लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Jammu and Kashmir ›   Poonch ›   cultural

आरएसएस ने मनाया स्थापना दिवस

cultural
विज्ञापन
ख़बर सुनें
पुंछ। विजयदशमी पर आरएसएस की तरफ से बुधवार को स्थापना दिवस मनाया गया। संघ की तरफ से नगर में पथ संचलन निकाला गया। इसमें सैकड़ों बाल, तरुण, युवा और प्रौढ़ स्वयंसेवकों ने संघ घोष की धुन पर कदम से कदम मिलाते हुए भाग लिया।

नगर के कृष्ण चंद्र पार्क से शुरू हुआ यह पथ संचलन नगर के सभी मोहल्लों, चौक चौराहों, बजारों से होता हुआ पुरानी पुंछ, खखानाबन पुंछ किले के रास्ते दशनामी अखाड़ा में पहुंच कर संपन्न हुआ। जहां स्वयं सेवकों ने सामूहिक भोजन किया। पथ संचलन की अध्यक्षता संघ चालक अशोक जोहर ने की। जबकि रमेश रैना मुख्य अतिथि और क्षेत्रपाल शर्मा मुख्य वक्ता उपस्थित हुए। सर्वप्रथम विजय दशमी की परंपरा को निभाते हुए शस्त्र पूजन किया गया। इसके उपरांत मुख्य अतिथि और मुख्य वक्ता ने विजय दशमी और आरएसएस के संबंधों पर बताया कि 1925 में आज ही के दिन विजय दशमी पर नागपुर में डॉक्टर केशवराव बलिराम हेडगेवार ने संघ की स्थापना की।

आरएसएस के स्थापना दिवस पर किया पथ संचालन
सुंदरबनी। आरएसएस के स्थापना दिवस पर शस्त्र पूजा करके नगर में पथ संचलन किया गया। आरएसएस के जिला संघचालक चमन लाल तथा वैद्य सोमजी के नेतृत्व में सैकड़ों स्वयंसेवकों ने पहले नगर के राधा कृष्ण मंदिर में शस्त्र पूजा किया। उसके बाद बैंड की धुन के साथ बाजारों से पथ संचालन किया। इस मौके पर स्वयंसेवकों से चमन और वैद्य सोमजी ने कहा कि मां भारती का परम वैभव के शिखर पर ले जाने के लिए अटल संकल्प के साथ शुरू हुआ संघ नौ दशक से समाज में सांस्कृतिक राष्ट्रवाद की चेतना जागृत कर व्यक्ति निर्माण से राष्ट्र निर्माण कर रहा है। आज ही के दिन आरएसएस की स्थापना हुई। इसीलिए सभी स्वयंसेवक शस्त्र पूजा करके पथ संचलन कर राष्ट्रवाद की चेतना जागृत करते हैं। संवाद
पुंछ। नियंत्रण रेखा पर पुंछ ब्रिगेड के तत्वाधान में सेना की दुर्गा बटालियन की तरफ से बुधवार को विजय दशमी पर गुलपुर मैदान में शस्त्र पूजन किया गया। इसमें हथियारों का पूजन करने के उपरांत सेना की तरफ से हथियारों की प्रदर्शनी लगाई गई। जिसे देखने के लिए सैकड़ों स्कूली बच्चे और शिक्षक पहुंचे। जहां सेना के अधिकारियों द्वारा बच्चों को छोटे से बड़े हथियारों और देश की सुरक्षा के लिए प्रयोग में लाए जाने वाले आधुनिक उपकरण दिखाते हुए उनके बारे में जानकारी दी गई।
सेना के हथियारों को देखकर विद्यार्थी काफी खुश हुए। इस प्रकार के आयोजन के लिए सेना के अधिकारियों का आभार प्रकट करते हुए कहा कि हमें सेना के पास मौजूद हथियार देखकर काफी प्रसन्नता एवं गर्व हो रहा है कि हमारी सेना दुश्मन को धूल चटाने के लिए सक्षम है। सेना के पास मौजूद यह आधुनिक हथियार दुश्मन को हमला करने तत्काल बाद ही मौत के मुंह में पहुंचा देंगे।
कई युवाओं का कहना था कि यह प्रदर्शनी देख कर हमारा मन भी सेना में भर्ती होकर देश की सेवा करने का होने लगा है। इस अवसर पर कई विद्यार्थियों ने हाथों में सेना के हथियारों को थाम कर बडे़ ही करीब से उनकी खूबियों के बारे में जानकारी प्राप्त की।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00