विज्ञापन
विज्ञापन
गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें
Myjyotish

गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

फरीदकोट: केंद्रीय मॉडर्न जेल के पास पेशी से लौटे उत्तरप्रदेश के दो कैदी फरार, छह पुलिस कर्मियों को दे गए चकमा

फरीदकोट की केंद्रीय मॉडर्न जेल से मुकेरियां की अदालत में पेशी भुगत कर वीरवार देर शाम लौटे दो कैदी पुलिस पार्टी को चकमा देकर फरार हो गए। फरार होने वाले कैदियों की पहचान उत्तरप्रदेश के कानपुर के थाना बिलहौर के गांव मक्खनपुर शरीफ निवासी अब्दुल रहमान उर्फ सोनू और साजम पुत्र ताहिर हुसैन के रूप में हुई है। इस मामले में थाना कोतवाली पुलिस ने दोनों हवालातियों सहित इनकी निगरानी में तैनात छह पुलिस कर्मचारियों के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

ये भी पढ़ें-
पंजाब : अमरिंदर की महिला मित्र और पाक खुफिया एजेंसी के कनेक्शन की होगी जांच

सरकारी बस से लाए गए थे मुकेरियां अदालत
नामजद किए पुलिस कर्मचारियों में तीन एएसआई, एक हवलदार व दो होमगार्ड शामिल हैं। जिला पुलिस के लाइन अफसर एसआई हरप्रीत सिंह के अनुसार एक दिन पहले वीरवार सुबह इन दोनों कैदियों को छह पुलिस कर्मचारियों की निगरानी में सरकारी बस से मुकेरियां अदालत में पेशी के लिए भेजा गया था। पेशी के बाद वीरवार देर शाम फरीदकोट लौटने पर जेल से थोड़ा पीछे दोनों कैदी हथकड़ियों को गुट में निकालकर शीशे से छलांग मारकर फरार हो गए। ... और पढ़ें
पंजाब की फरीदकोट जेल। पंजाब की फरीदकोट जेल।

पंजाब : अमरिंदर की महिला मित्र और पाक खुफिया एजेंसी के कनेक्शन की होगी जांच

पंजाब के डिप्टी सीएम सुखजिंदर सिंह रंधावा ने वीरवार को कैप्टन अमरिंदर सिंह की पाक महिला मित्र व पाक खुफिया एजेंसी आईएसआई के कनेक्शन की जांच के लिए कार्यवाहक डीजीपी इकबाल प्रीत सहोता को आदेश दिए। रंधावा ने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह को बार-बार आगाह करने के बावजूद उनकी पाक महिला मित्र साढ़े चार साल तक सरकारी कोठी में रही। 

वीरवार को जालंधर में पत्रकारों से बातचीत में डिप्टी सीएम रंधावा ने कहा कि कैप्टन को कैसे पता चला कि पंजाब पर आईएसआई का खतरा है। मतलब, उन्हें कोई न कोई जानकारी दे रहा था। रंधावा ने मौके पर ही डीजीपी इकबालप्रीत सिंह सहोता को आदेश दिए कि इसकी बारीकी से जांच की जाए। उन्होंने कहा कि ईडी केस का सामना करने और पाकिस्तानी नागरिक को शरण देने के बाद से कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बीजेपी के साथ हाथ मिला लिया है। 

जालंधर के पंजाब आर्म्ड पुलिस कांप्लेक्स में आयोजित शहीदी कार्यक्रम में उन्होंने डीजीपी को कहा कि शहीद परिवार पुलिस ऑफिस के चक्कर न काटें। क्लर्कों के आगे हाथ जोड़कर खड़े न रहें। ऐसी व्यवस्था की जाए कि उन्हें अपनी फाइल लेकर अलग-अलग ऑफिस न भागना पड़े। संभव हो तो हर जिले में एक अफसर नियुक्त कर दें, जो शहीद परिवार के घर जाकर उनकी मुश्किलें सुनें और उसे दूर करें।    

पंजाब पुलिस बीएसएफ से भी समर्थ...
पंजाब में सीमा सुरक्षा बल का इंटरनेशनल बॉर्डर से 50 किमी तक दायरा बढ़ाने पर डिप्टी सीएम रंधावा ने कहा कि बीएसएफ से ज्यादा काम पंजाब पुलिस करती है। पंजाब पुलिस ने आतंकवाद खत्म किया है, इसलिए पंजाब पुलिस पर अंगुली नहीं उठाई जा सकती। 
... और पढ़ें

कैप्टन का पलटवार: हरीश रावत से कहा-मुझे सेक्युलरिज्म का पाठ न पढ़ाएं, सिद्धू को कहा धोखेबाज

