Tech Talk

टेक टॉक

Technology

टेक और गैजेट्स की खास खबरें, जिनका आपसे है सरोकार

स्मार्टफोन के सेंसर्स का मतलब क्या है, कैसे करते हैं काम

X

सभी 3 एपिसोड

जब आप अपने मोबाइल फोन से कॉल करने के बाद उसे अपने कान के पास ले जाते हैं, तो उसकी स्क्रीन अपने आप बंद हो जाती है। दरअसल, इसमें भी सेंसर ही काम करता है। इसी तरह, हमारे मोबाइल फोन में कई तरह के सेंसर इस्तेमाल होते हैं, आइए जानते हैं इनके बारे में...

आपके लिए पहले यह जानना जरूरी है कि ऑक्सीमीटर कितने प्रकार के होते हैं तो आपको बता दें कि ऑक्सीमीटर तीन प्रकार के होते हैं जिनमें फिंगरटिप पल्स ऑक्सीमीटर, हैंडहेल्ड और फेटल पल्स ऑक्सीमीटर शामिल हैं।

आमतौर पर किसी भी गैजेट को चार्ज करने के लिए किसी पावर कनेक्टर से कनेक्ट करना पड़ता है, हालांकि अब वायरलेस चार्जिंग का भी इस्तेमाल होने लगा है लेकिन इसमें भी चार्जिंग पैड को किसी पावर सोर्स से कनेक्ट करना होता है। दुनिया अब वायरलेस चार्जिंग से भी आगे बढ़ने लगी है। हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि सिंगापुर के कुछ रिसर्चर्स का कहना है कि उन्होंने एक नई तकनीक इजाद की है जिससे वायरलेस पावर ट्रांसमिशन के जरिए मानव शरीर को टैप करके हाथ में पहने हुए गैजेट यानी स्मार्टवॉच या बैंड को चार्ज किया जा सकता है। दावा है कि इस तकनीक में जेब में रखे फोन से पावर को ट्रांसमिट किया जाएगा जिससे हाथ में मौजूद गैजेट चार्ज होगा।

आवाज

  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00