विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Marginal drop in mercury in North India Heatwave conditions to ease further over next few days

Heat Wave Alert: बादलों ने कम किए गर्मी के तेवर, अगले चार दिन तक लू से राहत, अंडमान निकोबार पहुंचा मानसून

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: देव कश्यप Updated Tue, 17 May 2022 01:19 AM IST
सार

मौसम विभाग ने बताया कि अधिकतम तापमान में मामूली गिरावट देखी गई। अगले कुछ दिनों में उत्तर भारत के कई शहरों में आंधी और बारिश से भीषण गर्मी से और राहत मिलने की संभावना है।आईएमडी के वरिष्ठ विज्ञानी आरके जेनामणि ने सोमवार को कहा कि राष्ट्रीय राजधानी और अन्य उत्तर भारतीय राज्यों में मंगलवार से अगले चार दिनों तक लू नहीं चलेगी। 

शिमला में सोमवार को हुई झमाझम बारिश।
शिमला में सोमवार को हुई झमाझम बारिश। - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें

विस्तार

दिल्ली-एनसीआर समेत उत्तर भारत के कई शहरों में पिछले कुछ दिनों से तेज गर्मी का सामना कर रहे लोगों के लिए राहत भरी खबर है। उत्तर भारत के कई शहरों में सोमवार को आसमान में छाये आंशिक बादलों की वजह से भीषण गर्मी से राहत मिली। यह राहत अगले चार दिनों तक और जारी रह सकती है, लू भी नहीं चलेगी।



मौसम विभाग ने बताया कि अधिकतम तापमान में मामूली गिरावट देखी गई। अगले कुछ दिनों में उत्तर भारत के कई शहरों में आंधी और बारिश से भीषण गर्मी से और राहत मिलने की संभावना है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के वरिष्ठ विज्ञानी आरके जेनामणि ने सोमवार को कहा कि राष्ट्रीय राजधानी और अन्य उत्तर भारतीय राज्यों में मंगलवार से अगले चार दिनों तक लू नहीं चलेगी। 


तापमान में 3-4 डिग्री तक की कमी
जेनामणि ने कहा कि रविवार को सबसे भीषण गर्मी थी। दिल्ली में रविवार को तापमान 45.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया था जो अब घटकर 42.4 डिग्री सेल्सियस पर आ गया है। पीक खत्म हो चुका है। सोमवार को हमने राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और मध्य प्रदेश में तापमान में तीन से चार डिग्री की गिरावट दर्ज की है। उन्होंने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ की वजह से यह बदलाव हुआ है। इस साल मार्च में तापमान को असामान्य बताते हुए मौसम विज्ञानी ने कहा कि इस महीने में 122 साल में सबसे ज्यादा तापमान दर्ज किया गया, तो अप्रैल में, तीसरे सर्वाधिक तापमान का रिकॉर्ड बना।


अंडमान निकोबार पहुंचा मासनून
उधर, सोमवार को मानसून अंडमान सागर और दक्षिण-पूर्वी बंगाल की खाड़ी में पहुंच गया। अगले दो से तीन दिन में इसके पूरे अंडमान सागर और बंगाल की खाड़ी के कई हिस्सों में पहुंचने की उम्मीद है। इससे केरल में भी 27 मई तक मानसून पहुंचने का पूर्वानुमान सही होता नजर आ रहा है।

जानलेवा लू के बाद दिल्ली में अधिकतम तापमान में आंशिक गिरावट
आसमान में आंशिक रूप से बादल छाने के साथ ही राष्ट्रीय राजधानी में सोमवार को अधिकतम तापमान में आंशिक गिरावट आई, लेकिन अभी भी यह सामान्य से दो से चार डिग्री तक अधिक है। दिल्ली की मौसम संबंध मूल सफदरजंग वेधशाला में अधिकतम तापमान 42.4 डिग्री सेल्सियस रहा जो सामान्य से दो डिग्री अधिक था। रविवार को यह 45.6 डिग्री था जो इस साल का अब तक का सर्वाधिक था।


मुंगेशपुर में पांच डिग्री सेल्सियस की गिरावट
स्वचालित मौसम स्टेशन द्वारा सोमवार को अधिकतम तापमान नजफगढ़ में 44.7 डिग्री सेल्सियस, मुंगेशपुर में 44.4 डिग्री सेल्सियस, स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में 44 डिग्री सेल्सियस, जाफरपुर में 43.9 डिग्री सेल्सियस, आयानगर में 43.4 डिग्री सेल्सियस, पीतमपुरा में 43.3 डिग्री सेल्सियस और रिज में 43.1 डिग्री दर्ज किया गया जबकि रविवार को उत्तर पश्चिमी दिल्ली के मुंगेशपुर में पारा 49.2 डिग्री सेल्सियस और नजफगढ़ में 49.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।


भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने मंगलवार को गरज के साथ छींटे पड़ने और आंधी चलने का अनुमान भी जताया है, जिससे तापमान में गिरावट आ सकती है। लेकिन बुधवार को फिर से तापमान बढ़ना शुरू हो जाएगा और शुक्रवार को यह 45 डिग्री तक पहुंच सकता है। मौसम कार्यालय ने शुक्रवार के लिए शहर के कुछ हिस्सों के लिए ‘येलो’ अलर्ट जारी किया है।

हरियाणा, पंजाब में अधिकतम तापमान में मामूली कमी, गर्मी का प्रकोप जारी
हरियाणा और पंजाब में सोमवार को अधिकतम तापमान में मामूली गिरावट देखी गयी। हालांकि अब भी पारा सामान्य से अधिक बना हुआ है।मौसम विभाग के अनुसार हरियाणा के गुरुग्राम में पारा रविवार को 48.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था जबकि सोमवार को तापमान 44.7 डिग्री सेल्सियस रहा था।

हिसार में अधिकतम तापमान 42.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जबकि रविवार को 47.3 डिग्री सेल्सियस था। इसी तरह सिरसा में भी अधिकतम तापमान में गिरावट देखी गई। पंजाब में अमृतसर में अधिकतम तापमान 42.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। दोनों राज्यों की साझा राजधानी चंडीगढ़ में अधिकतम तापमान 41 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

राजस्थान में तापमान में गिरावट के बाद लोगों को मिली भीषण गर्मी से राहत
राजस्थान के अधिकतर शहरों में भी सोमवार को अधिकतम तापमान में दो से पांच डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई। मौसम विभाग के मुताबिक राज्य के अधिकांश स्थानों का तापमान 44 डिग्री सेल्सियस से नीचे दर्ज किया गया जिससे लोगों को लू (गर्म हवाएं) से राहत मिली है।

मौसम विभाग के अनुसार सोमवार को धौलपुर 46.1 डिग्री तापमान के साथ राज्य का सबसे गर्म स्थान रहा। वहीं, अलवर में 44.2 डिग्री, चूरू में 44 डिग्री, करौली -पिलानी में 43.9 डिग्री, जैसलमेर में 43.5 डिग्री, कोटा-फलौदी में 43.4 डिग्री, चित्तौड़गढ़-बाड़मेर में 43 डिग्री सेल्सियस अधिकतम तापमान दर्ज किया गया।

राज्य के अन्य प्रमुख शहरों के अधिकतम तापमान 42.6 डिग्री सेल्सियस से लेकर 39.6 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया। वहीं राज्य के अधिकतर स्थानों पर रविवार रात का तापमान 33.8 डिग्री सेल्सियस से लेकर 23.4 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया था।

विभाग ने अगले 24 घंटों के दौरान झुंझुनूं, अलवर, भरतपुर, धौलपुर, श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़, चूरू जिलो में में मेघगर्जन, धूलभरी आंधी और अचानक 30 से 40 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से हवाएं चलने की संभावना जताई है।

हिमाचल में बारिश के साथ हल्की ओलावृष्टि की संभावना
हिमाचल प्रदेश के शिमला में मौसम विभाग ने कहा कि सोमवार से बुधवार तक राज्य के कुछ हिस्सों में गरज और बारिश के साथ हल्की ओलावृष्टि होने की संभावना है। राज्य के ऊंचाई वाले इलाकों में बारिश और बर्फबारी की संभावना है। कहा गया है कि मध्य-क्षोभमंडल के स्तर में ताजा पश्चिमी विक्षोभ के कारण इसकी धुरी समुद्र तल से 5.8 किमी ऊपर है, जिससे हल्की से मध्यम आंधी या बारिश की उम्मीद है।

ओडिशा में भारी बारिश से राहत
पश्चिमी ओडिशा में रात भर मध्यम से भारी बारिश होने से शुष्क मौसम समाप्त हुआ। मौसम विभाग ने कहा कि बंगाल की खाड़ी से पूर्वोत्तर और पूर्वी भारत की ओर तेज दक्षिण-पश्चिमी हवाओं के कारण अगले तीन-चार दिनों में ओडिशा में गरज के साथ वर्षा और धूल भरी हवाओं के साथ बारिश होने की संभावना है।

मध्यप्रदेश में भी लू से राहत की संभावना
मध्यप्रदेश में भी लू की स्थिति से राहत मिलने की संभावना है, मौसम विभाग ने अगले कुछ दिनों में तापमान में गिरावट का अनुमान लगाया है।आईएमडी के भोपाल कार्यालय के वरिष्ठ मौसम विज्ञानी पीके साहा ने कहा कि अगले तीन दिनों में तापमान में दो से चार डिग्री सेल्सियस की गिरावट आने की संभावना है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में जून के मध्य तक मानसून आने की संभावना है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00