लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Spirituality ›   Religion ›   Kharmas 2022 Start Date What Not To Do In Kharmas Month Know Details In Hindi

Kharmas 2022: इस साल कब से लग रहा है खरमास? जानें इस दौरान क्या करें और किन कार्यों को करने से बचें

धर्म डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: आशिकी पटेल Updated Fri, 02 Dec 2022 09:54 AM IST
सार

Kharmas 2022: ग्रहों के राजा सूर्य देव हर महीने राशि परिवर्तन करते हैं। इस तरह साल के 12 महीने में 12 राशियों में सूर्य का गोचर होता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, जब सूर्य देव गुरु बृहस्पति की राशि धनु या मीन में प्रवेश करते हैं, तो खरमास लगता है। 

इस साल कब से लग रहा है खरमास? जानें इस दौरान क्या करें और किन कार्यों को करने से बचें
इस साल कब से लग रहा है खरमास? जानें इस दौरान क्या करें और किन कार्यों को करने से बचें - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन

विस्तार

Kharmas 2022: ग्रहों के राजा सूर्य देव हर महीने राशि परिवर्तन करते हैं। इस तरह साल के 12 महीने में 12 राशियों में सूर्य का गोचर होता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, जब सूर्य देव गुरु बृहस्पति की राशि धनु या मीन में प्रवेश करते हैं, तो खरमास लगता है। हिंदू धर्म में खरमास की एक माह की अवधि को मांगलिक कार्य करने के लिए शुभ नहीं माना जाता है। इस साल 15 दिसंबर 2022 को सूर्य देव धनु राशि में प्रवेश कर रहे हैं और 14 जनवरी 2023 तक इसी राशि में रहेंगे। इसे खरमास की अवधि मानी जाएगी। इसके बाद जब 14 जनवरी 2023 को सूर्य देव मकर राशि में प्रवेश करेंगे और फिर 15 जनवरी 2023 को मकर संक्रांति मनाई जाएगी। इसके बाद फिर से शुभ कार्य शुरू हो जाएंगे। धार्मिक मान्यता के अनुसार, खरमास के दौरान कुछ कार्यों को करने की मनाही होती है। आइए जानते हैं उन कार्यों के बारे में... 



Garuda Purana: जीवन में खुशहाली और सुख-शांति के लिए रोजाना करें ये काम, बनी रहेगी मां लक्ष्मी की कृपा 


खरमास में न करें ये काम

  • खरमास के दौरान, मांगलिक कार्यों की मनाही होती है. इसलिए इन दिनों में कोई भी शुभ कार्य न करें। 
  • खरमास में बेटी या बहू की विदाई नहीं करनी चाहिए। 
  • खरमास के दौरान गाजर, विवाह, गृह प्रवेश, मुंडन जैसे संस्कारों के अलावा खरमास में नया वाहन, घर, प्लाट, रत्न-आभूषण और वस्त्र आदि नहीं खरीदना चाहिए। 
  • इस दौरान गाजर, मूली, तेल, चावल, तिल, बथुआ, मूंग, सोंठ और आंवला का सेवन नहीं करना चाहिए।  
  • शास्त्रों के अनुसार, खरमास की अवधि के दौरान तामसिक भोजन नहीं करना चाहिए। इस समय लहसुन, प्याज, मांस-मदिरा आदि का सेवन नहीं करना चाहिए। 


खरमास के दौरान इन नियमों का रखें ध्यान

  • खरमास में सूर्य उपासना का बहुत महत्व होता है, इस दौरान प्रतिदिन सूर्य को अर्घ्य देना चाहिए।
  • खरमास के दौरान चारपाई या पलंग का त्याग कर भूमि पर बिस्तर लगाकर शयन करना चाहिए।
  • खरमास की अवधि में थाली की बजाए पत्तल में भोजन करना उत्तम रहता है।
  • ये माह आराधना और जप, उपवास आदि के लिए शुभ माना जाता है।
  • अपने में पूरी तरह से शुद्धता बनाए रखें, मन में किसी के प्रति बुरी भावना लाने से बचें।
  • खरमास के दौरान भगवान विष्णु की पूजा करना भी बेहद शुभ रहता है।
  • इसके अलावा खरमास में नियमित रूप से तुलसी पूजन भी करना चाहिए।

New Year 2023 Upay: नए साल की शुरुआत में ही कर लें ये काम, खत्म होगी शनि देव की नाराजगी, सालभर बनी रहेगी कृपा 

विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें आस्था समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। आस्था जगत की अन्य खबरें जैसे पॉज़िटिव लाइफ़ फैक्ट्स,स्वास्थ्य संबंधी सभी धर्म और त्योहार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00