बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
बुध का तुला राशि गोचर, जानें क्या होगा आपके जीवन पर प्रभाव
Myjyotish

बुध का तुला राशि गोचर, जानें क्या होगा आपके जीवन पर प्रभाव

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

बारामुला: 'राइड कश्मीर' साइकिलिंग अभियान में करनाह की उरफाना को मिला 30वां स्थान

'राइड कश्मीर' साइकिलिंग अभियान में करनाह की उरफाना मुनीर, फदिया मुनीर और बिस्मा ने भाग लिया। सेना और करनाह घाटी के स्थानीय लोगों ने आयोजन में इन लड़कि...

13 सितंबर 2021

Digital Edition

पांच बड़ी खबरें: महबूबा बोली भारत सरकार के फरमानों का नहीं कोई अंत, जम्मू-कश्मीर में इस बार लंबा हो सकता है मानसून

पूर्व मुख्यमंत्री एवं पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने शुक्रवार को फिर एक बार केंद्र पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर के लोगों को सशक्त बनाने के लिए भारत सरकार के फरमानों का कोई भी अंत नहीं है। रोजगार पैदा करने के लिए भारत सरकार के लंबे दावों के विपरीत वे जानबूझकर सरकारी कर्मचारियों को बर्खास्त कर रहे हैं। जबकि वह जानते हैं कि जम्मू-कश्मीर में लोग अपनी आजीविका के लिए सरकारी नौकरियों पर निर्भर हैं। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.......

जम्मू-कश्मीर में अभी भी मानसून सक्रिय है। प्रदेश के कई जिलों में मौसम ने करवट बदली है। लगातार पिछले दो दिनों से कई इलाकों में बारिश हो रही है जिससे पारे में गिरावट आई है। अधिकांश जिलों में रात्रि में ठंडक का अहसास बढ़ा है। जम्मू में गुरुवार की शुरुआत हल्के बादलों के साथ हुई थी। दोपहर को अचानक काली घटाएं छाने के साथ बारिश शुरू हुई। कुछ देर के लिए हुई बारिश से पारे में गिरावट आई है। वहीं शुक्रवार को भी जम्मू-कश्मीर में ठंया मौसम बना रहा। बता दें कि मौसम के बदले मिजाज के बीच जम्मू कश्मीर में मानसून के सामान्य अवधि से बढ़ने की उम्मीद है।
पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.......

ट्राईबल यूथ इंगेजमेंट प्रोग्राम के तहत आदिवासी समुदय के युवाओं को कुशल बनाया जाएगा। युवाओं के कौशल विकास के लिए केंद्रीय विश्वविद्यालय जम्मू में आठ विभिन्न कोर्स में कौशल विकास पाठ्यक्रम शुरू किया जा रहा हैं। यह कोर्स 3 महीने से 2 वर्ष के होंगे। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.......

जम्मू-कश्मीर में एसएसपी व एसपी रैंक के 13 अधिकारियों का तबादला किया गया है। इसमें तीन आईपीएस हैं। गृह विभाग की ओर से गुरुवार की देर रात आदेश जारी किया गया। आदेश के अनुसार प्रतीक्षारत आईपीएस सुनील कुमार को एडीजीपी रेलवे, पुलवामा के एसएसपी आशीष कुमार मिश्रा को अनंतनाग का एसएसपी तथा एडिशनल एसपी अनंतनाग निखिल बोरकर को एसपी गांदरबल बनाया गया है। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.......

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख हाईकोर्ट के न्यायाधीश अली मोहम्मद माग्रे ने वीरवार को श्रीनगर में जेएंडके न्यायिक अकादमी में ई-कोर्ट सेवाओं के लिए एडवोकेट मास्टर ट्रेनरों के चौथे चरण के प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्घाटन किया। न्यायाधीश माग्रे ने कहा कि ई-कोर्ट सेवाओं का बेहतर प्रयोग होना चाहिए ताकि तीव्र न्याय वितरण प्रणाली सुनिश्चित हो सके। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.......
... और पढ़ें
jammu kashmir top news jammu kashmir top news

कश्मीर में दर्दनाक हादसा:  गहरी खाई में गिरने से बीआरओ ट्रक चालक की मौत, उड़ी में मचा कोहराम

कश्मीर के उड़ी में शुक्रवार को बीआरओ(सीमा सड़क संगठन) के एक ट्रक चालक की गहरी खाई में गिरने से मौत हो गई। यह हादसा उस समय हुआ जब चालक ने ट्रक को धोने के लिए कलसन चोलन इलाके में एक पुलिया के पास वाहन खड़ा किया था। इसी दौरान चालक पहाड़ी से गहरी खाई में गिर गया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। 
यह भी पढ़ें- 
शहीद के पिता की दर्द भरी दास्तां: बेटे की तलाश में रोज फावड़ा लेकर निकलता था, कई कब्रें खोद डालीं, फिर...    

