लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Sports ›   Badminton ›   P Kashyap says Saina Nehwal is not arrogant she was mistreated by own people

Saina Nehwal: साइना के पति का खुलासा- राष्ट्रमंडल खेलों के लिए टीम में न चुने जाने पर खूब रोईं नेहवाल, अब तक सदमे से नहीं उबरीं

स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: शक्तिराज सिंह Updated Sat, 16 Jul 2022 07:37 PM IST
सार

भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल इस बार कॉमनवेल्थ खेलों के लिए भारतीय टीम का हिस्सा नहीं हैं। इस पर उनके पति पारुपल्ली कश्यप ने कहा है कि साइना के साथ उनके अपने लोगों ने गलत किया। 
 

साइना नेहवाल
साइना नेहवाल - फोटो : सोशल मीडिया
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

भारत में बैडमिंटन के खेल को नई पहचान और लोकप्रियता दिलाने में अहम योगदान देने वाली साइना नेहवाल इस बार कॉमनवेल्थ टीम का हिस्सा नहीं हैं। इस पर उनके पति पारुपल्ली कश्यप ने भारतीय बैडमिंटन एसोसिएशन के अधिकारियों को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया है। उनके अनुसार साइना के अपने लोगों ने उनके साथ गलत व्यवहार किया। कश्यप ने यह भी कहा कि साइना राष्ट्रमंडल खेलों में 2010 और 2018 में पदक जीत चुकी हैं, वो इस प्रतियोगिता में भाग लेन के लिए आतुर नहीं थीं, लेकिन जिस तरीके का व्यवहार उनके साथ किया गया। उससे वो बेहद दुखी हैं। 


पारुपल्ली कश्यप ने एक निजी मीडिया संस्थान से बातचीत में कहा "यह काफी मायने रखता है, क्योंकि भारतीय बैडमिंटन एसोसिएशन ने जनवरी में मिली एक हार के आधार पर पूरा चयन किया। साइना खुद को साबित करना चाहती थीं और पहले गेम में दबाव दिखाई दिया। हालांकि, दूसरे गेम में वो बेफिकर होकर खेलीं।"

साइना नेहवाल और पी कश्यप
साइना नेहवाल और पी कश्यप - फोटो : सोशल मीडिया
ट्रायल तब हुए, जब साइना चोट से उबर रही थीं
पारुपल्ली कश्यप ने बताया कि चयन के लिए ट्रायल ऐसे समय पर हुए, जब साइना चोट से उबर रही थीं। टीम में चयन न होने के कारण साइना कई बार रोईं और इस वजह से उनकी मानसिक स्थिति पर काफी प्रभाव पड़ा। उनके लिए प्रैक्टिस करना भी काफी मुश्किल था। ऐसे समय पर आप इस चीज को लेकर निश्चिंत नहीं हैं कि आप अपने लोगों से लड़ने के लिए तैयारी कर रहे हैं या विपक्षी खिलाड़ियों से। 

कश्यप ने आगे कहा कि साइना घमंडी नहीं हैं। वो सिर्फ अपने काम पर ध्यान देती हैं। पारुपल्ली ने आरोप लगाया कि भारतीय बैडमिंडन एसोसिएशन इस मामले में चुप बैठा रहा। उनको कम से कम एक बार बात करनी चाहिए थी। अगर साइना गलत थीं तो उनसे बात करके उनको समझाया जा सकता था, लेकिन किसी ने उनके मैसेज का जवाब नहीं दिया। एसोसिएशन ने साइना को अपने फैसले की वजह भी नहीं बताई। 

अंत में पारुपल्ली कश्यप ने कहा कि साइना को राष्ट्रमंडल खेलों में न शामिल करके फेडेरेशन ने एक तय पदक गंवा दिया है। उन्होंने कहा "टीम में न चुने जाने के झटके से उबरने में उन्हें समय लगा, लेकिन जिस तरह से उनके साथ व्यवहार हुआ, मुझे नहीं लगता कि वो अभी भी उस चीज से बाहर आई हैं।"
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all Sports news in Hindi related to live update of Sports News, live scores and more cricket news etc. Stay updated with us for all breaking news from Sports and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00