लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Jammu and Kashmir ›   Jammu ›   Udhampur Former MLA Balwant Singh Mankotia joins BJP in Delhi

सियासत: भाजपा के हुए पूर्व विधायक बलवंत सिंह मनकोटिया, दिल्ली में थामा पार्टी का दामन

अमर उजाला नेटवर्क, जम्मू Published by: kumar गुलशन कुमार Updated Thu, 29 Sep 2022 05:05 PM IST
सार

बलवंत सिंह मनकोटिया उधमपुर से दो बार विधायक रह चुके हैं। उनका उधमपुर और उसके साथ लगते क्षेत्र में अच्छा प्रभाव है। आज दिल्ली में उन्होंने भाजपा का दामन थाम लिया है।

Balwant Singh Mankotia
Balwant Singh Mankotia - फोटो : ANI
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

उधमपुर के पूर्व विधायक बलवंत सिंह मनकोटिया ने आज दिल्ली में भाजपा का दामन थाम लिया है। उन्होंने केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष रविंद्र रैना की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता ली। वह उधमपुर विधानसभा क्षेत्र से दो बार विधायक रहे हैं।



जम्मू-कश्मीर पैंथर्स पार्टी के झंडे तले अपना राजनीतिक सफर शुरू करने वाले मनकोटिया साल 2002 और 2008 में लगातार दो बार उधमपुर के विधायक रहे, लेकिन, पार्टी की अंतर्कलह के चलते इसी साल फरवरी में उन्होंने पैंथर्स से खुद को अलग कर लिया। वह पैंथर्स पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष थे। वह अप्रैल 2022 में आम आदमी पार्टी में शामिल हो गए थे। उन्हें हाल ही में आम आदमी पार्टी ने बाहर का रास्ता दिखाया था।


इसी बीच उधमपुर जब उनके सहयोगी छह पार्षदों ने भाजपा के चार के पार्षदों के साथ मिलकर नगर परिषद चेयरमैन के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश किया तो उनके भाजपा में शामिल होने की अटकलें लगाई जाने लगीं। बुधवार को जब मनकोटिया दिल्ली के लिए रवाना हुए तो शहर में फिर चर्चा का बाजार गर्म हो रहा।

कब हुए थे आप में शामिल

बलवंत सिंह मनकोटिया उधमपुर से दो बार विधायक रह चुके हैं। उनका उधमपुर और उसके साथ लगते क्षेत्र में अच्छा प्रभाव है। इसी साल अप्रैल में बलवंत सिंह मनकोटिया ने आम आदमी पार्टी के साथ अपना राजनीतिक सफर शुरू किया था। इससे पहले मनकोटिया जम्मू-कश्मीर पैंथर्स पार्टी के अध्यक्ष थे। इसी साल फरवरी में उन्होंने पैंथर्स का साथ छोड़ दिया था और फिर अप्रैल में आम आदमी पार्टी का दामन थामा था, लेकिन अब यह साथ आगे नहीं बढ़ पाया है।

कैसा है अब तक का राजनीतिक सफर

2002 में बलवंत सिंह मनकोटिया ने उधमपुर से अपना पहला चुनाव जीता। उस दौरान पीडीपी और कांग्रेस पार्टी की गठबंधन सरकार का हिस्सा रहे। 2002 में बलवंत सिंह, माता वैष्णो देवी के नाम पर डोगरी भाषा में शपथ लेने वाले पहले विधायक थे। इसके बाद 2008 के जम्मू-कश्मीर के विधानसभा चुनावों में उन्होंने अपनी सीट को बरकरार रखा। उस दौरान मनकोटिया विपक्ष के मुखर सदस्य रहे।  

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00