मृतक की पहचान नूरखा उड़ी निवासी सैयद खादिम हुसैन के पुत्र सैयद जाविद हुसैन (32) के रूप में हुई है। हादसे की जानकारी मिलते ही पुलिस की एक टीम मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में ले लिया। उधर, बेटे की मौत की सूचना मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया।
यह भी पढ़ें-  उड़ी में 2016 दोहराना चाहते थे आतंकी: भनक लगते ही जवानों ने संभाला मोर्चा, पढ़ें दहशतगर्दों के खात्मे की कहानी    
... और पढ़ें

महबूबा बोली: भारत सरकार के फरमानों का नहीं कोई अंत, जानबूझकर सरकारी कर्मचारियों को किया जा रहा बर्खास्त

पूर्व मुख्यमंत्री एवं पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने शुक्रवार को फिर एक बार केंद्र पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर के लोगों को सशक्त बनाने के लिए भारत सरकार के फरमानों का कोई भी अंत नहीं है।

रोजगार पैदा करने के लिए भारत सरकार के लंबे दावों के विपरीत वे जानबूझकर सरकारी कर्मचारियों को बर्खास्त कर रहे हैं। जबकि वह जानते हैं कि जम्मू-कश्मीर में लोग अपनी आजीविका के लिए सरकारी नौकरियों पर निर्भर हैं।

उन्होंने कहा कि एक तरफ तो सरकार कहती हैं कि जम्मू-कश्मीर में सब ठीक है और वहीं दूसरी तरफ सरकार कश्मीरियों के पीछे पड़ी हुई है। महबूबा का कहना है कि आतंकियों के साथ संबंध कश्मीरियों को बेदखल करने और अपमानित करने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला एक नया बहाना है।

यह भी पढ़ें-
जम्मू-कश्मीर: एसएसपी-एसपी रैंक के 13 अफसर बदले, तबादला सूची में तीन आईपीएस

बता दें कि जम्मू-कश्मीर सरकार ने अपने छह कर्मचारियों को आतंकियों के साथ संबंध रखने और ओवरग्राउंड वर्कर के रूप में काम करने के लिए बर्खास्त कर दिया था। प्रशासन के इसी कदम पर महबूबा मुफ्ती ने रोष व्यक्त करते हुए यह ट्वीट किया है।

प्रदेश सरकार ने राष्ट्र सुरक्षा के लिए कई अहम कदम उठाए हैं। इसी संबंध में कुछ समय पहले जम्मू-कश्मीर सरकार ने आदेश भी जारी किया था जिसमें देशद्रोहियों का समर्थन करने पर सरकारी कर्मचारियों की नौकरी जाने की बात कही गई थी।

... और पढ़ें

शहीद के पिता की दर्द भरी दास्तां:  बेटे की तलाश में रोज फावड़ा लेकर निकलता था, कई कब्रें खोद डालीं, फिर...

कश्मीर में गुरुवार को सेना ने शहीद जवान शाकिर मंसूर को उनके गांव में श्रद्धांजलि दी। पुलिस को शाकिर मंजूर का शव 13 महीने बाद बुधवार को कुलगाम जिले में मिला था। शाकिर को पिछले वर्ष दो अगस्त को आतंकियों ने अगवा कर लिया था। पुलिस के अनुसार, उसे सूचना मिली थी कि मोहम्मदपोरा इलाके में तिरपाल में लिपटा एक शव पड़ा है। पुलिस वहां पहुंची तो स्थानीय लोगों ने शव शाकिर का होने की आशंका जाहिर की।

पुलिस ने शिनाख्त के लिए जवान के पिता मंजूर अहमद को बुलाया तो उसने दावा किया कि शव उसके बेटे का ही है जो दो अगस्त 2020 को लापता हो गया था। शिनाख्त के बाद पुलिस ने शव कब्जे में लेकर जांच के लिए भेज दिया था। गौरतलब है कि शाकिर दो अगस्त 2020 की रात घर से अपनी गाड़ी से किसी काम के लिए बाहर निकला था, बाद में वह वापस नहीं लौटा। घर के लोगों ने शाकिर को रात भर ढूंढने की कोशिश की लेकिन कोई पता नही चला। उसकी गाड़ी कुलगाम में एक स्थान पर जली हुई मिली थी।
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर: प्रदेश में संघ प्रमुख मोहन भागवत के जम्मू दौरे की तैयारियां जोरों पर

