लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Amethi News ›   Former minister gayatri prajapti's property details check by vigilance officials

Amethi News: पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति की संपत्तियों की हुई जांच

Lucknow Bureau लखनऊ ब्यूरो
Updated Sat, 26 Nov 2022 11:18 PM IST
17 : अमेठी : पूर्व मंत्री गायत्री के आवासों की जांच करते टीम सदस्य। -संवाद
17 : अमेठी : पूर्व मंत्री गायत्री के आवासों की जांच करते टीम सदस्य। -संवाद - फोटो : AMETHI
विज्ञापन
अमेठी। उत्तर प्रदेश शासन सतर्कता अधिष्ठान सूचना सेक्टर लखनऊ एसपी के पत्र पर डीएम की ओर से गठित टीम ने दूसरे दिन भी पूर्व खनन मंत्री की संपत्तियों की जांच की। आवास विकास कॉलोनी स्थित पूर्व मंत्री और उनके बेटों के नाम दर्ज पांच मकानों की टीम ने नापजोख कर उसका आंकलन करने में अफसर जुटे रहे। इस दौरान कॉलोनी में दिनभर कौतूहल की स्थिति बनी रही।

उत्तर प्रदेश सतर्कता अधिष्ठान अधिसूचना सेक्टर लखनऊ एसपी ने सपा सरकार में कैबिनेट मंत्री व आजीवन कारावास की सजा काट रहे गायत्री प्रसाद प्रजापति और उनके दोनों बेटों की संपत्तियों की जांच करने का आदेश दिया है। एसपी ने डीएम राकेश कुमार मिश्र को पत्र भेजकर अपने स्तर से तकनीकी व प्रशासनिक अफसरों की टीम गठित कर पूरी संपत्ति का आंकलन कर रिपोर्ट मुहैया कराने का निर्देश दिया है।

एसपी का पत्र मिलने के बाद डीएम ने टीम गठित कर पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति एवं उनके पुत्रों अनिल प्रजापति और अनुराग प्रजापति द्वारा विभिन्न स्थानों पर आवासीय भवनों का निर्माण व क्रय की गई संपत्तियों की जांच कराने की कवायद शुरू कराई। डीएम की ओर से गठित टीम ने शनिवार को आवास विकास कॉलोनी व परसावां गांव पहुंचकर आवासीय मकानों आदि की जांच की।
टीम में मौजूद राजस्व एवं पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों ने आवास विकास कॉलोनी स्थित गायत्री प्रसाद प्रजापति व उनके पुत्र अनिल प्रजापति के नाम दर्ज एक-एक आवासीय मकान तो अनुराग प्रजापति के भूखंड में स्थित तीन मकानों के अभिलेखों जांच करते हुए बाहर से ही नापजोख की।
हालांकि जब उक्त टीम आवास विकास कॉलोनी पहुंची तो सपा विधायक महराजी प्रजापति और उनके बड़े बेटे अनिल प्रजापति कहीं बाहर निकल रहे थे। उसके बाद उन्होंने अधिकारियों से बात की और निकल गए। वहीं घर में किसी के न होने से अन्य मकानों में ताला लगा था।
मकान में ताला होने के चलते टीम सदस्य बाहर से ही नापजोख कर वापस चले गए। जब तक टीम मौजूद रही कौतूहल जैसी स्थिति बनी रही। एसडीएम प्रीति तिवारी ने बताया कि टीम द्वारा आज जांच की गई है। आवासीय मकानों की नापजोख हुई है। इसके अलावा भी अन्य संपत्तियों की जांच चल रही है।
विज्ञापन
पैतृक गांव में नहीं है पूर्व मंत्री का मकान
पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति के पैतृक गांव परसांवा में जब डीएम की ओर से गठित टीम पहुंची तो पता चला कि पूर्व खनन मंत्री के नाम पैतृक गांव में कोई मकान नहीं है। जितने भूखंड में मकान बना है उसमें पूर्व मंत्री के चारों भाइयों का मकान है। पूर्व मंत्री के हिस्से की भूमि पर मकान ही नहीं बना है। उनका हिस्सा खाली पड़ा है।
पहले भी सीबीआई ने मारा था छापा
पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति के आवास विकास कॉलोनी स्थित मकान और आवास पर सीबीआई ने जून 2019 में छापा मारी था। उस दौरान पूर्व मंत्री जेल में निरुद्ध थे। सीबीआई टीम इस दौरान दस्तावेज व कंप्यूटर आदि सीज कर अपने साथ ले गई थी।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00