बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
बुध का तुला राशि गोचर, जानें क्या होगा आपके जीवन पर प्रभाव
Myjyotish

बुध का तुला राशि गोचर, जानें क्या होगा आपके जीवन पर प्रभाव

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

बेनकाब हुआ पाकिस्तान: आतंकी बोला- सेना देती थी प्रशिक्षण, वो कहते थे इस्लाम खतरे में है और...

कश्मीर में एलओसी पर उड़ी सेक्टर में सेना ने पाकिस्तानी आतंकी को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आतंकी की पहचान बाबर के रूप में हुई है। उसके पास से एक एके-47 राइफल, दो ग्रेनेड एक रेडियो सेट बरामद हुआ है। पूछताछ के दौरान आतंकी द्वारा किए गए खुलासों ने एक बार फिर पाकिस्तान को बेनकाब कर दिया है।

आतंकवादी अली बाबर ने पूछताछ में खुलासा किया है कि उसके छह आतंकवादियों का समूह मुख्य रूप से पाकिस्तानी पंजाब का था। उसने कहा कि गरीबी के कारण उसे गुमराह किया गया। इसके बाद लश्कर-ए-तैयबा में शामिल होने के लिए लालच दिया गया। मां के इलाज के लिए 20 हजार रुपये आतंकियों की ओर से दिए गए। साथ ही 30 हजार रुपये देने का वादा भी किया गया। हथियार चलाने का प्रशिक्षण देने वालों में अधिकांश पाकिस्तानी सेना के जवान थे। आतंकी ने बताया कि उसे इस्लाम और मुसलमान के नाम पर उकसाया गया, साथ ही आतंकवादी बनने पर मजबूर किया गया। 
... और पढ़ें
उड़ी ऑपरेशन में बरामद हथियार और पकड़ा गया आतंकी उड़ी ऑपरेशन में बरामद हथियार और पकड़ा गया आतंकी

सेना ने किया खुलासा: पकड़ा गया पाकिस्तान से आया आतंकी, दस दिन में घुसपैठ की तीन साजिशें नाकाम

उत्तरी कश्मीर में एलओसी पर उड़ी सेक्टर में सेना ने पाकिस्तानी आतंकी को गिरफ्तार करने में सफलता पाई है। पकड़े गए आतंकी की पहचान बाबर के रूप में हुई है। आतंकी के पास से एक एके-47 राइफल, दो ग्रेनेड एक रेडियो सेट बरामद हुआ है। उसकी उम्र 18 साल है। 26 सितंबर को एक आतंकी मारा भी गया था। घुसपैठ की इन साजिशों ने एक बार फिर एलओसी पर पाकिस्तान की साजिश का पर्दाफाश किया है। ये बातें मेजर जनरल वीरेंद्र वत्स जीओसी, 19 डिविजन ने कहीं।

नौ दिनों तक आतंकियों के खिलाफ चला ऑपरेशन
उन्होंने बताया कि उड़ी में एलओसी पर नौ दिनों तक आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन चलाया गया। आतंकी घुसपैठ की जानकारी मिलने पर यह ऑपरेशन 18 सितंबर को शुरू किया गया था। इस दौरान आतंकियों से मुठभेड़ हुई। दो आतंकी भारतीय सीमा में थे जबकि चार आतंकी सीमा पार थे। जवाबी कार्रवाई के बाद पाकिस्तान की तरफ के चार आतंकी वापस चले गए।
यह भी पढ़ें- 
जम्मू-कश्मीर: किसे मारने आया था आतंकी सुनैन? दिल्ली में कोई निशाने पर था? अब तक ये बातें आईं सामने

मुजफ्फराबाद की आतंकी पाठशाला में दिया गया था प्रशिक्षण
बताया कि सीमा में घुसपैठ करने वाले दो आतंकवादियों को घेरने के लिए सुरक्षाबलों ने मोर्चा संभाला। 25 सितंबर को एक मुठभेड़ हुई, जिसमें एक आतंकवादी को मार गिराया गया, जबकि दूसरा पकड़ा गया। जिसने अपना नाम अली बाबर बताया है। उसने स्वीकार किया है कि वह लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी है और मुजफ्फराबाद में उसे प्रशिक्षित किया गया था।

