लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Epaper in Madhya Pradesh
Hindi News ›   Madhya Pradesh ›   Indore News ›   Devotees will now be able to take a dip in the clean water of the Shipra river, it will be cleaned in 600 cror

Ujjain News:शिप्रा नदी के साफ पानी में अब लगा सकेंगे भक्त डुबकी, 600 करोड़ में होगी साफ

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, इंदौर Published by: अभिषेक चेंडके Updated Tue, 06 Dec 2022 09:00 PM IST
सार

इंदौर की कान्ह नदी के दूषित पानी को शिप्रा नदी में मिलने से रोकने के लिए उज्जैन के गोठड़ा गांव के समीप एक स्टॉप डेम बनाया जाएगा और दूषित जल को उज्जैन के शहरी क्षेत्र में मिलने से रोका जाएगा।

File photo
File photo - फोटो : SOCIAL MEDIA
विज्ञापन

विस्तार

उज्जैन की शिप्रा नदी में अब कान्ह नदी का दूषित पानी नहीं मिलेगा। भक्त साफ पानी में डुबकी लगा सकेंगे और आचमन भी कर पाएंगे। कान्हा नदी डायवर्शन क्लोज डक्ट परियोजना को कैबिनेट बैठक में स्वीकृति दी गई। छह साल बाद लगने वाले सिंहस्थ के लिए यह सारी कवायद सरकार अभी से शुरू करने जा रही है। सिंहस्थ में लाखों भक्त स्नान के लिए आते है। पिछले सिंहस्थ में सरकार ने शिप्रा नदी में नर्मदा नदी का पानी प्रभावित किया था। 


इन्दौर के समीप बहने वाली कान्ह नदी के दूषित जल को शिप्रा नदी में मिलने से रोकने के लिए जल संसाधन विभाग की 598 करोड़ की परियोजना को  मंजूरी दी है। कान्ह नदी में इन्दौर शहर एवं औद्योगिक क्षेत्र का प्रदूषित जल मिलता है। कान्ह नदी आगे चल कर उज्जैन के समीप क्षिप्रा में मिलती है। शिप्रा नदी के जल को कान्ह नदी के दूषित जल से बचाने के लिये कान्ह नदी डायवर्शन  क्लोज डक्ट परियोजना तैयार की गई है। इस प्रोजेक्ट को वर्ष 2028 के महाकुंभ सिंहस्थ के मद्देनजर अभी मंजूरी दी गई है, ताकि तब तक काम पूरा हो सके।


16 किलोमीटर की चैनल करेगी दूषित पानी शहर से बाहर
इस योजना के अन्तर्गत कान्ह नदी के दूषित जल को शिप्रा नदी में मिलने से रोकने के लिए उज्जैन के गोठड़ा गांव के समीप एक स्टॉप डेम बनाया जाएगा और दूषित जल को उज्जैन के शहरी क्षेत्र में मिलने से रोका जाएगा। उज्जैन की सीमा के कालियादेह गांव के समीप फिर शिप्रा नदी में कान्ह नदी का पानी नहीं मिलने दिया जाएगा। इसके लिए कान्ह नदी के 40 क्यूसेक पानी को हर दिन डायवर्ट किया जा सकेगा।

परियोजना के अन्तर्गत 100 मीटर लम्बाई में एप्रोच चैनल का निर्माण, 16.5 किमी लम्बाई में 4.5 मीटर आकार के भूमिगत आरसीसी बॉक्स का निर्माण होगा। अंतिम 100 मीटर लम्बाई में ओपन चैनल का निर्माण किया जाएगा। 
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00