लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Lucknow News ›   CM Yogi Adityanath inaugrates the Ramayan mela in Ayodhya.

Ayodhya: मुख्यमंत्री योगी ने रामायण मेले का किया शुभारंभ, बोले- अयोध्या के विकास में धन की कमी नहीं होने देंगे

अमर उजाला नेटवर्क, अयोध्या Published by: ishwar ashish Updated Sun, 27 Nov 2022 10:13 PM IST
सार

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्या दौरे पर हैं जहां उन्होंने रामलला के दर्शन किए और विकास कार्यों की समीक्षा की।

अयोध्या में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ।
अयोध्या में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ। - फोटो : amar ujala
विज्ञापन

विस्तार

मुख्यमंत्री योगी ने रविवार को सरयू तट स्थित रामकथा पार्क में 41वें रामायण मेले का शुभारंभ किया। इस मौके पर श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास भी मौजूद रहे। यह मेला 30 नवंबर तक जारी रहेगा। इसके समापन समारोह की मुख्य अतिथि राज्यपाल आनंदीबेन पटेल होंगी। रामायण मेला में राम विवाह उत्सव का भी आयोजन किया जाएगा। इस बार रामायण मेला बेहद भव्य तरीके से आयोजित किया जा रहा है।



मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को जीआईसी के मैदान में आयोजित प्रबुद्ध सम्मेलन में अयोध्यावासियों को आश्वस्त किया कि अयोध्या के विकास में पैसे की कोई कमी नहीं होगी। 30 हजार करोड़ की योजनाओं से अयोध्या सज-संवर रही है। डबल इंजन की सरकार अयोध्या के विकास के लिए प्रतिबद्ध है।


कहा कि जब दुनिया आगे बढ़ रही है तो हमारी अयोध्या भी पीछे नहीं रहेगी। अयोध्या आध्यात्मिक, सांस्कृतिक के साथ-साथ भौतिक विकास के नए आयाम भी स्थापित करने की दिशा में आगे बढ़ रही है। सीएम योगी ने कहा कि अयोध्या सप्तपुरी में से एक है। भूमिपूजन के साथ 500 वर्षों का इंतजार समाप्त कर गए पीएम मोदी के नेतृत्व में भव्य मंदिर का निर्माण प्रारंभ हो चुका है।  इसलिए हमें अयोध्या को दुनिया की सबसे सर्वोत्तम नगरी बनाना है।
 
डबल इंजन की सरकार हमेशा अयोध्या की सेवा में है। कहा कि दीपोत्सव में पीएम मोदी का आगमन एक नए अयोध्या की आहट हम सबके सामने प्रस्तुत करता है। प्रधानमंत्री का आगमन अयोध्या के प्रति उनकी अपार निष्ठा को भी प्रदर्शित करता है।
 
सीएम ने विकास योजनाएं गिनाते हुए कहा कि स्मार्टसिटी के तहत कार्य हो रहे हैं। आटामेटिक ट्रैफिक का संचालन हो रहा है। सेफ सिटी के रूप में अयोध्या विकसित हो रही है। सड़कों का चौड़ीकरण हो रहा है। बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट बन रहे हैं। बताया कि ग्रामीण व शहरी क्षेत्र में 45 लाख गरीबों को आवास दिला चुके हैं।
 
शहरी क्षेत्र में अकेले 17 लाख लोगों को निशुल्क आवास दिया गया है। एक लाख आवास मुख्यमंत्री आवास योजना से उपलब्ध करा रहे हैं। दुकानदारों को व्यवसाय की सुगमता के लिए ब्याज फ्री लोन दिया जा रहा है।
विज्ञापन
 
सीएम ने कहा कि 2017 के पहले व्यापारी पलायन करता था। पुलिस अपराधियों से भागती थी। अब अपराधी भाग रहे हैं।  बहुत सारे गायब हो चुके हैं, तो बहुत लोगों ने वेश-भूषा बदल दी है। आज सिर झुकाकर ठेला चलाते दिखाई देते हैं।