पाकिस्तानी सेना के जवान देते थे आतंकी को प्रशिक्षण
आतंकवादी अली बाबर ने पूछताछ में खुलासा किया है कि उसके छह आतंकवादियों का समूह मुख्य रूप से पाकिस्तानी पंजाब का था। उसने कहा कि गरीबी के कारण उसे गुमराह किया गया। इसके बाद लश्कर-ए-तैयबा में शामिल होने के लिए लालच दिया गया। मां के इलाज के लिए 20 हजार रुपये आतंकियों की ओर से दिए गए। साथ ही 30 हजार रुपये देने का वादा भी किया गया। हथियार चलाने का प्रशिक्षण देने वालों में अधिकांश पाकिस्तानी सेना के जवान थे। आतंकी ने बताया कि उसे इस्लाम और मुसलमान के नाम पर उकसाया गया, साथ ही आतंकवादी बनने पर मजबूर किया गया।
... और पढ़ें

सेना को बड़ी सफलता: उड़ी में पाकिस्तानी आतंकी ढेर और एक पकड़ा भी गया, घुसपैठ की फिराक में हैं दहशतगर्द

उत्तरी कश्मीर में एलओसी पर उड़ी सेक्टर में सेना ने एक पाकिस्तानी आतंकी को गिरफ्तार करने में सफलता पाई है। इसके साथ ही एक आतंकी को मार गिराया गया है। ये आतंकी घुसपैठ की कोशिश कर रहे थे। आतंकियों की घुसपैठ की कोशिश के बाद इलाके में बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान चलाया जा रहा है।

इससे पहले रविवार को उड़ी सेक्टर के गोहलन इलाके में संदिग्ध हरकत देखने के बाद सतर्क जवानों ने पाया कि आतंकियों का एक ग्रुप घुसपैठ करने की कोशिश कर रहा है। इस पर उन्होंने ललकारा तो आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई से शुरू हुई मुठभेड़ में एक आतंकी मार गिराया गया।

बता दें कि कुछ दिन पहले भी हथलंगा जंगल क्षेत्र में तीन आतंकियों को मार गिराया गया था जो घुसपैठ कर दाखिल हुए थे। उनके पास से भारी मात्रा में हथियार और गोला बारूद भी बरामद हुआ था। वहीं 18 सितंबर को भी उड़ी सेक्टर में आतंकियों द्वारा घुसपैठ की एक कोशिश की गई थी जिसे सतर्क जवानों ने नाकाम बनाया था।

हर साजिश से निपटने के लिए तैयार हैं हम, लोगों को घबराने की जरूरत नहीं- सेना
उड़ी सेक्टर में आतंकी घुसपैठ को लेकर सोमवार को सेना की 15वीं कोर के जनरल ऑफिसर कमांडिंग (जीओसी) लेफ्टिनेंट जनरल डी पी पांडेय ने कहा कि लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है। सेना इस तरह की साजिशों से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है।
यह भी पढ़ें- 
जम्मू-कश्मीर: किसे मारने आया था आतंकी सुनैन? दिल्ली में कोई निशाने पर था? अब तक ये बातें आईं सामने

बारामुला के बोनियार में उन्होंने कहा कि कश्मीर के लोगों को एलओसी पर स्थिति के बारे में चिंता करने की जरूरत नहीं है। सेना एलओसी पर या भीतरी इलाकों में किसी भी स्थिति से निपटने के लिए सतर्क और तैयार है। कश्मीर के लोग अलगाववादियों के खेल को समझ गए हैं और पूरे क्षेत्र में शांतिपूर्ण माहौल बना हुआ है। पर्यटकों की संख्या बढ़ रही है और होटलों में बुकिंग भी अच्छी है।
... और पढ़ें