शहीद जवान शाकिर मंजूर
राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सर संघ चालक मोहन भागवत के तीन दिवसीय जम्मू दौरे की तैयारी में आरएसएस की प्रदेश इकाई जोरशोर से जुट गई है। संघ प्रमुख के दौरे की सफलता के लिए विभिन्न कमेटियों का गठन कर व्यवस्था बनाई जा रही है। एक से तीन अक्तूबर तक जम्मू के तीन दिवसीय दौरे पर संघ प्रमुख रखेंगे।

संघ के प्रदेश मुख्यालय केशव भवन जम्मू में सुरक्षा व्यवसथा को भी मजबूत कर दिया गया है। भागवत प्रदेश के अपने दौरे के दौरान जम्मू में ही रहेंगे। उनके ज्यादातर कार्यक्रम संघ मुख्यालय में ही होंगे। एक अक्तूबर को संघ की आंतरिक बैठक में वह प्रदेश में संघ की गतिविधियों की समीक्षा करेंगे।

यह भी पढ़ें-
महबूबा बोली: भारत सरकार के फरमानों का नहीं कोई अंत, जानबूझकर सरकारी कर्मचारियों को किया जा रहा बर्खास्त
 
दो अक्तूबर को संघ प्रमुख वरिष्ठ नागरिकों की गोष्ठी को संबोधित करेंगे। तीन अक्तूबर को वह ऑनलाइन माध्यम से स्वयं सेवकों को संबोधित करेंगे। दौरे के दौरान संघ प्रमुख से कई प्रमुख लोग जिसमें भाजपा, विहिप, संघ से जुड़े विभिन्न संगठनों के नेताओं के अलावा सामाजिक व गैर सरकारी संगठनों के लोग भी मिलेंगे।
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर: एसएसपी-एसपी रैंक के 13 अफसर बदले, तबादला सूची में तीन आईपीएस

जम्मू-कश्मीर में एसएसपी व एसपी रैंक के 13 अधिकारियों का तबादला किया गया है। इसमें तीन आईपीएस हैं। गृह विभाग की ओर से गुरुवार की देर रात आदेश जारी किया गया। आदेश के अनुसार प्रतीक्षारत आईपीएस सुनील कुमार को एडीजीपी रेलवे, पुलवामा के एसएसपी आशीष कुमार मिश्रा को अनंतनाग का एसएसपी तथा एडिशनल एसपी अनंतनाग निखिल बोरकर को एसपी गांदरबल बनाया गया है।

इसके साथ ही एसएसपी गांदरबल सुहैल मुनावर मीर को सीओ जम्मू-कश्मीर आर्म्ड पुलिस पांचवीं बटालियन, एसएसपी अनंतनाग इम्तियाज हुसैन मीर को सीओ आईआरपी आठवीं बटालियन, प्रतीक्षारत रंधीर सिंह को कमांडेंट जनरल होमगार्ड का एसओ बनाया गया है। गुलाम जिलानी वानी एसएसपी पुलवामा, एंटी करप्शन ब्यूरो के एसपी अल ताहिर जिलानी को एसपी वेस्ट श्रीनगर, मुकेश कुमार कक्कड़ को पुलिस मुख्यालय में प्रतीक्षारत रखा गया है।

यह भी पढ़ें-
जस्टिस माग्रेई: कोर्ट से न्याय वितरण प्रणाली में आएगी तेजी, ई-कोर्ट सेवाओं का होगा बेहतर प्रयोग

राकेश कुमार परिहार को एडिशनल एसपी बारामुला, एसपी वेस्ट श्रीनगर परबीत सिंह व एसपी उत्तरी श्रीनगर मुबासिर हुसैन को पुलिस मुख्यालय में प्रतीक्षारत रखा गया है। एडिशनल एसपी कुपवाड़ा जोहेब तनवीर को एसपी उत्तरी श्रीनगर के पद पर भेजा गया है।
... और पढ़ें

उड़ी में 2016 दोहराना चाहते थे आतंकी: भनक लगते ही जवानों ने संभाला मोर्चा, पढ़ें दहशतगर्दों के खात्मे की कहानी

भारतीय सेना ने गुरुवार को उत्तरी कश्मीर के बारामुला जिले में उड़ी के हाथलंगा वन क्षेत्र में तीन आतंकियों को मार गिराने में सफलता पाई। मारे गए आतंकियों के पास से भारी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद बरामद हुआ है। आतंकियों के खात्मे के साथ ही घुसपैठ की एक बड़ी कोशिश नाकाम कर दी गई है। सेना के श्रीनगर स्थित 15 कोर मुख्यालय में 15 कोर के लेफ्टिनेंट जनरल डीपी पांडेय ने कहा कि 18 सितंबर के बाद गुरुवार को आतंकी घुसपैठ की दूसरी कोशिश की गई थी।

