Funny Jokes: जब शायर को शायरी सुनाना कुछ इस तरह पड़ गया भारी...पढ़िए धमाकेदार जोक्स

फीचर डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: नवनीत राठौर Updated Wed, 14 Apr 2021 09:31 AM IST
Jokes
1 of 5
विज्ञापन
जिस तरह अच्छी हवा, अच्छा खानपान किसी भी इंसान के सेहतमंद रहने के लिए जरूरी होता है, उसी प्रकार आपकी हंसी भी आपको स्वस्थ रखने में अहम भूमिका निभाती है। अगर आप सुबह-शाम हंसने की आदत डाल लें तो कोई भी बीमारी, चाहे मानसिक हो या शारीरिक आपके पास भी नहीं आएगी। इसीलिए हम आपके लिए कुछ ऐसे मजेदार चुटकुले लेकर आए हैं, जिन्हें पढ़ने के बाद आप हंसते-हंसते लोटपोट हो जाएंगे। तो चलिए शुरू करते हैं हंसने-हंसाने का ये सिलसिला...

------------------------------------------

टीचर - अगर कोई लड़का गर्ल्स हॉस्टल की तरफ गया,
तो 100 रु. फाइन लगेगा...!
.
दूसरी बार गया तो 200 रु. और तीसरी बार
सीधा 500 का फाइन लगेगा...!
.
छात्र - सर जी... अगर हमें महीने भर का पास बनवाना हो,
तो कितने का बन जाएगा...?
Jokes
2 of 5
एक बार छगन चौकीदार वकील के पास गए और बोले -
वकील साहब... मेरी वसीयत लिख दो,
मैं मरने के बाद अपना सबकुछ यतीमखाने को दान करना चाहता हूं।
.
वकील साहब - क्या-क्या है तुम्हारे पास...?
.
छगन चौकीदार - बस.. एक बेटा और एक बेटी।
विज्ञापन
विज्ञापन
Jokes
3 of 5
मास्टर जी - दुख तो अपना साथी है, सुख तो आता जाता है...!
.
अर्थ स्पष्ट करो...!
.
पप्पू - बीवी हमेशा घर में होती है, साली आती जाती है...!
Jokes
4 of 5
गुरु जी - बस इरादे बुलंद होने चाहिये, पत्थर से भी पानी निकाला जा सकता है।
.
लड़का - मैं तो लोहे से भी पानी निकाल सकता हूं...!
.
गुरु जी - कैसे...?
.
लडका - हैंड पंप से...!
विज्ञापन
विज्ञापन
Jokes
5 of 5
शायर ने अर्ज किया...
महफिल में हमारे जूते खो गए,
तो हम घर कैसे जाएंगे...?

महफिल में हमारे जूते खो गए,
तो हम घर कैसे जाएंगे...?
.
इतने में भीड़ में से किसी ने कहा -
'आप शायरी तो शुरू कीजिए...
इतने मिलेंगे कि आप गिन नहीं पाएंगे...!'
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00