पुलवामा: आतंकियों के दो मददगार गिरफ्तार, श्रीनगर में आतंकी रियाज के इशारे पर बनाया ठिकाना भी ध्वस्त

कश्मीर में सुरक्षाबलों को बड़ी सफलता मिली है। श्रीनगर पुलिस, पुलवामा पुलिस और सेना की 50 आरआर(राष्ट्रीय राइफल्स) की संयुक्त टीम ने आतंकियों के दो मददगारों(ओवर ग्राउंड वर्कर) को गिरफ्तार किया है।

आतंकियों से पूछताछ में पता चला है कि आतंकवादी रियाज ने उन्हें श्रीनगर के राजोरीकदल में एक ठिकाना बनाने का काम सौंपा था। इस खुलासे के बाद सीआरपीएफ ने अभियान शुरू किया और ठिकाने का पता लगाया। हालांकि ठिकाने से कोई बरामदगी नहीं हुई है। जिस घर में ठिकाना बनाया गया था उसके मालिक से पूछताछ की जा रही है।
यह भी पढ़ें- 
जम्मू-कश्मीर: किसे मारने आया था आतंकी सुनैन? दिल्ली में कोई निशाने पर था? अब तक ये बातें आईं सामने

उधर, उत्तरी कश्मीर में एलओसी पर उड़ी सेक्टर में सेना ने एक पाकिस्तानी आतंकी को गिरफ्तार करने में सफलता पाई है। इसके साथ ही एक आतंकी को मार गिराया गया है। ये आतंकी घुसपैठ की कोशिश कर रहे थे। आतंकियों की घुसपैठ की कोशिश के बाद इलाके में बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान चलाया जा रहा है।

इससे पहले रविवार को उड़ी सेक्टर के गोहलन इलाके में संदिग्ध हरकत देखने के बाद सतर्क जवानों ने पाया कि आतंकियों का एक ग्रुप घुसपैठ करने की कोशिश कर रहा है। इस पर उन्होंने ललकारा तो आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई से शुरू हुई मुठभेड़ में एक आतंकी मार गिराया गया।

बता दें कि कुछ दिन पहले भी हथलंगा जंगल क्षेत्र में तीन आतंकियों को मार गिराया गया था जो घुसपैठ कर दाखिल हुए थे। उनके पास से भारी मात्रा में हथियार और गोला बारूद भी बरामद हुआ था। वहीं 18 सितंबर को भी उड़ी सेक्टर में आतंकियों द्वारा घुसपैठ की एक कोशिश की गई थी जिसे सतर्क जवानों ने नाकाम बनाया था।

 
... और पढ़ें

बड़ी खबर: सियाचिन बेस कैंप तक जा सकेंगे पर्यटक, लद्दाख के अग्रिम इलाके भी पर्यटकों के लिए खुले

आतंकी ठिकाना, फाइल फोटो
देश भर के पर्यटक अब सियाचिन बेस कैंप तक की सैर कर सकेंगे। सुरक्षा कारणों के चलते विदेशी पर्यटकों के आने की मनाही होगी। पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए यह शुरुआत की गई है। विश्व पर्यटन दिवस पर लद्दाख स्वायत्त पहाड़ी विकास परिषद लेह के मुख्य कार्यकारी पार्षद ताशी ग्यालसन ने पहले दल को सियाचिन बेस कैंप के लिए रवाना किया। इस अवसर पर सांसद जाम्यांग सेरिंग नामग्याल भी मौजूद रहे।
यह भी पढ़ें-
जम्मू-कश्मीर: किसे मारने आया था आतंकी सुनैन? दिल्ली में कोई निशाने पर था? अब तक ये बातें आईं सामने

लद्दाख पर्यटन विभाग के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर सियाचिन बेस कैंप को घरेलू पर्यटकों के लिए खोलने की जानकारी दी गई है। लद्दाख में भारत-पाकिस्तान एलओसी से सटे सियाचिन ग्लेशियर को विश्व का सबसे ऊंचा युद्ध क्षेत्र कहा जाता है। हालांकि ग्लेशियर के शिखर से बेस कैंप काफी दूर है। लेकिन साहसिक पर्यटन प्रेमियों के लिए बेस कैंप तक आने की अनुमति बड़ी राहत होगी।