इससे पूर्व सांसद लल्लू सिंह ने कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व व सीएम योगी के निर्देशन में अयोध्या विश्व की सुंदरतम नगरी बनने की ओर अग्रसर है। इंडियन इंड्रस्ट्रीज एसोसिएशन के अध्यक्ष सुरेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि योगी राज में व्यापारियों का भय दूर हुआ है। उद्योग बढ़ रहा है। उत्तर प्रदेश में उद्योग लगाइए, सरकार सब्सिडी दे रही है।

विधायक वेदप्रकाश गुप्ता ने कहा कि राममंदिर निर्माण के साथ-साथ अयोध्या आधुनिक सुविधाओं से भी लैस हो रही है, योगी सरकार अयोध्या के विकास को प्रतिबद्ध है। महापौर ऋषिकेश उपाध्याय ने सीएम की तुलना महाराजा विक्रमादित्य से करते हुए कहा कि अयोध्या के नवनिर्माण का श्रेय सीएम योगी को ही जाएगा।

विधायक रामचंद्र यादव ने आभार ज्ञापित किया। कार्यक्रम में लोकनिर्माण विभाग के मंत्री जितिन प्रसाद, परिवहन मंत्री दयाशंकर सिंह, एमएलसी हीरालाल यादव, एमएलसी प्रांशुदत्त, विधायक डॉ.अमित सिंह चौहान, जिप अध्यक्ष रोली सिंह, महानगर अध्यक्ष अभिषेक मिश्र, जिलाध्यक्ष संजीव सिंह, अभय सिंह, अमल गुप्ता सहित हजारों की संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे।

ब्रिटेन को पछाड़कर दुनिया की पांचवी बड़ी अर्थव्यवस्था बना भारत
 योगी ने कहा कि आज भारत की वैश्चिवक मंच पर प्रतिष्ठा बढ़ी है। 15 अगस्त 2022 को देश के हर घर पर तिरंगा फहराने का काम मोदी ने किया। देश जब आजादी का 75 वर्ष पूरा कर रहा है ऐसे में पूरा भारत उत्सव के रूप में जुड़ा थी। वैश्चिक मंच पर आप देख रहे होंगे। जिस ब्रिटेन ने दो सौ वर्षों तक शासन किया था उसको पछाड़ कर भारत आज दुनिया की पांचवी बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है। दुनिया के 20 शीर्ष देशों का नेतृत्व अगले एक वर्ष तक पीएम के नेतृत्व में भारत करेगा। दुनिया में शांति, सौहार्द, प्रगति व लोककल्याण के लिए क्या कुछ करना है इन सबकी योजना पीएम मोदी के नेतृत्व में तय होगी।

पहले अयोध्या में बिजली आती नहीं थी, अब जाती नहीं
सीएम योगी ने कहा कि 2017 के पहले अयोध्या में बिजली ही नहीं आती थी, आज अयोध्या में बिजली जाती नहीं है। पिछली सरकारें अंधकार में रहने की अभ्यस्त थी इसलिए बिजली नहीं देती थी और हमारी सरकार अयोध्या को 24 घंटे बिजली उपलब्ध करवा रही है।  आज एलईडी स्ट्रीट लाइट से अयोध्या जगमगा रही है। राम की पैड़ी में अब इस पार से पानी उस पार निकलता है। जो लोग राम की पैड़ी में स्नान करते हैं उन्हें हरि की पैड़ी का आभास होता है। ये नई अयोध्या की तस्वीर है।

