ग्लोबल सिटीजन लाइव: मोदी बोले 'गरीबी की चुनौती से तभी लड़ा जा सकता है जब लोग सरकार को अपना साझेदार मान लें'

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, वॉशिंगटन Published by: कीर्तिवर्धन मिश्र Updated Sun, 26 Sep 2021 07:11 AM IST

सार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ग्लोबल सिटीजन लाइव कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि भारत में हम इन्फ्रास्ट्रक्चर के विकास के लिए ट्रिलियन डॉलर से ज्यादा का खर्च कर रहे हैं। 
ग्लोबल सिटीजन लाइव को संबोधित करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।
ग्लोबल सिटीजन लाइव को संबोधित करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। - फोटो : ANI
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी अमेरिका यात्रा संपन्न होने के बाद शनिवार को भारत के लिए रवाना हो गए। पीएम मोदी ने शनिवार को ग्लोबल सिटीजन लाइव समिट को संबोधित किया। इसमें पीएम ने गरीबी की चुनौती से लेकर भारतीय नागरिकों को आधारभूत जरूरतें मुहैया कराने पर भी बयान दिए। मोदी ने कहा कि हमने इस दौर में कोरोनावायरस महामारी के बीच कोरोना वॉरियर्स, डॉक्टरों, नर्सों और मेडिकल स्टाफ की सामूहिक भावना की झलक देखी। इन सभी ने महामारी से लड़ने में अपना सर्वश्रेष्ठ दिया। रिकॉर्ड समय में वैक्सीन बनाने वाले अपने वैज्ञानिकों और इनोवेटर्स में भी हमें यही भावना दिखाई दी।
विज्ञापन

मोदी बोले- कोरोना महामारी में मेडिकल स्टाफ की सामूहिक भावना देखने को मिली

प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना महामारी पर भी बयान दिया। उन्होंने कहा, "अब दो साल से हम मानवता को हमारे जीवन की सबसे बड़ी वैश्विक महामारी से जूझते देख रहे हैं। महामारी से लड़ने का हमारे साझा अनुभव ने हमें सिखाया है कि हम मजबूत हैं और जब साथ हैं तब ज्यादा ताकतवर हैं।

मोदी ने आगे कहा कि हमने इस दौर में कोरोनावायरस महामारी के बीच कोरोना वॉरियर्स, डॉक्टरों, नर्सों और मेडिकल स्टाफ की सामूहिक भावना की झलक देखी। इन सभी ने महामारी से लड़ने में अपना सर्वश्रेष्ठ दिया। रिकॉर्ड समय में वैक्सीन बनाने वाले अपने वैज्ञानिकों और इनोवेटर्स में भी हमें यही भावना दिखाई दी। उन्होंने कहा कि आने वाली पीढ़ियां याद रखेंगी कि किस तरह मानवीय क्षमता बाकी चीजों पर भारी साबित हुई।

गरीबी से लड़ने के लिए तैयार कर रहे इन्फ्रास्ट्रक्चर

मोदी ने गरीबी से लड़ने के लिए भारत में मूलभूत ढांचा तैयार करने की भी बात कही। उन्होंने कहा, "भारत में इस वक्त हर घर में पाइप के जरिए पीने का पानी पहुंचाया जा रहा है। सरकार एक ट्रिलियन डॉलर से ज्यादा अगली पीढ़ी के इन्फ्रास्ट्रक्चर पर खर्च कर रही है। पिछले साल से कुछ महीनों तक और अभी भी हमने 80 करोड़ नागरिकों को मुफ्त अनाज मुहैया कराना जारी रखा है। महामारी के दौर में गरीबी से लड़ने में यह कदम मजबूती प्रदान करेंगे।"

भारत एकमात्र देश जो पेरिस जलवायु समझौते के वादों को पूरा करने की राह पर

पीएम ने कहा, "जलवायु परिवर्तन के खतरे हमारे सामने मुहं बाए खड़े हैं। दुनिया को समझना होगा कि वैश्विक वातावरण में कोई भी बदलाव खुद से शुरू होता है। जलवायु परिवर्तन को रोकने का सबसे आसान और सफल तरीका है कि हम अपने जीवन जीने के तरीके को प्रकृति के अनुरुप ढाल लें।"

मोदी ने कहा, "भारत जी-20 में इकलौता देश है, जो पेरिस जलवायु समझौतों में किए गए वादों को पूरा करने की राह पर है। भारत पूरी दुनिया को अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन के बैनर के नीचे के लिए लाने पर गौरवान्वित है। हम भारत के विकास के साथ मानवता के विकास पर विश्वास करते हैं।"
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00