बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW
विज्ञापन
विज्ञापन
SBI भर्ती 2021: शुरू होने वाली है भारतीय स्टेट बैंक में क्लर्क भर्ती, ऐसे करें तैयारी
Safalta

SBI भर्ती 2021: शुरू होने वाली है भारतीय स्टेट बैंक में क्लर्क भर्ती, ऐसे करें तैयारी

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

यूपी सरकार का फैसला: प्रदेश में लगेंगे 10 नए ऑक्सीजन प्लांट, डीआरडीओ करेगा सहयोग

उत्तर प्रदेश में ऑक्सीजन की बढ़ती समस्या को देखते हुए सरकार ने 10 नए ऑक्सीजन प्लांट लगाने का फैसला किया है। ये प्लांट डीआरडीओ के सहयोग से तैयार किए जाएंगे। इससे कोरोना कॉल में ऑक्सीजन की समस्या से निपटने में मदद मिलेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हर अस्पताल में 36 घंटे का ऑक्सीजन बैकअप सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। वर्चुअल समीक्षा में शनिवार को उन्होंने इस संबंध में निर्देश दिए।

सीएम ने खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग को निर्देश दिए कि किसी भी जीवन रक्षक दवा और आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों को मेडिकल किट की कमी नहीं होनी चाहिए। उन्होंने चिकित्सा शिक्षा एवं स्वास्थ्य मंत्री को दवाओं और ऑक्सीजन की स्थिति की नियमित समीक्षा के निर्देश दिए। 

रेमडेसिविर सहित विभिन्न औषधियों की उपलब्धता पर लगातार नजर रखने, हर जिले से उपलब्धता की स्थिति का आकलन करते रहने व डिमांड की स्थिति पर विशेष ध्यान रखने के भी निर्देश दिए। वहीं, सीएम के निर्देश के बाद प्लांट स्थापना के लिए स्थान तय करने की कवायद शुरू हो गई है।
... और पढ़ें
ऑक्सीजन सिलेंडर (फाइल फोटो) ऑक्सीजन सिलेंडर (फाइल फोटो)

यूपी में कोरोना का कहर: शनिवार को सामने आए 27 हजार से अधिक मामले, 120 की मौत

यूपी में कोरोना संक्रमितों की संख्या में शनिवार को मामूली कमी नजर आई। शुक्रवार को जहां 27426 मामले सामने आए थे वहीं शनिवार को 27357 नए संक्रमित पाए गए हैं। हालांकि, 120 लोगों की मौत हुई है। वहीं, लखनऊ में 5913 नए संक्रमित मिले हैं। हालांकि, प्रदेश में कोरोना के कारण हालात लगातार भयावह बने हुए हैं जिसे देखते हुए प्रदेश में शनिवार रात आठ बजे से सोमवार सुबह सात बजे तक 35 घंटे का कर्फ्यू लगाया गया है।

वहीं, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड प्रबंधन के मद्देनजर निगरानी समितियों को और अधिक सक्रिय रूप से कार्य करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण की दर में बढ़ोतरी हो रही है। थोड़ी सी लापरवाही भी इस समय भारी पड़ सकती है। ऐसे में पब्लिक एड्रेस सिस्टम का भरपूर उपयोग करते हुए लोगों को जागरूक किया जाए। 

मुख्यमंत्री ने कोविड प्रबंधन को लेकर सभी मंडलायुक्तों, जिलाधिकारियों, सीएमओ और टीम-11 के सदस्यों के साथ वर्चुअल बैठक की। उन्होंने कहा कि वर्तमान परिस्थितियों में निगरानी समितियों की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण है। जागरूकता के लिए प्रचार-प्रसार संबंधी सभी व्यवस्था के साथ ही सार्वजनिक स्थानों पर कोविड हेल्प डेस्क सक्रिय रहे इसकी जिम्मेदारी भी निगरानी समिति की है। उन्होंने निर्देशित किया कि सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनना अनिवार्य कराया जाए और आवश्यकतानुसार इंफोर्समेंट की कार्रवाई भी की जाए।

बताया गया है कि जिलों में निगरानी समितियां ग्राम प्रधानों के नेतृत्व में बनाई गई हैं। इसमें पंचायत सचिव और स्वास्थ्य विभाग से जुड़े लोगों को शामिल किया गया है। इन समितियों के माध्यम से गांव देहात से जुड़ी सूचनाएं संबंधित अधिकारियों तक पहुंचेंगी। शहरों में वार्ड के पार्षदों, मोहल्लें में सक्रिय रहने वाले लोगों, सामाजिक व महिला संगठनों के सदस्य भी समिति में हैं। निगरानी समिति से फीडबैक मुख्यमंत्री कार्यालय ने फिर लेना शुरू कर दिया है। वहां से समिति के सदस्यों को फोन कर जानकारी ली जा रही है कि उनके गांव में कोरोना की क्या स्थिति है। 
... और पढ़ें

