लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Agra News ›   police department increased the pension of the constable who in coma for five years in Agra

Agra: पांच साल से कोमा में चल रहे सिपाही की पेंशन चार गुना बढ़ी, कम मिली रकम का भी हुआ भुगतान

अमर उजाला ब्यूरो, आगरा Published by: मुकेश कुमार Updated Fri, 09 Dec 2022 05:00 PM IST
सार

पीड़ित सिपाही के पिता ने पुलिस कमिश्नर की अपनी पीड़ा बताई थी। इस पर कमिश्नर ने पुलिस मुख्यालय से पत्राचार किया। इसके बाद सिपाही की अशक्तता पेंशन में संशोधन किया गया। एरियर के रूप में एक लाख रुपये का भुगतान भी कर दिया गया। 

बेटे को नली से खाना देते पिता
बेटे को नली से खाना देते पिता - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन

विस्तार

गौतमबुद्ध नगर में ड्यूटी के दौरान हुए हादसे के बाद कोमा में गए आगरा के खंदौली निवासी सिपाही सागर सिंह की पेंशन को पुलिस विभाग ने चार गुना बढ़ा दिया है। पूर्व में कम मिली पेंशन के एरियर का भी भुगतान कर दिया गया है। सिपाही सागर सिंह थाना फेस 2 कमिश्नरेट (गौतमबुद्ध नगर) में तैनाती के दौरान चार सितंबर 2017 को ड्यूटी के वक्त सड़क दुर्घटना में गंभीर घायल हो गए थे। हादसे के बाद से वह कोमा में हैं। 



सिपाही के पिता विशंभर सिंह ने पुलिस कमिश्नर डॉ. प्रीतिंदर सिंह को अपनी पीड़ा बताई थी। उन्होंने बताया था कि बड़ा बेटा सागर सिंह वर्ष 2016 में पुलिस विभाग में सिपाही के पद पर भर्ती हुआ था। उसकी पहली तैनाती गौतमबुद्ध नगर के थाना फेस-दो में थी। चार सितंबर 2017 को वह बाइक पर समन तामील करने के लिए थाने से रवाना किया गया था। यू-टर्न पर एक स्कूटी से टक्कर हो गई। सागर गंभीर घायल हो गया, वह कोमा में चला गया। तब से ठीक नहीं हो सका। उसके इलाज में उनके खेत भी बिक गए। 

पहले 3090 रुपये थी पेंशन 

विशंभर सिंह ने कहा था कि विभाग ने सागर सिंह को सेवानिवृत्त करते हुए अशक्तता पेंशन के रूप में 3090 बांध दिए हैं। इलाज में खर्च हुई रकम का भुगतान भी नहीं किया गया। इससे उनका उपचार कराना मुश्किल हो रहा है। पुलिस कमिश्नर ने अपर पुलिस आयुक्त एवं अपर पुलिस उपायुक्त प्रोटॉकॉल को सिपाही की हरसंभव सहायता के लिए निर्देशित किया गया। पुलिस कमिश्नर के आदेश पर बृहस्पतिवार को अपर पुलिस उपायुक्त शिवराम यादव ने घर जाकर सिपाही का हाल जाना। 

पुलिस कमिश्नर ने मुख्यालय को भेजा था पत्र  

पुलिस कमिश्नर डॉ. प्रीतिंदर सिंह ने सिपाही की समस्या को गंभीरता से लेते हुए प्राथमिकता के आधार पर पुलिस मुख्यालय लखनऊ से पत्राचार किया गया। पत्राचार के द्वारा ज्ञात हुआ कि सिपाही की अशक्तता पेंशन तकनीकी गलती से कम चल रही थी। पुलिस कमिश्नर के पत्राचार के बाद पेंशन को सही किया गया, जिससे पेंशन में लगभग चार गुना की वृद्धि हो गई। अब प्रतिमाह लगभग 12,420 रुपये की पेंशन प्राप्त होगी। पूर्व में कम मिली पेंशन के 1,01,632 रुपये के एरियर का भी भुगतान कर दिया गया है। इसके अलावा अन्य प्रकार से मदद की जा रही है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00