लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Lucknow News ›   Deputy CM Brajesh Pathak instructs investigation for selling poor's medicine in market.

UP News: रोगियों की दवा बाजार में बेचने वालों पर सख्त कार्रवाई होगी, एक सप्ताह में जांच पूरी करने के निर्देश

अमर उजाला ब्यूरो, लखनऊ Published by: ishwar ashish Updated Sat, 26 Nov 2022 12:40 PM IST
सार

उप मुख्यमंत्री ने गरीबों के लिए उपलब्ध कराई जा रही सस्ती दवा के बाजार में बेचने के मामले का संज्ञान लिया है और मामले की जांच एक सप्ताह में पूरी करने के निर्देश दिए हैं।

उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक।
उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक। - फोटो : amar ujala
विज्ञापन

विस्तार

किंग्स जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) में मरीजों के हक की दवा बाजार में बेचने के मामले में जिम्मेदारों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। मामले का संज्ञान लेते हुए उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने केजीएमयू प्रशासन को निर्देश दिया है कि सप्ताहभर में मामले की जांच कर रिपोर्ट दी जाए।



स्पेशल टॉस्क फोर्स (एसटीएफ) ने दो दिन पहले केजीएमयू में हॉस्पिटल रिवाल्विंग फंड (एचआरएफ) से मिलने वाली सस्ती दवा के बाजार में बिक्री होने का खुलासा किया है। इस मामले में केजीएमयू व एसटीएफ जांच कर रही है। उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने घटना पर चिंता जाहिर की है।


ये भी पढ़ें - अनारक्षित हो सकती है लखनऊ, कानपुर और गाजियाबाद में महपौर की सीट

ये भी पढ़ें - मदरसों का सर्वे किसी भी तरह की जांच नहीं, चेयरमैन ने प्रबंधनों के नाम जारी किया संदेश


उन्होंने कहा कि रोगियों को सस्ती दर पर दवाएं उपलब्ध कराने की कवायद चल रही है। सरकार गरीब मरीजों के हितों के लिए लगातार प्रयास कर रही है। चिकित्सालय के कुछ अधिकारी व कर्मचारियों की वजह से सरकार की मेहनत पर पानी फिर रहा है। चिकित्सालय की छवि भी गड़बड़ हो रही है। यह बेहद गंभीर मामला है।

एक सप्ताह में पूरी करें जांच
उप मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया है कि मामले में संलिप्त अधिकारी व कर्मचारियों को किसी भी दशा में बख्शा नहीं जाएगा। दोषियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि केजीएमयू प्रशासन पूरे मामले की जांच एक सप्ताह में पूरी करे। विस्तृत रिपोर्ट भेजें। किन लोगों पर कार्रवाई की गई? कार्रवाई के नाम पर क्या किया गया? यह भी अवगत कराया जाए।
विज्ञापन

बाकी संस्थान भी अलर्ट रहें
केजीएमयू के एचआरएफ में दवाओं की बाजार में बिक्री के बाद लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान व संजय गांधी पीजीआई भी खास एहतियात बरतने के निर्देश दिए गए हैं। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी संस्थान निगरानी बढ़ाएं क्योंकि यह सुविधा गरीब रोगियों के लिए हैं। इसमें किसी भी तरह की गड़बड़ी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। 

ये कदम उठाने के दिए निर्देश 
- जिस पटल पर रुपये से जुड़ी सेवाएं प्रदान की जा रही हैं। उनके कर्मचारियों का समय.समय पर पटल परिवर्तन करें।
- ओपीडी व भर्ती मरीजों के पर्चे की अधिकारी ऑडिट करें।
- ज्यादा बिकने वाले उत्पादों की निगरानी करें।
- अचानक किसी उत्पाद की बिक्री बढ़े तो उसके कारणों का पता जरूर लगाएं।
- सीसीटीवी कैमरे लगाये जाएं ताकि दवा बाहर ले जाने पर अंकुश लगाया जा सके।

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00