लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

मिखाइल पोपकोव
अपराध लोक

Apradh Lok : भक्षक बन पुलिसवाले ने कुल्हाड़ी से 200 महिलाओं का किया कत्ल

3 December 2022

Play
6:18
मिखाइल पोपकोव नाम का ये सीरियक किलर 200 से ज्यादा महिलाओं की क्रूरता से हत्या कर चुका है। इसे रूस का सबसे खतरनाक सीरियल किलर माना जाता है, अपने जुर्मो के लिए वो इस समय जेल की सजा काट रहा है. हैरानी की बात ये है कि इसने पुलिस की नौकरी करते हुए इन वारदातों को अंजाम दिया था।

Apradh Lok : भक्षक बन पुलिसवाले ने कुल्हाड़ी से 200 महिलाओं का किया कत्ल

1.0x
  • 1.5x
  • 1.25x
  • 1.0x
10
10
X

सभी 153 एपिसोड

अक्सर जब कभी किसी शख्स पर कोई इल्ज़ाम लग जाता है, तो खुद को बेकसूर साबित करना भी उसी के जिम्मे होता है, अब चाहे इसके लिए वो दलील दे, कानून के सामने सबूत पेश करे या फिर खुद तफ्तीश ही क्यों न करे. आज एक ऐसी ही कहानी, जिसकी जमीन थी राजस्थान का मेंहदीपुर बालाजी...

16 नवंबर 1957 की सुबह अमेरिका के प्लेनफील्ड शहर में एक हार्डवेयर स्टोर की मालकिन बर्निस वर्डेन गायब हो जाती हैं। बर्निस वर्डेन के बेटे, डिप्टी शेरिफ फ्रैंक वर्डेन, शाम 5:00 बजे के आसपास स्टोर में दाखिल होते हैं तो उन्हें.... दुकान का कैश रजिस्टर खुला मिलता है और फर्श पर खून के धब्बे दिखाई देते हैं...लेकिन उनकी मां वहां मौजूद नहीं होती हैं...फ्रैंक जांचकर्ताओं को बताते हैं कि शाम को उसकी मां के लापता होने से पहले गीन नाम का शख्स स्टोर में था और एक गैलन एंटीफ्रीज के लिए बिक्री पर्ची वर्डेन द्वारा लिखी गई आखिरी रसीद थी...पर्ची एड गीन के नाम से थी....

जुर्म की दुनिया में आज कहानी एक ऐसी पुलिस तफ्तीश की, जिसने बिना सबूत और सुराग के बस बयान के बदौलत क़त्ल की एक खौफनाक साज़िश का खुलासा किया और इस मामले को पहचान दी दीशित जरीवाला हत्याकांड के तौर पर...

जुर्म की दुनिया में आज बात होगी एक ऐसे अमेरिकी नेक्रोफाइल सीरियल सेक्स किलर की, जो मासूमों को न सिर्फ मौत देता, बल्कि मकतूल के जिस्म को अपनी हवस बुझाने का ज़रिया भी बनाता.. 

जुर्म की दुनिया में आज बात होगी एक ऐसे दक्षिण अफ्रीकी सीरियल किलर की, जिसने साल 1996 से 1997 के बीच, महज़ एक साल में 27 हत्याओं की वारदात को अंजाम दिया, यही नहीं बल्कि यह सीरियल किलर बलात्कार, डकैती और 26 लोगों की हत्या के प्रयास जैसे संगीन अपराधीक गतिविधियों में भी शामिल रहा...

जुर्म की दुनिया में आज बात होगी एक ऐसे रूसी सीरियल किलर की जिसने 1992 से 1995 के बीच क्रासनोयास्क और उसके आसपास के क्षेत्रों में 19 हत्याएं सहित करीब-करीब 70 आपराधी वारदातों को अंजाम दिया.. क्रासनोयास्क के इतिहास में सबसे भयानक सीरियल किलर के तौर पर पहचाने जाने वाले इस अपराधी का नाम था वादिम इरशोव

जनवरी 2004. जयपुर स्टेशन के जीआरपी थाने में गफ्फार खान अपने दो बेटों की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाने पहुंचते हैं। वो पुलिस को बताते हैं कि उनके बेटे टैक्सी चलाते हैं और वो कार बुकिंग पर यूपी गए थे लेकिन वापस लौटकर नहीं आए. उनकी कोई खैर-खबर नहीं। कोई संपर्क नहीं हो पा रहा है। आज बात होगी एक ऐसे कातिल की जो पेशे से था तो डॉक्टर लेकिन टैक्सी चालकों की हत्या में उसे मजा आता था...

जुर्म की दुनिया में आज बात होगी एक ऐसे सोवियत-रूसी सीरियल किलर कि जिसने 1988 से 1993 के बीच मास्को में करीब 19 मासूमों को मौत के घाट उतारा. कानून की किताबों में The Hippopotamus Killer नाम से पहचाने जाने वाले इस अपराधी का नाम था सर्गेई रियाखोव्स्की...

जुर्म की दुनिया में बात होगी एक ऐसे मुजरिम की जिसका दक्षिण भारत में खौफ था. इस साइको किलर के निशाने पर सिर्फ महिलाएं हुआ करती थीं. पहले वो महिलाओं को अगवा करता, फिर बलात्कार करता और फिर यातनाएं दे देकर मौत के घाट उतार देता. माना जाता है कि इस साइको किलर ने रेप की करीब 30 वारदातों को अंजाम दिया और मरने तक वह 19 औरतों को मौत के घाट उतार चुका था. तमिलनाडु, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश में इसके खौफ की वजह से प्रशासन ने महिलाओं के रात में और अकेले न निकलने की ताकीद कर दी थी. इस हत्यारे का नाम था एम जयशंकर...तमिलनाडु के सालेम का रहने वाला कुख्यात किलर एम जयशंकर पेशे से ट्रक ड्राइवर...था. जयशंकर इतना शातिर था कि जेल की सलाखें भी उसे नहीं रोक सकीं...

14 मई 1983 की रात 1 बजकर 10 मिनट पर कैलिफोर्निया हाईवे पेट्रोल के दो पुलिस अधिकारी एक टोयोटा सेलिका कार को गलत तरीके सड़क पर दौड़ते देखते हैं। कार तेज गति में थी और अवैध लेन पर चल रही थी. अधिकारियों को संदेह होता है और वो कार को रुकने का इशारा करते हैं...कार रुक जाती है और नशे में धुत एक शख्स उससे बाहर निकलता है और बियर की बोतल को पुलिसवालों के सामने आकर पटक देता है। ड्राइविंग लाइसेंस के इस शख्स की पहचान रैंडी क्राफ्ट के तौर पर होती है। पुलिस अधिकारी माइकल स्टर्लिंग गौर करते हैं कि रैंडी की जींस का बटन खुला हुआ है। इसी बीच स्टर्लिंग के साथी सार्जेंट माइकल हॉवर्ड कार के पास पहुंचते हैं. जब वो कार के अंदर झांकते हैं कि तो उसमें एक युवक पीछे की सीट पर अपनी आँखें बंद करके झुका हुआ था, कई खाली बियर की बोतलें और लोराज़ेपम गोलियों की शीशियां उसके पैरों के चारों ओर बिखरी पड़ी थीं। 

आवाज

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00