 
... और पढ़ें

नितिन गडकरी बोले: तीन साल में बन जाएगा जम्मू-श्रीनगर हाईवे, आठ घंटे में पूरा होगा दिल्ली-कश्मीर का सफर

जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाईवे का काम तीन वर्ष में पूरा हो जाएगा। मेगा हाईवे और टनल प्रोजेक्ट पूरा होने पर दिल्ली से कश्मीर तक सड़क से सफर आठ घंटे में पूरा होगा। यह घोषणा केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने की। गडकरी सोमवार को 3612 करोड़ की लागत से बनने वाले चार राष्ट्रीय राजमार्ग की आधारशिला रखने के दौरान बोल रहे थे। इन परियोजनाओं के तहत 121 किलोमीटर लंबी सड़कें बनेंगी। 

गडकरी ने कहा कि किसी क्षेत्र के सामाजिक आर्थिक विकास में रोड कनेक्टिविटी का महत्वपूर्ण योगदान होता है। मंत्रालय धन की कमी आड़े नहीं आने देगा। उन्होंने विश्वास दिलाया कि जम्मू-कश्मीर में पर्यटन और आर्थिक विकास के लिए सभी प्रकार की सुविधाएं मुहैया दी जाएंगी। नए प्रोजेक्ट रोड कनेक्टिविटी को और बेहतर बनाएंगे जो स्थानीय लोगों की आजीविका के साधनों में वृद्धि के साथ ही पर्यटन व कारोबारी गतिविधियों को बढ़ावा देंगे। उन्होंने कहा कि दिल्ली से जम्मू हो या जम्मू से श्रीनगर, यात्रा समय को घटाकर आधा करने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रतिष्ठित श्रीनगर रिंग रोड का काम 2023 के अंत तक पूरा हो जाएगा।  

कश्मीर दिसंबर 2022 तक रेल से जुड़ेगा कन्याकुमारी से
इस अवसर पर उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि यह परियोजनाएं प्रदेश में सामाजिक आर्थिक विकास को बुलंदी देंगे। पिछले कुछ वर्षों में जम्मू-कश्मीर के बुनियादी ढांचे में आधारभूत बदलाव आया है। 2014 तक पूर्ववर्ती जम्मू-कश्मीर व लद्दाख में सात राष्ट्रीय राजमार्ग थे, जिनकी संख्या 2021 में बढ़कर अकेले जम्मू-कश्मीर में 11 हो गई है। 2015 में प्रधानमंत्री ने रोड के लिए 40900 करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट घोषित किए थे। इनमें से 38 हजार करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट पर काम चल रहा है। दिसंबर 2022 तक कश्मीर रेल से कन्याकुमारी से जुड़ जाएगा। पिछले एक साल में 11 टनल प्रोजेक्ट मंजूर हुए हैं। चिनैनी-किश्तवाड़ हाईवे पर 10 हजार करोड़ की लागत से चार टनल बनेंगी। जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर चार हजार करोड़ से टनल बन रही हैं। इसके अलावा तीन हजार करोड़ से पांच फ्लाईओवर भी बनेंगे। 

मनोज सिन्हा ने आगे कहा कि आज सड़क निर्माण की गति पहले की अपेक्षा काफी तेज है। इस साल आठ हजार किलोमीटर सड़कों पर तारकोल डालने का लक्ष्य रखा गया है। केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर सड़क निर्माण में देशभर में तीसरे स्थान पर है। उप राज्यपाल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में 2014 से लोगों के जीवनस्तर में गुणात्मक परिवर्तन आया है। राष्ट्रीय राजमार्ग से लेकर ग्रामीण सड़कें काफी बेहतर हुई हैं। उन्होंने नितिन गडकरी को भी बधाई दी जिन्होंने देश में तेज गति से सड़क निर्माण का रिकॉर्ड बनाया।  

