ने अंदासू रविंदर के खिलाफ दर्ज आय से अधिक संपत्ति के मामले में कार्रवाई की है। ईडी ने अपनी कार्रवाई की जानकारी दी है। ईडी के अधिकारियों ने बताया कि पीएमएलए, 2002 के प्रावधानों के तहत अंदासू रविंदर की 7.33 करोड़ रुपये मूल्य की अचल संपत्ति को अस्थायी रूप से कुर्क किया गया है। गौरतलब है कि अंदासू रविंदर अतिरिक्त आयकर निदेशक थे, जिन्हें सरकार ने जबरन रिटायरमेंट दिया था। 



व्यवसायी धनराज कोचर की संपत्ति भी हुई कुर्क
वहीं, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने सोमवार को धोखाधड़ी और आपराधिक साजिश से जुड़े मामले में तमिलनाडु के व्यवसायी धनराज कोचर और उनके परिवार की 49.60 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की है। इसमें 1.16 करोड़ रुपये नकद और 12.68 करोड़ रुपये की ज्वेलरी भी शामिल हैं। इस मामले में यह दूसरी कुर्की है।


इससे पहले साल की शुरुआत में 69.14 करोड़ रुपये अटैच किया गया था। जानकारी के मुताबिक, अभी तक मामले में कुल 118.74 करोड़ रुपये अटैच हो चुका है। ईडी ने धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत कार्रवाई की है। अभी मामले की जांच जारी है। ईडी ने तमिलनाडु पुलिस द्वारा धनराज कोचर व परिजनों के खिलाफ धोखाधड़ी, आपराधिक साजिश तहत दर्ज प्राथमिकी के आधार पर मनी लॉन्ड्रिंग जांच शुरू की। एजेंसी

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00