आपका शहर Close
Kavya
Hindi News ›   Kavya ›   Mere Azeez Filmi Nagme ›   Kedarnath song qaafirana sa hai ishq hai ya kya hai
Kedarnath song qaafirana sa hai ishq hai ya kya hai

मेरे अज़ीज़ फिल्मी नग़मे

काफ़िराना सा है इश्क़ है या क्या है… मुहब्बत की इब्तिदाई दस्तक

दीपाली अग्रवाल काव्य डेस्क, नई दिल्ली

3452 Views
“सैल्फ़ी हो गयी हो तो सवारी लोगे”?

दो लोगों के बीच हुआ यह संवाद किसी व्यवसायिक रिश्ते की ओर इशारा करता है जहां एक यात्री किसी ऑटो, रिक्शा आदि चलाने वाले से संभवत: यह सवाल पूछ रहा होगा। लेकिन यहां स्थिति थोड़ी अलग है, यहां एक युवती एक घोड़ा-खच्चर चलाने वाले उस नौजवान से यह सवाल पूछ रही है जिसके प्रेम में वह है। यह दृश्य है फ़िल्म केदारनाथ के गीत ‘काफ़िराना’ का जिसमें इस संवाद के ठीक बाद अरिजीत सिंह की आवाज़ में अमिताभ भट्टाचार्य के लिखे ये इश्क़िया शब्द सुनाई देते हैं।

इन वादियों में टकरा चुके हैं हमसे मुसाफ़िर यूँ तो कई
दिल ना लगाया हमने किसी से किस्से सुने हैं यूँ तो कई


केदारनाथ और उत्तराखंड की सुंदर वादियों में खच्चर चलाने वाले एक युवक (सुशांत सिंह राजपूत) को मुसाफ़िर युवती (सारा अली ख़ान) से प्रेम हो जाता है जिससे उस वादी की सुंदरता में मानो चार मानक और बढ़ जाते हैं इसलिए तो वह कहता है कि मुसाफ़िर यूं को कई मिले लेकिन वह नहीं मिला जो हमसफ़र बन सके।
आगे पढ़ें

ऐसे तुम मिले हो ऐसे तुम मिले हो

सर्वाधिक पढ़े गए
Top

Other Properties:

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Your Story has been saved!