केंद्र सरकार हर संभव मदद करेगी: वीके सिंह
केंद्रीय सड़क परिवहन राज्यमंत्री जनरल (सेवानिवृत्त) वीके सिंह ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में रोड कनेक्टिविटी को बेहतर बनाने के लिए केंद्र सरकार हर संभव मदद करेगी। पर्यटन के साथ ही कारोबारी गतिविधियां बढ़ेंगी। इस अवसर पर एनएचएआई के सदस्य परियोजना मनोज कुमार, सांसद डॉ. फारूक अब्दुल्ला व हसनैन मसूदी, डीडीसी अध्यक्ष सफीना बेग व अन्य लोग उपस्थित थे। 

इन परियोजनाओं का किया शिलान्यास
बारामुला-गुलमर्ग (43 किमी), दोनीपावा वाया आशाजीपोरा से एनएच 44 तक डबल लेन बाईपास, वैलू से दोनीपावा (28 किमी) व श्रीनगर रिंग रोड। 
... और पढ़ें

पुलवामा: कार्यभार संभालते ही एक्शन में दिखे एसएसपी गुलाम जिलानी वानी, कई चौकियों का किया दौरा

एक और साजिश नाकाम: अखनूर में बीएसएफ को बड़ी सफलता, हेरोइन और हथियारों का जखीरा बरामद

बीएसएफ(सीमा सुरक्षा बल) ने सोमवार को अखनूर में एक संदिग्ध बैग बरामद किया। जांच के दौरान बैग से चार पिस्टल, 100 कारतूस, आठ मैग्जीन, एक किलो निशाना पदार्थ(हेरोइन) और 2.75 लाख रुपये(नकली भारतीय मुद्रा) बरामद की गई।

बीएसएफ पीआरओ ने कहा कि एक विशिष्ट इनपुट पर कार्रवाई करते हुए, अंतर्राष्ट्रीय सीमा के पास तलाशी अभियान चलाया गया था। तलाशी के दौरान मोटी सरकंडा घास में छिपा एक बैग मिला। जिससे हथियार, गोला-बारूद, नारकोटिक्स(हेरोइन) और नकली भारतीय मुद्रा का बड़ा जखीरा बरामद हुआ है।

यह भी पढ़ें- 
जम्मू-कश्मीर: किसे मारने आया था आतंकी सुनैन? दिल्ली में कोई निशाने पर था? अब तक ये बातें आईं सामने

इससे पहले रविवार को जम्मू में एक आतंकी गिरफ्तार किया गया था। उससे पूछताछ में कई चौंकाने वाली बातें सामने आईं हैं। उसको जम्मू में किसी व्यक्ति को मारने (सिलेक्टिव किलिंग) का टारगेट दिया गया था। इतना ही नहीं आतंकी सुनैन जम्मू रेलवे स्टेशन से ट्रेन पकड़कर कहीं जाने की फिराक में था। अब उसे ट्रेन पकड़कर कहां जाना था, यह फिलहाल जांच का विषय है। लेकिन आतंकी के दिल्ली जाने की आशंका भी है। इसके साथ एक सवाल यह भी है, यदि उसे किसी व्यक्ति को मारने का टारगेट दिया गया था तो वह दिल्ली जाकर किसको मारना चाहता था? इसे लेकर भी आतंकी से गहन पूछताछ की जा रही है।

सूत्रों का कहना है कि आतंकी सुनैन तीन दिन पहले ही कश्मीर से जम्मू पहुंचा था। वह बठिंडी में ओजी वर्करों के पास रह रहा था। वह कश्मीर से ही पिस्टल लेकर आया था, जो गोलियों से भरी हुई थी। रविवार सुबह 11 बजे बठिंडी से ही निकला था। जिसको एक ओजी वर्कर ने अपनी स्कूटी पर बिठाया और रेलवे स्टेशन छोड़ने के लिए आने लगा, क्योंकि पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप को पहले से ही आतंकी की भनक लग गई थी, इसलिए पहले ही नाका लगाया लिया गया और इसे पकड़ लिया गया।
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X