दिव्यांग महिला को बंधक बनाकर सामूहिक दुष्कर्म, चार गिरफ्तार, ऑटो चालकों ने दिया वारदात को अंजाम

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ Published by: पंकज श्रीवास्‍तव Updated Tue, 28 Sep 2021 09:59 AM IST

सार

बेटी ने बताया कि कृष्णानगर के आरती जूस कार्नर से उसे ऑटो चालक ने घर छोड़ने के बहाने बहला-फुसलाकर बैठा लिया। रेलवे कालोनी में ले जाकर उसके साथ आठ लोगों ने दुष्कर्म किया। वारदात में एक महिला भी शामिल थी।
सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

आलमबाग में दिव्यांग महिला को बंधक बनाकर सामूहिक दुष्कर्म किया गया। वारदात को अंजाम देने वाले आरोपियों की संख्या नौ बताई जा रही है। वारदात को आरोपियों ने आलमबाग थानाक्षेत्र के बीजी रेलवे कालोनी में अंजाम दिया। विरोध करने पर महिला की जमकर पिटाई की गई। पुलिस ने पीड़िता की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया। पुलिस ने इस मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। अन्य पांच की तलाश की जा रही है।
विज्ञापन


कृष्णानगर इलाके में रहने वाली महिला मानसिक रूप से बीमार है। उसके पिता रेलवे में हेड क्लर्क के पद से रिटायर हुए हैं। उन्होंने बताया कि बेटी 23 सितंबर की शाम घर से निकली थी। उसकी काफी तलाश की गई, लेकिन कोई सुराग नहीं लगा। रात करीब 9.30 बजे कृष्णानगर थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई। रात भर बेटी की तलाश करते रहें। अगले दिन 24 सितंबर की सुबह आलमबाग थाने से कॉल आई की उनकी बेटी वहां मौजूद है। थाने पहुंचे तो बेटी की हालत देखकर बदहवाश हो गये। बेटी के पकड़े अस्त-व्यस्त और फटे हुए थे। शरीर पर कई जगह चोट के निशान थे।


बहलाकर ले गए रेलवे कालोनी में
बेटी ने बताया कि कृष्णानगर के आरती जूस कार्नर से उसे ऑटो चालक ने घर छोड़ने के बहाने बहला-फुसलाकर बैठा लिया। ऑटो चालक आलमबाग की ओर लेकर गया। रेलवे कालोनी में ले जाकर उसके साथ आठ लोगों ने दुष्कर्म किया। वारदात में एक महिला भी शामिल थी। प्रभारी निरीक्षक अरमनाथ विश्वकर्मा के मुताबिक वारदात में शामिल आरोपी शिवनंदन  बीजी कालोनी रहता है। उसके साथी सोने लाल, अशोक कुमार और गिरजेश कुमार को पुलिस ने रविवार रात गिरफ्तार कर लिया गया है। प्रभारी निरीक्षक के मुताबिक  पीड़िता के बयानों के आधार पर आरोपित महिला और चार अन्य युवकों की तलाश में पुलिस की टीमें दबिश दे रही हैं। आटो चालक शिवनंदन और सोने लाल, महिला को बहला फुसलाकर आटो में बिठाकर बीजी कालोनी ले गए थे।

दुपट्टे व रस्सी से बांधकर रखा, विरोध पर पीटा
पीड़िता के पिता केमुताबिक आरोपियों ने दिव्यांग बेटी को दुपट्टे व रस्सी से बांधकर रखा था। उसके साथ दुष्कर्म किया। विरोध करने पर उसकी जमकर पिटाई की और  कपड़े फाड़ दिए। बेटी ने बताया कि वह बेहोश होने के बाद छोड़कर भाग गये। सुबह आंख खुली तो वह कमरे में पड़ी थी। इसके सभी गायब थे। किसी तरह से थाने पहुंचकर उसने पुलिस कर्मियों को घटना की जानकारी दी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00