आप निवेश करिए हम सुरक्षा करेंगे
मुख्यमंत्री ने लोगों को अयोध्या में निवेश करने के लिए प्रेरित किया। कहा कि नया अयोध्या विकास की दृष्टि से ही नहीं बल्कि निवेश की दृष्टि से भी नया प्रतिमान स्थापित करत रहा है। आप अयोध्या में निवेश करिए हम उसकी सुरक्षा करेंगे। सरकार हर प्रकार की सुविधा देने को तैयार है। फोरलेन, सिक्सलेन, आठ लेन के जरिए अयोध्या की कनेक्टिविटी बढ़ाई जा रही है। निवेश के कई रास्ते हम उपलब्ध करा रहे हैं।
कोई नहीं कर पाएगा व्यापारियों का शोषण

रामपथ के चौड़ीकरण से नाराज व्यापारियों के जख्मों पर सीएम योगी ने मरहम लगाने का भी काम किया। उन्होंने कहा कि सड़कों के चौड़ीकरण से जरूर कुछ व्यापारी उजड़ रहे हैं। हम उनका पुर्नवास भी करेंगे और मुआवजा भी दिलाएंगें। कोई उनके साथ शोषण नहीं कर पाएगा।

मैं आश्वस्त करता हूं पुनर्वास के कार्य में दो चार महीना लग सकता है। लेकिन चार महीने का विश्राम आपको एक सुरक्षित पुर्नवास की सुविधा से जोड़ेगा। आपका व्यापार बढ़ेगा। आने वाले समय में जिस तरह से अयोध्या के अंदर यात्रियों व पयर्टकों की संख्या बढ़ने जा रही है, वह नए अयोध्या के रूप में लाखों नौजवानों को नौकरी व रोजगार के साथ जोड़ेगी। व्यापारियों, उद्यमियों का व्यापार आगे बढ़ाने का काम होगा।


राम जन्मभूमि जाने वाले तीनों पथों को लेकर मुख्यमंत्री ने जताई नाराजगी
मुख्यमंत्री योगी ने अयोध्या में विकास कार्यों की समीक्षा भी की और राम जन्मभूमि जाने वाले सभी तीन प्रमुख मार्गों के निर्माण में देरी को लेकर नाराजगी भी जताई। मुख्यमंत्री अयोध्या दौरे पर आयुक्त सभागार में अयोध्या विजन डॉक्यूमेंट 2047 की समीक्षा कर रहे थे। समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री का सर्वाधिक फोकस अन्य विकास कार्यों से ज्यादा श्रीराम जन्मभूमि को जाने वाले राम पथ, भक्त पथ और जन्मभूमि पथ पर था। उन्होंने इन पथों को जल्द से जल्द पूरा कराने के निर्देश अफसरों को दिए। 

40 दिन में चौथी बार किया रामलला का दर्शन
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 40 दिन में तीसरी बार अयोध्या में रामलला और हनुमानगढ़ी का दर्शन-पूजन किया। इसके पहले 19 अक्टूबर को दीपोत्सव की तैयारी जानने मुख्यमंत्री अयोध्या पहुंचे थे। इस दिन उन्होंने रामलला और हनुमानगढ़ी का दर्शन किया। इसके उपरांत 23 अक्टूबर को दीपोत्सव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ भी उन्होंने दर्शन किया था। 24 को पुनः मुख्यमंत्री ने रामलला और हनुमानगढ़ी में शीश झुकाकर सुख-समृद्धि की कामना की थी। इसके उपरांत रविवार (27 नवम्बर) को गोरक्षपीठाधीश्वर ने अयोध्या पहुंचने के दौरान दर्शन किया।

व्यापारी नेताओं को किया गया हाउस अरेस्ट
रविवार सुबह मुख्यमंत्री के आगमन के मद्देनजर बाजार बंदी का आह्वान करने वाले व्यापारी नेताओं को नजरबंद किया गया। व्यापारी नेताओं को घर पर ही हाउस अरेस्ट किया गया। इस कड़ी में व्यापारी नेता नंद कुमार गुप्ता नंदू और पंकज गुप्ता को हाउस अरेस्ट किया गया है।