सीतापुर: गांव के बाहर फंदे से लटकते मिले प्रेमी युगल, पुलिस के पहुंचने से पहले परिजनों ने किया अंतिम संस्कार

सीतापुर जिले की सांडा कोतवाली इलाके में शनिवार की सुबह एक प्रेमी-युगल ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली है। दोनों के शव गांव के बाहर फंदे पर लटकते मिले हैं। हालांकि, दोनों के परिजनों ने मामले की सूचना दिए बिना ही शवों का अंतिम संस्कार कर दिया है।

घटना के बाद से गांव में तरह-तरह की चर्चाओं का बाजार गर्म है। बिसवां इलाके के गांव सकरन खुर्द के निवासी एक 18 साल के युवक का गांव की ही 16 वर्ष की किशोरी के साथ प्रेम-प्रसंग चल रहा था। दोनों के बीच काफी समय से प्रेम-संबंध था।

बताया जाता है कि प्रेमी-युगल शादी करना चाह रहे थे लेकिन किशोरी के परिवार के लोगों ने उसका रिश्ता कहीं दूसरी जगह तय कर दिया था। इसकी जानकारी मिलते ही दोनों परेशान हो उठे और साथ जीने, साथ मरने का फैसला कर लिया। दोनों प्रेमी-युगल शुक्रवार से घर से चले गए थे। काफी देर तक दोनों के नहीं आने पर परिवार के लोगों ने तलाश शुरू की। तलाश के दौरान दोनों का कोई सुराग नहीं लग सका।

शनिवार सुबह गांव के लोग नित्यक्रिया के लिए गए थे, जहां पर गांव के बाहर जामुन के पेड़ में एक ही दुपट्टे से दोनों के शव लटकते मिले। इसकी सूचना उनके परिवार को दी गई। सूचना पाकर परिजन मौके पर पहुंचे।

इसके बाद शवों को उतारकर गांव लाया गया, जहां पर लोगों की मौजूदगी में दोनों के परिजनों ने एक कागज पर सुलह समझौता करते हुए पुलिस को सूचना दिए बिना ही शवों का अंतिम संस्कार कर दिया है।
... और पढ़ें

कोरोना का कहर: यूपी डीजीपी कोरोना संक्रमित, रोशन जैकब ने संभाला लखनऊ जिलाधिकारी का प्रभार

कोरोना यूपी में जमकर कहर बरपा रहा है। शनिवार को प्रदेश के डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी भी कोरोना संक्रमित हो गए। इसके बाद उन्होंने खुद को आइसोलेट कर लिया है। वहीं, लखनऊ जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश के संक्रमित होने के बाद आईएएस अफसर रोशन जैकब ने जिलाधिकारी लखनऊ का प्रभार संभाल लिया है। वह सचिव भूतत्व खनिकर्म व निदेशक के पद अपनी सेवाएं दे रही हैं। इसके अलावा वह स्टाम्प रजिस्ट्रेशन के महानिरीक्षक की भी जिम्मेदारी संभाल रही हैं। आईएएस जैकब 2004 बैच की सचिव स्तर की अधिकारी हैं।

इसके अलावा, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सचिव आलोक कुमार भी कोरोना की चपेट में आ गए हैं। पॉजिटिव आने के बाद उन्हें होम आइसोलेशन में भेज दिया गया है।

बता दें कि शुक्रवार को यूपी में 27,426 कोरोना के नए संक्रमित पाए गए हैं। वहीं, लखनऊ में रिकॉर्ड 6598 नए मरीज मिले हैं। जिसको देखते हुए प्रदेश में शनिवार रात आठ बजे से 35 घंटे का कर्फ्यू लगाया गया है। इस दौरान सभी जिलों में अग्निशमन विभाग स्वच्छता व सफाई का विशेष अभियान चलाकर सैनिटाइजेशन व फॉगिंग कराएगाा। यही नहीं, अगले आदेश तक पूरे प्रदेश में अब हर रविवार को साप्ताहिक बंदी रहेगी। जिन जिलों में कर्फ्यू लगाया गया है वह जारी रहेगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टीम-11 के साथ शुक्रवार को वर्चुअल बैठक में मास्क न पहनने वालों पर कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। बिना मास्क बाहर निकलने पर पहली बार एक हजार रुपये जुर्माना लिया जाएगा। दूसरी बार 10 गुना ज्यादा जुर्माना देना होगा। अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं। यही नहीं, शत प्रतिशत लोगों को मास्क पहनना व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराना सुनिश्चित करना होगा। स्थानीय स्तर पर इसकी जिम्मेदारी थानेदारों की होगी। वहीं, वरिष्ठ पुलिस अधिकारी और प्रशासनिक अफसर इसके लिए चेकिंग अभियान चलाएंगे।
... और पढ़ें

