लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Pralaya

प्रलय

Specials

प्रलय...ये नाम जब भी दिमाग में आता है आपकी आंखों के सामने सिर्फ एक ही चीज़ आती है और वो है तबाही. मानव सभ्यता के इतिहास में ऐसे कई हादसे हुए है जिन्होंने पृथ्वी के आज के स्वरूप को गढ़ा है। हमारे इस शो में जानिए मानव इतिहास के अबतक के सबसे बड़े हादसों के बारे में जिन्होंने बदली हमारी धरती की तस्वीर...

प्रलय: जब एक सर्द सुबह हिल गया था चीन

1.0x
  • 1.5x
  • 1.25x
  • 1.0x
10
10
X

सभी 55 एपिसोड

23 जनवरी, 1556 की वो सर्द सुबह, जब चीन के शांशी में जानलेवा भूकंप आया, जिसे दुनिया में अब तक का सबसे बड़ा भूकंप माना गया है. इस भूकंप में लगभग आठ लोगों की जान चली गई थी। 
 

उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में 16-17 जून 2013 की वो तारीख, जिसने उत्तराखंड को तबाह करने में कोई कसर नहीं छोड़ी. आसमानी आफत ने केदार घाटी समेत पूरे उत्तराखंड में बर्बादी के कभी ना मिटने वाले निशान छोड़े। 

तुर्की और पड़ोसी देशों में भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए हैं। नूर्दगी से 23 किलोमीटर पूर्व की ओर यह झटके महसूस किए गए।

26 जुलाई को बांद्रा तलाब में पानी भर गया था। तालाब के पास सड़कों पर मछलियां तैर रही थीं। इस बारिश ने कभी न रुकने वाले इस शहर की रफ्तार पर ब्रेक लगा दिया था।

हादसे के वक्त विमान में कुल 97 लोग सवार थे, जिनमें से 35 लोगों को जान गंवानी पड़ी थी। कुछ लोगों ने हादसे के वक्त एयरशिप के कूदकर अपनी जान बचाई थी।
 

उपहार सिनेमा भीषण अग्निकांड में 27 साल पहले किसी ने अपना जवान लड़का खोया तो किसी ने अपनी जवान लड़की। इस आग में न केवल 59 लोगों की जान गई थी, बल्कि उनके परिजन आज भी तिल-तिलकर मरने को मजबूर हैं
 

हिटलर, ना ये नाम नया है ना ही इस नाम के साथ जुड़ी भयावह और दिल दहला देने वाली कहानियां....यहूदियों के लिए हिटलर की नफरत होलोकॉस्ट के रूप में सामने आई।
 

शुरुआती सालों में इस महामारी को ग्रेट मोर्टेलिटी के नाम से जाना जाता था. ब्यूबॉनिक प्लेग से पीड़ित व्यक्ति के कांख और जांघों पर काले रंग के बड़े-बड़े फोड़े बन जाते थे।

सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायरनमेंट की एक रिपोर्ट के हिसाब से जम्मू-कश्मीर में आई ये बाढ़ यहां बीते 60 सालों में आई सबसे बड़ी मौसमी आपदा है। 
 

ये दुर्घटना शायद इतनी बड़ी नहीं होती इसलिए इनकी तरफ किसी का ध्यान नहीं जाता। लेकिन सन् 1975 में एक ऐसा खदान हादसा हुआ जिसने पूरे भारत को हिला कर रख दिया। इस हादसे में कुछ मिनटो में 300 से ज्यादा लोगों ने जल समाधि ले ली।
 

आवाज

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00