सीएम पद छोड़ने के बाद भी कैप्टन अमरिंदर और पंजाब कांग्रेस में उनके विरोधियों के बीच बयानबाजी खत्म नहीं हो रही। गुरुवार को पंजाब कांग्रेस प्रधान नवजोत सिद्धू ने कैप्टन अमरिंदर सिंह को तीन कृषि कानूनों का निर्माता बताया जिसके बाद अमरिंदर ने पलटवार किया। उन्होंने हरीश रावत से लेकर नवजोत सिद्धू और परगट सिंह सभी पर सवाल उठाए।

यह भी पढ़ें - 
कैप्टन पर भड़के नवजोत सिद्धू: पुराना वीडियो शेयर कर अमरिंदर को बताया कृषि कानूनों का निर्माता 
 
रावत को उन्होंने कहा कि मुझे धर्मनिरपेक्षता का पाठ न पढ़ाएं। मत भूलिए नवजोत सिद्धू भाजपा से कांग्रेस में आए थे और परगट सिंह अकाली दल से पार्टी में शामिल हुए थे। आज आप मुझ पर अपने प्रतिद्वंद्वी अकालियों की मदद करने का आरोप लगा रहे हैं। क्या इसलिए मैं पिछले 10 सालों से उनके खिलाफ कोर्ट केस लड़ रहा हूं। मैं 2017 के बाद से पंजाब में सभी चुनाव क्यों जीता हूं। आपको लगता है कि मैं पंजाब में कांग्रेस के हितों का नुकसान करूंगा, लेकिन सच ये है कि मुझ पर भरोसा न करके और पार्टी की कमान नवजोत सिद्धू जैसे अस्थिर आदमी के हाथ में देकर पार्टी ने अपने हितों को नुकसान पहुंचाया है। 
 
हरीश रावत ने कैप्टन के भाजपा के साथ जाने की अटकलों पर कहा था कि ऐसा लगता है कि उन्होंने अपने भीतर के 'धर्मनिरपेक्ष अमरिंदर' को मार डाला है। अगर वह धर्मनिरपेक्षता के प्रति अपनी पुरानी प्रतिबद्धता पर कायम नहीं रह सकते तो उन्हें (अमरिंदर सिंह) कौन रोक सकता है।
... और पढ़ें

जालंधर में हादसा: तेज रफ्तार ट्राले ने एक्टिवा सवार महिलाओं को मारी टक्कर, दोनों की मौत

जालंधर में चौगिट्टी के पास अमृतसर हाईवे पर एक तेज रफ्तार ट्राले ने एक्टिवा सवार महिलाओं को टक्कर मार दी। हादसे में दोनों महिलाओं की मौके पर ही मौत हो गई और चालक ट्राला लेकर भाग निकला। पुलिस ने रामा मंडी चौक पर आरोपी ट्राला चालक सतनाम सिंह निवासी को गिरफ्तार कर लिया है।

यह भी पढ़ें - 
लुधियाना: आयकर विभाग की 30 टीमों ने साइकिल एवं पार्ट्स निर्माताओं के ठिकानों पर दी दबिश, कब्जे में लिए दस्तावेज  

वहीं चालक का कहना है कि वह श्रीनगर से दिल्ली जा रहा था। उसे तो पता ही नहीं लगा कि उसके ट्राले के नीचे कोई आ गया है। उसे एक कार वाले ने बताया कि उसके ट्राले के नीचे महिलाएं आ गई हैं।मृतक महिलाओं की पहचान अमरजीत कौर और अनीता शर्मा के तौर पर हुई है।

दोनों महिलाएं लद्देवाली में मोहन विहार की रहने वाली थीं। महिलाएं लद्देवाली की तरफ से आ रही थीं। हाईवे पर चढ़ते ही तेज रफ्तार ट्राले ने उनको किनारे से टक्कर मार दी। इससे एक्टिवा समेत दोनों महिलाएं घिसटती हुईं आगे चली गईं और उनकी वहीं पर मौत हो गई। काफी समय तक दोनों के शव सड़क पर ही पड़े रहे। पुलिस एंबुलेंस का इंतजार करती रही, जिस कारण यातायात अवरुद्ध रहा।
... और पढ़ें

लुधियाना: आयकर विभाग की 30 टीमों ने साइकिल एवं पार्ट्स निर्माताओं के ठिकानों पर दी दबिश, कब्जे में लिए दस्तावेज 

जालंधर में हादसा।
आयकर विभाग की 30 टीमों ने गुरुवार सुबह लगभग छह बजे लुधियाना के साइकिल एवं पार्ट्स निर्माताओं के ठिकानों पर दबिश दी। देर शाम तक आयकर विभाग के अधिकारी अपनी कार्रवाई में जुटे हुए थे। इस कार्रवाई के दौरान आयकर विभाग अधिकारियों ने कारोबारियों के परिसर से दस्तावेज को अपने कब्जे में लिया है। कार्रवाई के समय पुलिस मुलाजिमों को साथ लिया गया है, ताकि दबिश की जगह पर कोई व्यक्ति अंदर न आ सके और कोई बाहर न जा सके। अभी तक क्या कुछ बरामद किया जा चुका है, इस संबंध में कोई जानकारी नहीं दी जा रही है। 

