लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   News Archives ›   India News Archives ›   West Bengal: BJP MP Babul Supriyo announces retirement from politics, wrote a Post on Facebook

बाबुल सुप्रियो का राजनीति से संन्यास: क्या दूसरी पार्टी में जाएंगे? फेसबुक पोस्ट में फेरबदल से अटकलें तेज

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, कोलकाता Published by: संजीव कुमार झा Updated Sat, 31 Jul 2021 05:11 PM IST
सार

पश्चिम बंगाल से भारतीय जनता पार्टी के सांसद बाबुल सुप्रियो ने सार्वजनिक राजनीति से संन्यास लेने का एलान किया है। उन्होंने फेसबुक पर लिखी एक पोस्ट में अपने 'मन की बात' साझा की है।

बाबुल सुप्रियो (फाइल फोटो)
बाबुल सुप्रियो (फाइल फोटो)
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

पश्चिम बंगाल से भारतीय जनता पार्टी के सांसद बाबुल सुप्रियो ने राजनीति से संन्यास लेने का एलान किया है। उन्होंने फेसबुक पर लिखी एक पोस्ट में अपने 'मन की बात' साझा की है। उन्होंने लिखा कि अलविदा। मैं किसी राजनीतिक दल में नहीं जा रहा हूं। टीएमसी, कांग्रेस, सीपीआई (एम) में से किसी ने मुझे नहीं बुलाया है, मैं कहीं नहीं जा रहा हूं। बता दें कि आठ जुलाई को मोदी मंत्रिमंडल के विस्तार से पहले 7 जुलाई को 12 मंत्रियों ने इस्तीफा दिया था। इनमें बाबुल सुप्रियो भी शामिल थे। 



हालांकि इसके कुछ समय बाद ही सुप्रियो ने अपनी फेसबुक पोस्ट में कुछ फेरबदल कर दिए। ऐसे में अब अटकलें तेज हो गई हैं कि क्या वह कोई दूसरी पार्टी में जाएंगे या फिर अपनी पार्टी बनाएंगे? दरअसल, सुप्रियो ने अपनी पोस्ट में से दूसरी पार्टी में नहीं जाने की बात को हटा दिया है। उन्होंने तृणमूल कांग्रेस, कांग्रेस और सीपीएम का नाम लेकर कहा था कि वह कोई अन्य दूसरी पार्टी जॉइन नहीं करेंगे। उन्होंने अपनी पोस्ट में कहा था कि मैं हमेशा एक टीम का खिलाड़ी रहा हूं। हमेशा एक टीम को सपोर्ट किया है- मोहनबागान। एक ही पार्टी का समर्थन किया है- भाजपा। परंतु संशोधन के बाद यह बात भी पोस्ट से हट गई है। ऐसे में कई तरह के कयास लगाए जाने लगे हैं।


बाबुल सुप्रियो ने पहले पोस्ट में लिखी थीं यह बातें, बताया था क्यों छोड़ रहा हूं राजनीति
संशोधन करने से पहले फेसबुक पोस्ट में उन्होंने लिखा था कि सामाजिक कार्य करने के लिए राजनीति को छोड़ना पड़ रहा है। उन्होंने अपनी पोस्ट में कहा है कि मैं हमेशा एक टीम का खिलाड़ी रहा हूं। हमेशा एक टीम को सपोर्ट किया है- मोहनबागान। एक ही पार्टी का समर्थन किया है- भाजपा। बाबुल सुप्रियो ने इस बात का भी जिक्र किया है कि वे बहुत पहले से पार्टी छोड़ना चाहते थे। वे पहले ही मन बना चुके थे कि अब राजनीति में नहीं रहना है।  उन्होंने कहा है कि चुनाव से पहले पार्टी संग मेरे कुछ मतभेद थे। वो बातें चुनाव से पहले ही सभी के सामने आ चुकी थीं। हार के लिए मैं  तो जिम्मेदारी लेता ही हूं, लेकिन दूसरे नेता भी जिम्मेदार हैं। 

बंगाल में भाजपा की वर्तमान स्थिति पर बाबुल ने कहा है कि अब पार्टी के पास कई नेता मौजूद हैं और नौजवान भी पार्टी की ताकत बढ़ा रहे हैं। उन्होंने कहा कि उन्होंने बंगाल में जुड़ने का निर्णय तब लिया यहां पर भाजपा की उपस्थिति न के बराबर थी।

अमित शाह और नड्डा जी का प्यार नहीं भूल सकता
पिछले कुछ दिनों में मैं अमित शाह और जेपी नड्डा जी के पास गया और उन्हें बताया कि मैं क्या महसूस कर रहा हूं। मैं उनके द्वारा दिए प्यार को कभी नहीं भूल सकता। मेरी हिम्मत नहीं उनके पास जाकर ये कहूं कि राजनीति छोड़ रहा हूं। मैंने काफी पहले ही इस बारे में फैसला कर लिया था। लेकिन अब उनके पास जाऊंगा तो लगेगा कि मैं मोलभाव कर रहा हूं और जब ये ठीक नहीं है तो मैं नहीं चाहता उन्हें गलत संकेत मिले। मैं प्रार्थना करूंगा कि वो मुझे गलत न समझें।  

एक महीने के भीतर छोड़ूंगा सरकारी आवास, सांसद के पद से भी दूंगा इस्तीफा
बाबुल सुप्रियो ने एक और बड़ा एलान करते हुए कहा कि मैं एक महीने के भीतर सरकारी आवास छोड़ दूंगा, साथ ही मैं सांसद के पद से भी इस्तीफा दूंगा। 



विज्ञापन


बता दें कि भाजपा नेता बाबुल सुप्रियो ने बीते शुक्रवार को अपने सोशल मीडिया अकाउंट फेसबुक पर एक के बाद एक कई पोस्ट की थीं। जिसमें उन्होंने इशारो-इशारों में राजनीति को छोड़ने के संकेत दिए थे। उसके एक दिन बाद सुप्रियों ने अपने फेसबुक पर 'अलविदा' लिखकर राजनीति छोड़ने का एलान कर दिया है। 

मोदी मंत्रिमंडल के विस्तार से पहले बाबुल सुप्रियो ने दिया था इस्तीफा
आठ जुलाई को मोदी मंत्रिमंडल के विस्तार से पहले 7 जुलाई को 12 मंत्रियों ने इस्तीफा दिया था। इनमें बाबुल सुप्रियो भी शामिल थे। हालांकि सोशल मीडिया पोस्ट पर उन्होंने इस बारे में इशारे में बहुत कुछ बता दिया लेकिन खुलकर लिखने से बचते नजर आए।

खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00