सलाम इन कोरोना वॉरियर्स को: कोई बच्चे को बुखार में तड़पता छोड़ पहुंचा वार्ड तो कोई भाई को

यूपी डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी।
एसजीपीजीआई के कोविड वार्ड में ड्यूटी करने वाले नर्सिंग कर्मियों की स्थिति भी अजीब हो गई है। एक तरफ परिवार के लोग वायरस की चपेट में है तो दूसरी तरफ उन्हें अति गंभीर मरीजों की सेवा करनी है। वे बताते हैं कि वार्ड में पहुंचने के बाद यहां भर्ती सभी मरीजों को अपना परिवार समझकर इलाज में जुट जाते हैं। किट पहनने के बाद उन्हें एक पल की फुर्सत नहीं रहती है। हालत यह है कि परिवार में किसी का बच्चा बीमार है तो किसी का भाई, जिसके बाद भी वे फोन से उसका हालचाल लेने में खुद को अच्छा महसूस करते हैं।

वार्ड में ड्यूटी कर रहे मनोज वर्मा बताते हैं कि उनके परिवार के ज्यादा लोग बीमार है। दो सदस्य कोरोना वायरस की चपेट में हैं। वायरस की चपेट में आने वालों की स्थिति के बारे में भी जानकारी नहीं मिल पा रही है, लेकिन वह इस उम्मीद के साथ वार्ड में भर्ती मरीजों के इलाज में लगे हैं कि यहां के मरीजों के ठीक होने पर उनके भी परिजनों को दूसरे लोग ठीक कर देंगे।

वार्ड में ड्यूटी कर रही पूनम बताती हैं कि बच्चे की तबीयत खराब होने के बाद भी वह पूरी शिद्दत से मरीजों की सेवा में लगी हुई है। गंभीर मरीज को ही अपना माता-पिता मानकर वह सेवा कर रही है। क्योंकि नर्सिंग का उद्देश्य की सेवा है। यहां से ठीक होने वाले लोग जब घर लौटते हैं तो उन्हें ढेर सारा आशीर्वाद देते है। जो लोग अस्पताल से ठीक होकर घर पहुंच जाते हैं तो हमें भी गर्व महसूस होता है कि मेहनत सफल रही।

नर्सिंग कर्मी पूजा बताती है कि जिस वक्त यह कोर्स किया था उसी वक्त सेवा का संकल्प लिया था। किट पहनकर वार्ड में काम करना बेहद मुश्किल होता है, लेकिन सेवा के संकल्प को पूरा करने के लिए वह पूरी तत्परता से वार्ड में जुटी हुई है। जब भी किसी मरीज की सांसे अटक ने लगती है तो उसे बचाने का हर संभव प्रयास करती हैं।

आईसीयू मैं कार्यरत प्रवीण बताते हैं कि वार्ड में पहुंचने के बाद पीपी किट पहन लिया जाता है। इसके बाद यह भूल जाते हैं कि यहां कौन भर्ती मरीज उनका परिचित है और कौन अपरिचित। सभी मरीजों की एक ही सेवा भाव से मदद करने में जुट जाते हैं। चिकित्सकों की ओर से दी गई दवाई समय पर देना और मॉनिटरिंग नियमित करते रहना कई बार मुश्किलें भी आती हैं, लेकिन हर मुश्किल को सेवा संकल्प के जरिए पूरा रहते हैं।
... और पढ़ें

मुजफ्फरनगर में तनाव: असामाजिक तत्वों ने लगाए पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे, वीडियो वायरल

मुजफ्फरनगर जिले के चंदसीना गांव में पाकिस्तान समर्थित नारे लगाए जाने का मामला सामने आया है। बुधवार रात को ट्रैक्टर से जाते समय असामाजिक तत्वों ने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाते हुए इसका वीडियो बनाया और सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया। 

घटना से गांव में तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गई, जिसकी शिकायत ग्रामीणों ने आला अधिकारियों से की। पुलिस ने दो नामजद आरोपी और 14-15 अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है।

रतनपुरी थाना पुलिस शुक्रवार को त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के सिलसिले में क्षेत्र के गांव चंदसीना पहुंची थी। ग्रामीणों ने बताया कि बुधवार रात गांव के कुछ युवकों ने ट्रैक्टर पर बैठकर गांव में घूमते हुए पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए। इतना ही नहीं बल्कि उन्होंने इसका वीडियो भी बनाया, जिसे बाद में उन्होंने ट्विटर पर अपलोड कर दिया।