यह भी पढ़ें - 
कैप्टन पर भड़के नवजोत सिद्धू: पुराना वीडियो शेयर कर अमरिंदर को बताया कृषि कानूनों का निर्माता 

गुरुवार को आयकर विभाग ने अचानक साइकिल निर्माण से जुड़ी सात इकाइयों पर दबिश दी। बताया जा रहा है कि जालंधर, लुधियाना, पटियाला सहित कई अन्य शहरों में भी इस कार्रवाई को अंजाम दिया जा रहा है। आयकर विभाग के अधिकारी कारोबारियों के घर, दफ्तर, फैक्टरी, गोदाम सहित जहां जानकारी मिल रही है, वहां पर दबिश दे रहे हैं। 

आयकर विभाग की इस कार्रवाई की खबर के बाद साइकिल निर्माण से जुड़े कारोबारियों में हड़कंप का माहौल है। इन इकाइयों को कच्चा माल सप्लाई करने के साथ इनसे माल खरीद करने वाले भी रडार पर आ चुके हैं। सूत्रों के अनुसार, अभी यह कार्रवाई लंबी चल सकती है।
... और पढ़ें

कैप्टन पर भड़के नवजोत सिद्धू: पुराना वीडियो शेयर कर अमरिंदर को बताया कृषि कानूनों का निर्माता

कैप्टन अमरिंदर सिंह के मुख्यमंत्री पद छोड़ने के लंबे समय बाद पंजाब प्रदेश कांग्रेस प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू ने गुरुवार को उन पर जोरदार हमला बोलते हुए उन्हें तीन काले खेती कानूनों का निर्माता करार दिया। सिद्धू ने ट्वीट कर आरोप लगाया कि पंजाब में अंबानी को लाने वाले कैप्टन ही हैं और कैप्टन ने एक-दो कॉरपोरेट घरानों को फायदा पहुंचाने के लिए पंजाब की किसानी को बर्बाद कर दिया। साथ ही सिद्धू ने दो पुराने वीडियो क्लिप भी शेयर किए, जिनमें कैप्टन अंबानी को पंजाब लाने का दावा करते हुए खेती में निजी भागीदारी को बढ़ावा देने का पक्ष ले रहे हैं। 

उधर, सिद्धू के ट्वीट का तुरंत जवाब देते हुए कैप्टन ने भी तीन ट्वीट किए गए, जिनमें सिद्धू से सवाल किया कि राज्य में इनवेस्टर मीट की तैयारियों के बीच यह मुद्दा उठाकर वह (सिद्धू) किस पर निशाना साध रहे हैं?

सिद्धू ने गुरुवार को किए ट्वीट में लिखा- तीन काले कानूनों के निर्माता ... जो अंबानी को पंजाब की किसानी में लेकर आए ... जिन्होंने पंजाब के किसानों, छोटे व्यापारियों और मजदूरों के हितों को एक-दो कॉरपोरेट को फायदा पहुंचाने के लिए बर्बाद कर दिया। इसके साथ ही सिद्धू ने कैप्टन के दो पुराने वीडियो और उद्योगपति मुकेश अंबानी व केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ कैप्टन की तस्वीरें भी शेयर कीं। 

वीडियो में कैप्टन खेती में निजी भागीदारी की वकालत करते सुनाई दे रहे हैं। साथ ही अंबानी को पंजाब में लाने की बात भी कह रहे हैं। पहले वीडियो में कैप्टन कह रहे हैं- मैं यह बात कई वर्षों से कह रहा हूं। मैं 1985-86 में राज्य का कृषि मंत्री था। तब से देख रहा था कि पंजाब में क्या होना है। सरकार आने पर ट्रोपिकाना और अंबानी को यहां लेकर आया। इसलिए मैंने मुकेश अंबानी से बात की। उन्हें कहा कि भारत में आपके 98 हजार आउटलेट्स हैं, जहां आप सब्जी और फल बेच सकते हो। पंजाब में 12700 गांवों में हम आपका साथ देंगे। आप बीज दोगे, देखभाल कर खरीद भी करोगे और उसे फिर हिंदुस्तान में कहीं भी ले जाकर बेच सकते हो।
... और पढ़ें

कपूरथला: दो बेटियों के साथ महिला ने निगला जहर, उपचार के दौरान छोटी बेटी ने दम तोड़ा

  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00