shakti shakti
Hindi News ›   Shakti ›   Who is KV rabiya to be honored with Padma Shri on Republic Day 2022 kv rabiya biography in hindi

Padma Awards 2022: कौन हैं केवी राबिया, जिनको अभी तक केरल वाले जानते थे अब पूरे देश में है इनकी चर्चा

शक्ति डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: आशिकी पटेल Updated Wed, 26 Jan 2022 01:44 PM IST
पद्मश्री केवी राबिया का जीवन परिचय
पद्मश्री केवी राबिया का जीवन परिचय - फोटो : Twitter- @KvRabiya
विज्ञापन
ख़बर सुनें

भारत सरकार द्वारा इस गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर पद्म पुरस्कारों की घोषणा की गई। इसमें कुछ बड़े और नामचीन सितारों के अलावा केरल की समाज सेविका केवी राबिया के नाम की भी घोषणा हुई है। आज उन्हें ये सम्मान मिल भी गया। पद्मश्री से सम्मानित केवी राबिया के जीवन का सफर आसान नहीं रहा है। जिंदगी के सफर में केवी राबिया के पैरों ने तो साथ नहीं दिया लेकिन उनके हाथ और इरादे मजबूत थे, जिन्होंने उन्हें कभी थकने नहीं दिया। दोनों पैर नहीं होने और बार-बार दुर्घटनाओं का शिकार होने के बावजूद उन्होंने समाज के लिए वो कर दिखाया, जो आज एक मिसाल है। इसी वजह से आज पद्मश्री राबिया तक खुद ही पहुंच गया। समाज के लिए कुछ करने की चाह ने राबिया को सबकी नजर में रोल मॉडल बना दिया। अब राबिया को सिर्फ केरल ही नहीं बल्कि पूरा देश जानना चाहता है। तो चलिए आज जानते हैं केरल की इस पद्मश्री समाज सेविका के बारे में सबकुछ...

विज्ञापन

पद्मश्री केवी राबिया का जीवन परिचय
पद्मश्री केवी राबिया का जीवन परिचय - फोटो : Twitter- @Asifkunnath
केवी राबिया का जन्म और पढ़ाई 
केवी राबिया को सामाजिक कार्यकर्ता के तौर पर पद्मश्री से नवाजा गया है। दुनिया के लिए एक रोल मॉडल बन चुकीं केवी राबिया जन्म 25 फरवरी 1966 में मलप्पुरम जिले के तिरुरंगाडी के पास वेल्लिलक्कड़ गांव में हुआ था। राबिया पोलियो से ग्रसित थीं इसलिए व्हीलचेयर ही उनकी पैर बनी। व्हीलचेयर पर होने के बावजूद उन्होंने दुनिया के लिए एक मिसाल पेश की है। व्हीलचेयर पर रहते हुए उन्होंने अपनी पढ़ाई पूरी की और शिक्षिका बनीं। अध्यापिका होने के साथ वह समाज सुधार के कार्यों में भी लगी रहीं। राबिया के प्रयासों ने पूरे देश में नए बदलाव लाए। आज राबिया के नाम पर गांव में नई सड़कें, बिजली, टेलीफोन कनेक्शन और पीने का पानी सबकुछ सहज ही उपलब्ध हो गया है। 

पद्मश्री केवी राबिया का जीवन परिचय
पद्मश्री केवी राबिया का जीवन परिचय - फोटो : Facebook- KV Rabiya
समाज के लिए केवी राबिया के योगदान 
समाज सेवा की ओर एक और कार्य करते हुए राबिया ने चलनम नाम की एक संस्था शुरू की। इस संस्था के जरिए दिव्यांग बच्चों के लिए कई स्कूल खोले गए। सिर्फ यही नहीं, महिला सशक्तीकरण के लिए भी उन्होंने आवाज उठाई। राबिया ने अपने आंदोलन के जरिए दहेज, शराब, अंधविश्वास और नस्लवाद जैसे सामाजिक मुद्दों के खिलाफ लड़ रही हैं। राबिया के प्रयासों से महिलाओं के लिए छोटी दुकानें और महिला पुस्तकालय भी स्थापित कर चुकी हैं। 

पद्मश्री केवी राबिया का जीवन परिचय
पद्मश्री केवी राबिया का जीवन परिचय - फोटो : Facebook- KV Rabiya
राबिया की मुश्किलें यहीं नहीं रुकीं
शारीरिक कष्ट की विपत्ति पोलियो के साथ नहीं रही। एक और कष्ट हुआ कि उन्हें कैंसर हो गया। राबिया को 2000 में कैंसर का पता चला था। महीनों इलाज और कीमोथेरेपी के बाद राबिया इस बीमारी से उबरीं। लेकिन कुछ साल बाद उनके साथ फिर एक दुर्घटना हो गई। बाथरूम में गिरने से उनको ऐसी चोट आई कि अब व्हीलचेयर की बजाय बेड ही उनका सहारा बन गया। इन घटनाओं ने राबिया को भले ही घाव दिए, लेकिन उनके आंतरिक शक्ति को छू भी नहीं पाईं। बिस्तर पर रहते हुए भी राबिया ने आंदोलन जारी रखा। बिस्तर पर रहने के दौरान उनको समय मिला तो कई किताबें लिख डालीं। 

पद्मश्री केवी राबिया का जीवन परिचय
पद्मश्री केवी राबिया का जीवन परिचय - फोटो : Facebook- KV Rabiya
राबिया की आत्मकथा
राबिया की आत्मकथा "ड्रीम्स हैव विंग्स" 2009 में प्रकाशित हुई थी। इसके अलावा, राबिया ने तीन और किताबें भी लिखी हैं। इन्हीं किताबों से उन्हें अपने इलाज के लिए पैसे मिले। 

पद्मश्री केवी राबिया का जीवन परिचय
पद्मश्री केवी राबिया का जीवन परिचय - फोटो : Facebook- KV Rabiya
पद्मश्री से पहले भी मिले ये सम्मान 
राबिया को 1994 में केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय से राष्ट्रीय युवा पुरस्कार और 2000 में केंद्रीय बाल विकास मंत्रालय से कन्नकी स्त्री शक्ति पुरस्कार मिला। इनके अलावा, राबिया को इस अवधि के दौरान केंद्रीय और राज्य पुरस्कार मिले हैं। अब देश के एक बड़े पुरस्कार पद्मश्री के साथ उनका नाम और सुनहरा हो गया है।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें  लाइफ़ स्टाइल से संबंधित समाचार (Lifestyle News in Hindi), लाइफ़स्टाइल जगत (Lifestyle section) की अन्य खबरें जैसे हेल्थ एंड फिटनेस न्यूज़ (Health  and fitness news), लाइव फैशन न्यूज़, (live fashion news) लेटेस्ट फूड न्यूज़ इन हिंदी, (latest food news) रिलेशनशिप न्यूज़ (relationship news in Hindi) और यात्रा (travel news in Hindi)  आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़ (Hindi News)।  

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00