इस घटना के बाद से ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है, जिससे गांव में भी तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गई है। मामले की जानकारी मिलने पर पुलिस ने तत्काल एसआई ललित कुमार की ओर से गांव निवासी शादाब व फिरोज को नामजद करने के साथ ही 14-15 अज्ञात युवकों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करते हुए आरोपियों की तलाश में दबिश दी, लेकिन वे हत्थे नहीं चढ़े। 

इंस्पेक्टर रतनपुरी विंध्याचल तिवारी ने बताया कि बुधवार रात कुछ युवकों ने इस तरह की नारेबाजी की थी, जिसकी रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। आरोपी फरार हैं और उनकी तलाश की जा रही है।
... और पढ़ें

कोरोना से दिवंगत हुए अधिवक्ताओं के परिवारों को बार देगी पांच लाख की मदद

35 घंटे की पाबंदी : गाजियाबाद-नोएडा समेत यूपी में आज रात से कर्फ्यू, उल्लंघन पर कड़ी कार्रवाई

कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप को रोकने के लिए योगी सरकार ने पूरे प्रदेश में 35 घंटे का कोरोना कर्फ्यू लगाया है। गाजियाबाद और नोएडा समेत यह कर्फ्यू आज रात आठ बजे से सोमवार सुबह सात बजे तक रहेगा। इस दौरान सभी जिलों में अग्निशमन विभाग स्वच्छता व सफाई का विशेष अभियान चलाकर सैनिटाइजेशन व फॉगिंग किया जाएगा। इस दौरान केवल आवश्यक वस्तुओं के लिए छूट होगी।

यही नहीं, पूरे प्रदेश में अब हर रविवार को साप्ताहिक बंदी रहेगी। जिन जिलों में रात का कर्फ्यू लगाया गया है, वह जारी रहेगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टीम-11 के साथ शुक्रवार को वर्चुअल बैठक में यह फैसला लिया गया। मास्क न पहनने वालों पर भी कड़ी कार्रवाई होगी। बिना मास्क के बाहर निकलने पर पहली बार में एक हजार रुपये जुर्माना लिया जाएगा। इसके बाद भी नहीं माने तो दूसरी बार 10 गुना ज्यादा जुर्माना लगेगा। शत प्रतिशत लोगों को मास्क पहनना और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराना सुनिश्चित करना होगा। 

मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने इस संबंध में निर्देश जारी कर दिए हैं। इसमें किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। स्थानीय स्तर पर थानेदारों की जिम्मेदारी होगी कि वे इसका पालन कराएं। ऐसा न होने पर संबंधित थानेदार के खिलाफ कार्रवाई भी की जाएगी। सभी पुलिस अधिकारी और प्रशासनिक अफसर खुद चेकिंग अभियान चलाएंगे।



सभी शिक्षा बोर्डों से मान्यता प्राप्त स्कूलों में परीक्षा स्थगित
प्रदेश में सभी शिक्षा बोर्ड से मान्यता प्राप्त विद्यालयों की आंतरिक और गृह परीक्षाओं को 20 मई तक स्थगित कर दिया गया है। माध्यमिक शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव अनिल कुमार ने शुक्रवार को इसका शासनादेश जारी किया।

लखनऊ में बनेगा एक हजार बेड का नया कोविड अस्पताल
कोरोना संक्रमितों के लिए लखनऊ में एक हजार बेड का नया कोविड अस्पताल बनेगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टीम-11 की बैठक में यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि यह अस्पताल डिफेंस एक्सपो आयोजन स्थल पर डीआरडीओ के सहयोग से अतिशीघ्र बनेगा। इसी तरह केजीएमयू और बलरामपुर हॉस्पिटल को 24 घंटे में डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल में परिवर्तित कर सिर्फ कोविड मरीजों का इलाज किया जाएगा।

अगले आदेश तक सभी सरकारी अस्पतालों में ओपीडी सेवाएं भी स्थगित रहेंगी। हालांकि आपातकालीन स्वास्थ्य सेवाओं पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा। ओपीडी मरीजों को टेली कंसल्टेंसी के जरिए इलाज उपलब्ध कराया जाएगा।

5000 अतिरिक्त बेड होंगे राजधानी में
दो नए डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल के संचालन से लखनऊ में लगभग 4000 बेड का विस्तार होगा। डिफेंस एक्सपो वाली जगह पर अस्पताल बन जाने के बाद कुल 5000 अतिरिक्त बेड उपलब्ध हो जाएंगे।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X