Hindi News ›   India News ›   Mumbai cruise raid case: NCB refutes the allegations, outsiders are included as witnesses

Mumbai cruise raid case: एनसीबी ने आरोपों को किया खारिज, कहा- गवाह के तौर पर शामिल किए जाते हैं बाहरी लोग 

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, मुंबई Published by: प्रांजुल श्रीवास्तव Updated Sat, 09 Oct 2021 03:39 PM IST

सार

क्रूज शिप पर हुई रेड में नौ स्वतंत्र गवाह बनाए गए थे, जिसमें मनीष भानुशाली और केपी गोसावी भी थे।
एनसीबी डिप्टी डीजी ज्ञानेश्वर सिंह
एनसीबी डिप्टी डीजी ज्ञानेश्वर सिंह - फोटो : ट्विटर
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

मुंबई क्रूज रेड मामले में एनसीबी ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को सिरे से खारिज किया है। एनसीबी का कहना है कि पूरी कार्रवाई बिना किसी राजनैतिक दबाव के और पारदर्शी तरीके से की गई है। शनिवार को प्रेसवार्ता के दौरान एनसीबी अधिकारी ने कहा कि राकांपा नेता की ओर से लगाए गए सभी आरोप बेबुनियाद हैं। 

विज्ञापन


उन्होंने बताया कि एनसीबी अपने इंटेलिजेंस व पब्लिक से मिली सूचना के आधार पर कार्रवाई करती है। ऐसी ही एक सूचना के आधार पर क्रूज शिप पर दो अक्तूबर को रेड की गई थी, जिसमें आठ लोगों की गिरफ्तारी हुई थी। एनसीबी ने बताया कि उनके पास से ड्रग्स के साथ एक लाख 35 हजार रुपये भी बरामद हुए थे। 


गवाह के तौर पर शामिल करने होते हैं बाहरी लोग 
एनसीबी ने बताया कि किसी भी कार्रवाई से पहले हमें गवाह के तौर पर लोगों को शामिल करना होता है। क्रूज शिप पर हुई रेड में नौ स्वतंत्र गवाह बनाए गए थे, जिसमें मनीष भानुशाली और केपी गोसावी भी थे। उन्होंने दावा किया कि इस रेड से पहले एनसीबी उन गवाहों को जानती नहीं थी। 



14 लोग लाए गए थे, छह को छोड़ा 
एनसीपी प्रवक्ता के आरोप के बाद एनसीबी मुंबई के क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेडे़ ने कहा कि हमने 3 नहीं, 6 लोगों को जांच के बाद छोड़ा था। क्रूज पर छापेमारी के बाद 14 लोगों को पकड़ कर एनसीबी ऑफिस तक लाया गया था। इनमें से आठ लोगों के पास सबूत होने की वजह से गिरफ्तार किया गया और छह लोगों को साक्ष्यों के अभाव में छोड़ा गया। वानखेड़े ने कहा कि हमारे पास जो कागजात हैं वो सभी कोर्ट में प्रस्तुत किए जा रहे हैं। इस घटना के बाद बाकी 10 और लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

इस बीच, नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के उप महानिदेशक जनरल ज्ञानेश्वर सिंह ने कहा है, नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के खिलाफ लगाए गए सभी आरोप आधारहीन हैं। यह जानबूझकर किया जा रहा हैं। एनसीबी को बदनाम करने के लिए ऐसा किया जा रहा है।

नवाब मलिक ने लगाए थे आरोप 
एनसीबी की प्रेसवार्ता से पहले राकांपा नेता नवाब मलिक ने गंभीर आरोप लगाए थे। उनका कहना था कि उस रात 11 लोगों को हिरासत में लिया गया था और भाजपा नेता के दबाव में तीन लोगों को छोड़ दिया गया था। 

एनसीबी की गिरफ्त में एक और ड्रग्स तस्कर, आर्यन खान से जुड़े हैं तार
क्रूज ड्रग्स पार्टी मामले में एनसीबी को एक और बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने उस ड्रग्स तस्कर को हिरासत में लिया है, जो शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान और अरबाज खान के साथ जुड़ा हुआ है। एनसीबी ने शुक्रवार रात मुंबई सांता क्रूज में छापेमारी के दौरान इस ड्रग तस्कर को हिरासत में लिया। फिलहाल, एनसीबी ने इसकी पहचान उजागर नहीं की है।

एनसीबी के मुताबिक, तस्कर के मुंबई क्रूज पार्टी रेड मामले में आरोपी अरबाज मर्चेंट और आर्यन खान के साथ संबंध हैं। फिलहाल, आगे की जांच जारी है। इससे पहले 2 अक्तूबर को एनसीबी की एक टीम ने मुंबई से गोवा जा रही कॉर्डेलिया क्रूज जहाज पर एक कथित ड्रग्स पार्टी का भंडाफोड़ किया था और आर्यन खान समेत कुल आठ लोगों को गिरफ्तार किया था।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00