लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Uddhav Thackeray demands fix criteria for appointment of governors

Uddhav Thackeray: राज्यपाल के पद के लिए नियुक्त व्यक्तियों के लिए मापदंड हों तय, उद्धव ठाकरे ने उठाई मांग

पीटीआई, मुंबई Published by: Jeet Kumar Updated Sat, 03 Dec 2022 04:53 PM IST
सार

उद्धव ठाकरे ने कहा कि महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी छत्रपति शिवाजी महाराज और समाज सुधारक ज्योतिबा फुले और सावित्रीबाई फुले जैसी श्रद्धेय शख्सियतों का अपमान कर रहे हैं। ऐसे लोग फिर भी पद पर बने हुए हैं। 

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (फाइल फोटो)
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (फाइल फोटो) - फोटो : Twitter

विस्तार

कई राज्य सरकारों और राज्यपाल के बीच चल रहा कोल्ड वार थमने का नाम नहीं रहा है। कभी तमिलनाडु से राज्यपाल हटाने की मांग उठती है तो कभी केरल राज्यपाल की मंशा पर सवाल खड़े करता है। वहीं अब इस कड़ी में महाराष्ट्र के पूर्व सीएम उद्धव ठाकरे भी शामिल हो गए हैं। उन्होंने शनिवार को कहा कि राज्य के राज्यपालों के पद के लिए व्यक्तियों के चयन के लिए कुछ मानदंड तय किए जाने चाहिए।



उद्धव ठाकरे ने कहा कि महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी छत्रपति शिवाजी महाराज और समाज सुधारक ज्योतिबा फुले और सावित्रीबाई फुले जैसी श्रद्धेय शख्सियतों का अपमान कर रहे हैं। ऐसे लोग फिर भी पद पर बने हुए हैं। 


ठाकरे ने कहा कि राज्यपाल भारत के राष्ट्रपति का प्रतिनिधि होता है और ऐसे पद पर किसे नियुक्त किया जा सकता है, इसके लिए कुछ मानदंड होने चाहिए। मैं मांग करता हूं कि इस तरह के नियम बनाए जाएं। ताकि सही व्यक्ति इस गद्दी पर बैठ सके। वहीं महाराष्ट्र और कर्नाटक के बीच सीमा रेखा पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे अपने समकक्ष बसवराज बोम्मई के बयान पर मौन थे कि यहां के मंत्रियों का बेलगाम में स्वागत नहीं किया गया था। 

ठाकरे ने कहा कि बोम्मई ने शुक्रवार को महाराष्ट्र के मंत्रियों चंद्रकांत पाटिल और शंभूराज देसाई की बेलगावी की प्रस्तावित यात्रा पर आपत्ति जताई थी। आगे कहा कि शिंदे और उनके विधायकों को बेलगाम और कर्नाटक के अन्य मराठी भाषी क्षेत्रों को महाराष्ट्र में लाने के लिए कामाख्या देवी से प्रार्थना करने के लिए गुवाहाटी (असम) जाना चाहिए था।

उद्धव ने मुंबई की आरे कॉलोनी में मेट्रो रेल कारशेड को लेकर चल रहे विवाद पर महाराष्ट्र सरकार की आलोचना की। उन्होंने कहा कि यह सुविधा कांजुरमार्ग में बन सकती थी लेकिन इस पर ध्यान नहीं दिया जा रहा। साथ ही उन्होंने कहा कि कोई ये न समझे कि पार्टी कमजोर हो गई है, बल्कि हर बीतते दिन के साथ मजबूत होती जा रही है।

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00