दूसरी ओर, रामायण मेला समिति की ओर से आयोजित रामायण मेले में 10 दिवसीय राम बाजार एवं हस्तशिल्प प्रदर्शनी का उद्घाटन शनिवार को महंत अवधेश दास ने किया। रामायण मेले के तृतीय पोस्टर का विमोचन भी किया गया। प्रदर्शनी में एक जनपद एक योजना के तहत कई स्टाल लगाए गए हैं। इस अवसर पर कमलेश सिंह, शैलेंद्र मोहन मिश्र, सूर्य नारायण सिंह, नंद कुमार मिश्र, नागा राम लखन दास, जनार्दन उपाध्याय, श्रीनिवास शास्त्री सुरेंद्र सिंह, शिवम मिश्रा समेत अन्य मौजूद रहे।

1057 करोड़ की 46 परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास

जीआईसी मैदान में आयोजित प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन में सीएम योगी ने 1057 करोड़ की 46 योजनाओं का लोकार्पण/ शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री ने 37 परियोजनाओं का लोर्कापण व 9 परियोजनाओं का शिलान्यास किया।  जिसमें लोक निर्माण विभाग, दुग्ध विकास, परिवहन, संस्कृति, आवास एवं शहरी नियोजन विभाग, ग्रा.अ.वि., गृह, धर्मार्थ कार्य, ग्रामीण अभियंत्रण, सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम व निर्यात प्रोत्साहन आदि विभाग की परियोजनायें शामिल हैं। उक्त परियोजनाओं में लोक निर्माण विभाग निर्माण खंड-4 की 13 व प्रांतीय खंड लोक निर्माण विभाग की 11 परियोजनाओं का लोकार्पण किया गया। इसी तरह आवास एवं शहरी नियोजन की 5, पर्यटन की 4, परिवहन, संस्कृति, दुग्ध विकास और ग्रामीण अभियंत्रण की एक-एक परियोजनायें शामिल हैं।

प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना के तहत दुर्गेश, जुबैदा खातून, नीलम, रंजू शुक्ल, रीता गौड़ को, पीएम स्वनिधि योजना के तहत सौरभ गुप्ता, दीपक, विकास यादव, रूपचंद्र, जितेंद्र को प्रमाण पत्र दिया गया। सीएम युवा स्वरोजगार योजना के तहत रवींद्र प्रताप सिंह, सुजीत कुमार शुक्ला, सचिन कुमार व एक जिला एक उत्पाद के तहत रजनीश जायसवाल, संजय जायसवाल को लाभान्वित किया गया।

राम की संस्कृति मानवता के कल्याण का मार्ग प्रशस्त करती रही

दीपोत्सव में थाईलैंड, इंडोनेशिया, रूस, ताइवान, श्रीलंका, नेपाल, भूटान समेत कई देशों की रामलीलाओं का मंचन होता है। राम की संस्कृति दुनिया में जहां भी गई, मानवता के कल्याण का मार्ग प्रशस्त करती रही। जन्मभूमि पर सत्ताधारी कुछ भी दावा करते रहे हों, पर जब भगवान राम ने चाहा तो लाखों कारसेवक आ जाते थे और अपना काम करके चले जाते थे।

 लोगों की धमकी कुछ नहीं कर पाई,  कारसेवकों का संघर्ष रंग लाया। जो लोगों के लिए असंभव था। भगवान श्रीराम ने पीएम मोदी से वह कार्य संभव करा दिया। अब अयोध्या को सजाने-संवारने की जिम्मेदारी हमारी है। ये बातें उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को कहीं। वे रामकथा पार्क में चार दिवसीय रामायण मेले का उद्घाटन कर रहे थे। सीएम योगी ने कहा कि विवाह पंचमी से लेकर 4 दिन का रामायण मेला 40 वर्षों से यहां हो रहा है। ऐसे सांस्कृतिक व धार्मिक आयोजन ने जिस ऊर्जा का संचार किया, उसी की परिणीति है कि 500 वर्ष का इंतजार समाप्त हुआ और राम मंदिर का निर्माण प्रारंभ हो चुका है।

