लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

भदोही अग्निकांड: बिखरे सामान बयां कर रहे हादसे की भयावहता की दास्तान, डरा रहा पंडाल के अंदर का नजारा

संवाद न्यूज एजेंसी, घोसिया Published by: Vikas Kumar Updated Tue, 04 Oct 2022 02:50 AM IST
भदोही अग्निकांड
1 of 9
विज्ञापन
औराई के कैयरमऊ के दुर्गा पूजा पंडाल में अग्निकांड की तस्वीरें सोमवार को भी हादसे की भयावहता बयां कर रहीं थीं। जिला प्रशासन ने घटनास्थल को पूरी तरह से सील कर दिया था। लेकिन अंदर का नजारा किसी को भी डराने के लिए काफी था। 
भदोही अग्निकांड
2 of 9
कल तक जहां भव्य पूजा पंडाल था, वहां सोमवार को सिर्फ उजड़ा ढ़ांचा नजर आ रहा था। कल जिस पंडाल में लोग मां की महिमा का प्रसंग देख रहे थे, वहां आज एक मातमी सन्नाटा पसरा था। बिखरे सामान, जले अवशेष और राख हो चुकीं पंडाल की अस्थाई दीवारें देख लोग सिहरन से भर उठे। आग की लपटों के बीच बीती रात की भगदड़ के बाद कहीं बच्चे का चश्मा तो कहीं किसी महिला का पर्स गिरा पड़ा था। कहीं स्मार्टवॉच तो कहीं प्रसाद की टोकरी पड़ी थी। बिखरे जूते-चप्पल मानो कह रहे हों कि जो हुआ, बहुत बुरा हुआ। घटना के बाद पंडाल के पास फोर्स की तैनाती भी की गई है। सोमवार को जिले भर से बड़ी संख्या में लोग घटनास्थल पर पहुंचे। सभी वहां की स्थिति देख अवाक रह गए। हर कोई पुलिस-प्रशासन से लेकर आयोजन समिति को कोसता रहा। उनका कहना था कि अगर व्यवस्था ठीक रहती तो इतनी बड़ी जनहानि नहीं होती। 
विज्ञापन
भदोही अग्निकांड में बची रही मां दुर्गा की प्रतिमा
3 of 9
माता के दरबार दो परिवारों पर टूटा गमों का पहाड़
औराई के नरथुआं में रविवार की रात हुए अग्निकांड से दो परिवारों पर गमों का पहाड़ टूट पड़ा है। जेठूपुर के दीपक सेठ के छोटे बेटे अंकुश सोनी कीमौत हो गई है। वहीं, बारीगांव के पूर्व प्रधान रमापति की पत्नी और दो नातियों की जान जा चुकी है। इनके परिवार के पांच से अधिक बच्चों का अस्पतालों में उपचार चल रहा है।
भदोही अग्निकांड में बची रही मां दुर्गा की प्रतिमा
4 of 9
औराई स्थित पंडाल में आसपास के दर्जन भर गांव की महिलाएं और पुरुष आरती संग शो देखने पहुंचे थे। हादसे में सबसे अधिक जेठूपुर, बारीगांव और सेऊर गांव के लोग प्रभावित हुए हैं। जेठूपुर के करीब 12, बारीगांव के 25 और सेऊर के 15 लोग अग्निकांड के शिकार हुए हैं। बारीगांव के पूर्व प्रधान रमापति के कुनबे के आठ लोग झुलसे हैं। उनकी पत्नी, दो नातियों की मौत हो चुकी है। पांच बच्चे अब भी बीएचयू, ट्रामा सेंटर में जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं। जेठूपुर गांव के दीपक सोनी पर मानो ईश्वर ने तुषारापात कर दिया है। उनके छोटे बेटे अंकुश सोनी की घटना में मौत हो चुकी है। सोमवार को वह बेसुध घर के बाहर बैठे रहे। महिलाओं और रिश्तेदारों के करुण क्रंदन से माहौल गमगीन नजर आया। 
विज्ञापन
विज्ञापन
भदोही दुर्गा पूजा पंडाल में लगी आग
5 of 9
पहले पति और अब इकलौते बेटे को भी खोया
औराई अग्निकांड में झुलसी सीमा देवी (40) का कबीरचौरा हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है। शायद वह ठीक होकर घर भी आ जाएं, लेकिन उसे क्या पता कि अब उसकी पूरी दुनिया उजड़ चुकी है। पहले पति और अब एकलौते बेटे को खो कर सीमा कैसे जीएगी, यह सोचकर ही रिश्तेदार चिंतित हैं। 
विज्ञापन
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00