लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Birthday Special: 1300 रुपये महीने कमाने वाले की बेटी कैसे बनी बॉक्सर, जानें लवलीना के संघर्ष की कहानी

स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: रोहित राज Updated Sun, 02 Oct 2022 07:59 AM IST
लवलीना बोर्गोहेन
1 of 8
विज्ञापन
लवलीना बोर्गोहेन ने टोक्यो ओलंपिक में जब कांस्य पदक जीता था, तब किसी ने सोचा नहीं था कि असम के छोटे से गांव से निकलकर देश का नाम सबसे बड़े खेल समारोह में रोशन करेगी। उस जीत के बाद लवलीना बॉक्सिंग की नई स्टार बन गईं। वह कई लड़कियों के लिए प्रेरणा स्रोत बन गईं। लवलीना का आज (रविवार) 25वां जन्मदिन है। आइए असम के गोलाघाट जिले के बरो मुखिया गांव में पैदा होने वाली इस स्टार खिलाड़ी के बारे में जानते हैं...
लवलीना बोर्गोहेन
2 of 8
लवलीना मुक्केबाजी में आने से पहले किक बॉक्सिंग करती थीं, जिसमें वो राष्ट्रीय स्तर पर पदक भी जीत चुकी हैं। दरअसल, लवलीना ने अपनी बड़ी बहनों लीचा और लीमा को देखकर किक बॉक्सिंग करना शुरू किया था। बचपन में लवलीना को काफी संघर्ष का सामना करना पड़ा।
विज्ञापन
लवलीना बोर्गोहेन
3 of 8
लवलीना के पिता टिकेन एक छोटे व्यापारी थे और 1300 रुपये महीना कमाते थे। असम से ओलंपिक की राह इतनी आसान नहीं थी। मगर इस मुक्केबाज ने दिखा दिया कि अगर हिम्मत व जुनून के आगे कुछ भी मुश्किल नहीं होता।
लवलीना बोर्गोहेन
4 of 8
एक बार लवलीना के पिता टिकेन मिठाई लाए थे। वह जिस अखबार में मिठाई को लपेट लाए थे उसे लवलीना ने बाद में देखा था। उसमें मशहूर मुक्केबाज मोहम्मद अली के बारे में लिखा था। मोहम्मद अली के बारे में पढ़कर लवलीना के मन में बॉक्सर बनने की तमन्ना जाग उठी।
विज्ञापन
विज्ञापन
लवलीना बोर्गोहेन
5 of 8
किक-बॉक्सिंग करने वाले लवलीना का ट्रायल प्राइमरी स्कूल में स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (साई) के लिए हुआ। उन पर कोच पादुम बोरो की नजर पड़ी। यहीं से लवलीना का जीवन बदल गया।
विज्ञापन
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all Sports news in Hindi related to live update of Sports News, live scores and more cricket news etc. Stay updated with us for all breaking news from Sports and more news in Hindi.

विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00