विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Preparation for Recruitment in Army after two years with new policy there will be four years of short service for level below the officer Rank

Army Recruitment: सेना में दो साल बाद नई नीति से भर्ती करने की तैयारी, अधिकारी से नीचे स्तर के लिए चार साल का शॉर्ट सर्विस होगा

अमर उजाला ब्यूरो, नई दिल्ली। Published by: देव कश्यप Updated Sun, 29 May 2022 07:58 AM IST
सार

नई नीति के तहत भर्ती होने वाले जवानों का कार्यकाल छह महीने के प्रशिक्षण समेत कुल चार वर्ष का हो सकता है। बताया जा रहा है कि नई नीति के तहत भर्ती होने वाले जवानों को सेना छोड़ते समय कुछ लाख रुपये का एकमुश्त पैकेज दिया जाएगा।

सेना भर्ती
सेना भर्ती - फोटो : Amar Ujala (File Photo)
ख़बर सुनें

विस्तार

कोरोना के कारण पिछले दो साल से बंद सेना की भर्ती फिर शुरू करने की तैयारी हो गई है। हालांकि इस बार एक नई नीति के तहत भर्ती की बात कही जा रही है। इस नीति के तहत अधिकारी से नीचे के पदों पर अल्प अवधि (शॉर्ट सर्विस) के लिए सेना में भर्ती की जाएगी।



इस नीति के तहत भर्ती होने वाले जवानों का कार्यकाल छह महीने के प्रशिक्षण समेत कुल चार वर्ष का हो सकता है। बताया जा रहा है कि नई नीति के तहत भर्ती होने वाले जवानों को सेना छोड़ते समय कुछ लाख रुपये का एकमुश्त पैकेज दिया जाएगा। कुछ जवानों को चार साल पूरा होने के बाद दोबारा स्क्रीनिंग के जरिये नियमित करने की भी योजना है। 


सेना से जुड़े सूत्रों के अनुसार इस वर्ष अगस्त से लेकिन दिसंबर के बीच देश के अलग-अलग इलाकों में सेना भर्ती के लिए रैलियां आयोजित होंगी। इस बारे में क्षेत्रीय सैन्य कमानों को पत्र भेजा जा चुका है। बड़े स्तर पर होने वाली भर्तियों के लिए स्क्रीनिंग बोर्ड और मेडिकल अफसरों की तैनाती के आदेश भी दे दिए गए हैं। भर्ती की तैयारियों के साथ आवेदन प्रक्रिया का खाका भी बन गया है। हर भर्ती रैली से 45 दिन पहले उम्मीदवारों को ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया पूरी करनी होगी। 

कोरोना के आरंभ से बंद है भर्ती
मार्च 2020 में कोरोना महामारी की शुरुआत से पहले देश में एक अप्रैल से 30 सितंबर और एक अक्तूबर से 31 मार्च के बीच भर्ती रैलियों का आयोजन होता था। महामारी शुरू होने के बाद इन रैलियों का आयोजन बंद कर दिया गया था। कोरोना की स्थिति में सुधार और देश में काम-काज सामान्य होने के बाद भी सेना में भर्ती नहीं होने को लेकर युवाओं में नाराजगी बढ़ रही थी। संसद में भी इसे लेकर सवाल उठ चुका है। नए सेनाध्यक्ष जनरल मनोज पांडे ने भर्ती प्रक्रिया में तेजी लाने की बात कही थी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00