बताया कि गुरुवार सुबह सतर्क सैनिकों ने उड़ी सेक्टर में घुसपैठियों के एक समूह को देखा। मोर्चा संभालते हुए सेना ने तीन आतंकवादी मार गिराए। सेना के उड़ी स्थित कमांडिंग ऑफिसर ने कहा कि मारे गए तीन आतंकियों के पास भारी मात्रा में हथियार, गोला-बारूद और पैसा था। जिसमें पांच एके-47 राइफल, सात पिस्टल, 5-एके राइफल की मैगजीन, 24 यूबीजीएल ग्रेनेड, 38 चीनी ग्रेनेड, सात पाकिस्तान निर्मित ग्रेनेड, 35,000 रुपये (भारतीय मुद्रा), 10,300 रुपये (पाकिस्तानी मुद्रा) और कुछ खाद्य पदार्थ शामिल हैं।
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर: प्रदेश में इस बार लंबा हो सकता है मानसून, बढ़ने लगी ठंडक

जम्मू-कश्मीर में अभी भी मानसून सक्रिय है। प्रदेश के कई जिलों में मौसम ने करवट बदली है। लगातार पिछले दो दिनों से कई इलाकों में बारिश हो रही है जिससे पारे में गिरावट आई है। अधिकांश जिलों में रात्रि में ठंडक का अहसास बढ़ा है। जम्मू में गुरुवार की शुरुआत हल्के बादलों के साथ हुई थी। दोपहर को अचानक काली घटाएं छाने के साथ बारिश शुरू हुई। कुछ देर के लिए हुई बारिश से पारे में गिरावट आई है। वहीं शुक्रवार को भी जम्मू-कश्मीर में ठंया मौसम बना रहा। बता दें कि मौसम के बदले मिजाज के बीच जम्मू कश्मीर में मानसून के सामान्य अवधि से बढ़ने की उम्मीद है। प्रदेश में सामान्य मानसून 15 सितंबर तक सक्रिय रहता है। इस बार अगस्त में मानसून कमजोर रहा और सितंबर में आकर फिर सक्रिय हो गया है। जम्मू संभाग के जम्मू, उधमपुर, कठुआ, रियासी आदि जिलों में निरंतर बारिश हो रही है। बारिश ने अधिकांश जिलों में रात्रि में ठंडक का अहसास शुरू कर दिया है।
... और पढ़ें

जस्टिस माग्रेई: कोर्ट से न्याय वितरण प्रणाली में आएगी तेजी, ई-कोर्ट सेवाओं का होगा बेहतर प्रयोग

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख हाईकोर्ट के न्यायाधीश अली मोहम्मद माग्रे ने वीरवार को श्रीनगर में जेएंडके न्यायिक अकादमी में ई-कोर्ट सेवाओं के लिए एडवोकेट मास्टर ट्रेनरों के चौथे चरण के प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्घाटन किया। न्यायाधीश माग्रे ने कहा कि ई-कोर्ट सेवाओं का बेहतर प्रयोग होना चाहिए ताकि तीव्र न्याय वितरण प्रणाली सुनिश्चित हो सके।

उन्होंने कहा कि न्यायपालिका में नई तकनीकों का प्रयोग किया जा रहा है, ताकि लोग अदालतों के चक्कर काटने के बजाय ई-कोर्ट सेवाओं का लाभ उठाकर न्याय हासिल करें। उन्होंने वकीलों से कहा कि वह प्रशिक्षण का पूरा लाभ उठाएं और याचिकाकर्ताओं को भी राहत प्रदान करने का काम करें।

उन्होंने कहा कि न्यायिक प्रक्रिया में वकीलों की भूमिका काफी अहम रहती है। इसलिए कोशिश की जा रही है कि ई-कोर्ट की कार्यशैली के बारे में वकीलों को जरूरी प्रशिक्षण मिले ताकि तय लक्ष्यों को पूरा किया जा सके और लंबित मामलों को निपटाने में भी तीव्रता लाई जाए। माग्रे ने कहा कि ई-कोर्ट की सेवाएं न केवल पेपरलेस हैं बल्कि पारदर्शी, किफायती और लोगों को तेज गति से न्याय दिलाने वाली भी है।

यह भी पढ़ें-
पुलिसकर्मी की मौत का मामला: परिवार ने कहा- बेटा आतंकवादी नहीं था जो इस तरह मार डाला    

इस अवसर पर जिला और सत्र न्यायाधीश श्रीनगर मोहम्मद अकरम चौधरी ने स्वागती भाषण दिया। न्यायिक अकादमी के निदेशक संजय परिहार ने धन्यवाद प्रस्ताव पेश किया। इस दौरान ई-कोर्ट परियोजना के सीपीसी अनूप कुमार शर्मा के अलावा जेएंडके लीगल सेवा प्राधिकरण के सदस्य सचिव एमके शर्मा, वरिष्ठ जिला न्यायाधीश बाला ज्योति आदि भी मौजूद रहे।

... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X