'गगन' का अर्थ होता है आकाश या आसमान। अमर उजाला 'हिंदी हैं हम' शब्द श्रृंखला में आज का शब्द है- गगन। प्रस्तुत है शिवमंगल सिंह 'सुमन' की कविता सुप्रसिद्ध कविता: हम पंछी उन्मुक्त....

हम पंछी उन्मुक्त गगन के
और पढ़ें
50 minutes ago
                                                                           जब ढह रही हों आस्थाएं
जब भटक रहे हों रास्ता
तो इस संसार में एक स्त्री पर कीजिए विश्वास...और पढ़ें
54 minutes ago
                                                                           यूँ तो वो हर किसी से मिलती है 
हम से अपनी ख़ुशी से मिलती है 

सेज महकी बदन से शर्मा कर 
ये अदा भी उसी से मिलती है 

वो अभी फूल से नहीं मिलती 
जूहिए की कली से मिलती है ...और पढ़ें
55 minutes ago
                                                                           व्यंग्य,नाटक, उपन्यास व कहानी हर विधा में नरेन्द्र कोहली को कौन नहीं जानता। उनके लाखों पाठक देश विदेश में बिखरे हैं। उनके उपन्यासों की लंबी श्रृंखलाएं हैं। चाहे 'महासमर' हो, 'अभ्युदय' हो या 'तोड़ो कारा तोड़ो'--इनके कई कई खंड ल...और पढ़ें
                                                
1 hour ago
                                                                           प्रख्यात साहित्यकार डॉ नरेंद्र कोहली का निधन हो गया। पिछले कुछ दिनों से वे बीमार थे।  गंभीर रूप से कोरोना से पीड़ित थे। उन्होंने आज शाम 6 बजकर 40 मिनट पर अंतिम सांस ली। कोरोना से संक्रमित होने के कारण दिल्ली के सेंट स्टीफंस अस्पताल में भर्ती कराया गया...और पढ़ें
                                                
2 hours ago
                                                                           अब याद आता है......

अब याद आता है, उसका मुस्कुराना;
उसका बात बात पर मुझे परेशान करना
अब याद आता है।

बात बात पर बात करने का बहाना ढूंढना,
अब याद आता है।

कभी मेरी गलती पर तो कभी खुद की गऔर पढ़ें
4 hours ago
                                                                           जीना है हिम्मत का काम,
हिम्मत आती हौंसलें से,
हौंसला आता विश्वास से,
विश्वास आता आशा से,
आशा होती चाहत से,
चाहत होती प्रेम से,
प्रेम होता दिल से,
दिल होता धड़कन से,
धड़कन होती साँसों से,
...और पढ़ें
5 hours ago
                                                                           टूटी फूटी अंग्रेजी सीख शहर से
लौट गांव और जनाब वोले अंग्रेजी पहले पहर से
पत्नी आई पास
थी थोड़ी उदास
वोली वहुत दिन वाद आये
वहुत याद आये
जनाब ने दिखाया रौब
आव देखा न ताव
वोले जाओ और बनाओ टू कप टी...और पढ़ें
5 hours ago
                                                                           तुम जो मुझे छूकर गयी हो
पूरा विचारों को
एक नयी असर दे गयी हो
कुछ मेरा विकार दूर कर
वो एक नयी संस्कार दे गयी हो
हां तुम जो मुझे यूं छूकर गयी हो "

-HeeraSahu
  हमें विश्वास है कि हमारे पाठक स्...और पढ़ें
5 hours ago
                                                                           क्यों ये रात ढलती नहीं

कितनी कि कोशिशों का इंतज़ार
लेकिन परिणामों की रात क्यूं ढलती नहीं

लंबी कतार में खड़ी बैठी हूं
लेकिन मेरा मुकाम का चांद क्यूं खिलता नहीं

कहीं दिनों तक बेड़ियां लेके चल र...और पढ़ें
5 hours ago
X