 रामायण मेला को वैश्विक मंच पर पहचान बनानी होगी। इस वर्ष दीपोत्सव में स्वयं पीएम आए थे। वैश्विक स्तर पर दीपोत्सव को जैसी मान्यता मिली, वह बरबस ही नई अयोध्या की तरफ ध्यान आकर्षित करता है। सीएम ने कहा कि 2018 में विवाह पंचमी पर मैंने जनकपुर में मां जानकी मंदिर में दर्शन किया था। यह नजदीक से जानने को मिला कि नेपाल व भारत के बीच मां जानकी कैसे सेतु का काम कर रही हैं। उस समय रावण के आतंक से आर्यव्रत के दो माध्यम को जोड़ने के कारक अयोध्या व जनकपुर ही बने थे। वर्तमान में भारत-नेपाल के सांस्कृतिक संबंधों को जोड़ने के सशक्त माध्यम बन चुके हैं। सांस्कृतिक संबंध नई ऊंचाइयों को प्राप्त हों। यह दायित्व संतों को लेना होगा।

 सीएम ने कहा कि पुरानी स्मृतियों में अयोध्या का उल्लेख मिलता है। तुलसीदास ने कितने अच्छे शब्दों में अयोध्या व मां सरयू का गान किया है। हम कितनी प्राचीन परंपरा के वारिस हैं, किस विरासत के वाहक हैं। फिर भी संकोच करते हैं। पांच वर्षों में आपने भी बदलती अयोध्या को देखा है। आज नई अयोध्या हमारे सामने है। यहां एयरपोर्ट बनने जा रहा। सड़कों की कनेक्टिविटी दे रहे। अंदर की सड़कें चौड़ी करेंगे। मठ-मंदिरों के सुंदरीकरण व कुंडों का पुनरुद्धार करेंगे। अयोध्या के विकास के साथ पंचकोसी, 14 कोसी,  84 कोसी परिक्रमा के साथ रामायणकालीन वनस्पति को लगाने से जोड़ेंगे, जिससे परिक्रमा के दौरान लोगों को भगवान के वनवास के उन संघर्षों की यादें ताजा हों, जिन परिस्थितियों का जिक्र रामायण में है। श्रद्धालुओं को बुनियादी सुविधाएं मिलें, इस पर भी कार्य हो रहा है।

अतिथियों का स्वागत महंत कमल नयन दास ने किया। इससे पूर्व मुख्यमंत्री व श्रीरामजन्मभूमि ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास ने रामायण मेले पर आधारित पुस्तिका ‘तुलसी दल’ का विमोचन भी किया। रामायण मेला समिति के संयोजक आशीष मिश्र, बीएन अरोड़ा, महंत रामलखन दास, जगद्गुरू रामदिनेशाचार्य, जगद्गुरू डॉ. राघवाचार्य, महंत सुरेश दास, महंत डॉ. भरत दास, महंत जन्मेजय शरण, महंत अवधेश दास, डॉ.सुनीता शास्त्री सहित अन्य मौजूद रहे।

अयोध्या को जल मार्ग से जोड़ने जा रहे हैं
सीएम ने कहा कि जल्द ही अयोध्या को जल मार्ग से जोड़ने जा रहे हैं। हमारी कोशिश है कि सरयू में जन यातायात की सुविधा हो और अयोध्या को एक्सपोर्ट हब के रूप में विकसित किया जाए। तीन साल पहले कोरिया की पहली महिला को यहां आमंत्रित किया गया था। कोरिया ने अपनी महारानी के नाम पर यहां क्वीन हो मेमोरियल बनाया। उनका वास्तविक नाम राजकुमारी रत्ना था। 2000 साल पहले अयोध्या की राजकुमारी की वहां के राजा से शादी हुई। कोरिया का किम राजवंश उसी परंपरा को बढ़ाता है। कोरिया अयोध्या से संबंध जोड़कर गौरव की अनुभूति करता है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00