लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Murder: आपसी रंजिश या फिर युवती से प्यार, नहीं खुला तालिबानी कत्ल का राज, संगीनों के साए में हुआ अंतिम संस्कार

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, मेरठ Published by: Dimple Sirohi Updated Thu, 29 Sep 2022 02:29 PM IST
बहनों का रो-रोकर बुरा हाल।
1 of 6
विज्ञापन
मेरठ के परीक्षितगढ़ थानाक्षेत्र के खजूरी गांव में दीपक त्यागी का कत्ल तालिबानी अंदाज में किया गया। सिर कटे शव को जिसने भी देखा उसकी रूह कांप गई। पुलिस के लिए यह मामला जहां पेचीदा होता जा रहा है वहीं दीपक का कटा सिर ढूंढना पुलिस के लिए चुनौती बन गया। रातभर परीक्षितगढ़ पुलिस और एसओजी ने खजूरी गांव के पास नाले में सर्च अभियान चलाया लेकिन सफलता नहीं मिली। अभी तक की जांच-पड़ताल में सामने आया कि दीपक की हत्या के पीछे प्रेम-संबंध या फिर रंजिश हो सकती है। प्रेमिका समेत कई लोगों से पूछताछ की जा रही है। वहीं बुधवार शाम को दीपक के सिर कटे शव का पुलिस की मौजूदगी में अंतिम संस्कार कर दिया गया।

पुलिस ने प्रेमिका सहित कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की लेकिन कोई सुराग हाथ नहीं लगा। वीभत्स तरीके से हत्यारों ने दीपक की हत्या को अंजाम दिया। गांव मुख्य रास्ते पर गन्ने के खेत में पड़े खून के छींटे इस वारदात की बर्बरता को बयां कर रहे थे। फॉरेंसिक टीम ने बताया कि सिर काटने के बाद 20 मीटर तक कातिल उसको घसीटते हुए ले गए। शायद उसके बाद बोरे में रखकर ले गए होंगे। गांव में तनाव को देखते हुए पुलिस फोर्स तैनात किया गया है। आगे विस्तार से जानें आखिर कैसे हत्यारों ने इस खौफनाक वारदात को अंजाम दिया।
जांच करती पुलिस।
2 of 6
बुधवार देर रात तक परीक्षितगढ़ पुलिस और एसओजी ने घंटों तक युवक का कटा सिर और कातिलों को ढूंढने का प्रयास किया, मगर सफलता नहीं मिली। पुलिस के अनुसार दीपक की जेब से सोनू वाल्मीकी का मोबाइल मिला है, जिससे दोनों सिम गायब थे। पुलिस ने दीपक और सोनू के मोबाइल की सीडीआर निकाली। इसके बाद खजूरी के बराबर वाले गांव अहमदनगर बढ़ला निवासी दीपक की प्रेमिका, एक अन्य महिला सहित पांच लोगों को पूछताछ के लिए उठाया। इनसे पूछताछ जारी है। 

यह भी पढ़ें: UP: नहीं देखी होगी नीलगाय की ऐसी भयंकर लड़ाई, देखने के लिए ठहर गए पर्यटक, कैमरे में किया कैद
विज्ञापन
गांव में पुलिस तैनात।
3 of 6
वहीं पीड़ित परिवार ने मंगलवार को मृतक कटा सिर बरामद किए बिना शव का अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया था। इसके चलते रातभर परिजन शव घर लेकर बैठे रहे। बुधवार सुबह एसएसपी, एसपी देहात समेत पुलिस प्रशासन के अधिकारियों ने गांव में डेरा डाल दिया और परिवार को आश्वासन दिया कि कटा हुआ सिर भी बरामद करेंगे और कातिलों को भी जल्द पकड़ेंगे। इस आश्वासन पर शाम को संगीन के साए में शव का अंतिम संस्कार किया गया। कुछ ग्रामीणों ने रोष जताते हुए पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की। पुलिस अधिकारी इन ग्रामीणों के सामने शांति की अपील करते रहे।
 
जांच करती पुलिस।
4 of 6
रातभर बिलखते रहे परिजन, नेताओं का लगा तांता 
घटना की जानकारी मिलने पर राज्यमंत्री दिनेश खटीक, भाजपा नेता अजित सिंह और ब्लाक प्रमुख सहित भाजपा के कई नेता खजूरी गांव पहुंचे। उन्होंने भी आश्वस्त किया कि मामले का जल्द खुलासा करवाया जाएगा। अधिकारियों से भी बात की गई।
विज्ञापन
विज्ञापन
विलाप करते परिजन।
5 of 6
मंत्री खटीक ने कहा कि देहात में रोजाना लूट, डकैती और हत्या की वारदात हो रही है। पुलिस उसे कंट्रोल करने में पूरी तरह से फेल है। बुधवार शाम भाजपा के पूर्व विधायक सत्यवीर त्यागी भी कार्यकर्ताओं के साथ पहुंचे। परिजनों को सांत्वना देकर मुख्यमंत्री के पीएसओ से फोन पर घटना के बारे में अवगत कराया। 
विज्ञापन
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00